google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

CS प्रोफेशनल प्रोग्राम में सफलता हासिल कर रिमझिम ने लखनऊ का नाम किया रोशन


प्रयागराज, 27 फरवरी 2023 : रिमझिम शर्मा (26) ने सीएस के प्रोफेशनल प्रोग्राम में सफलता हासिल कर लखनऊ का नाम रोशन किया। रिमझिम अपनी सफलता का पूरा श्रेय अपने माता-पिता और भाई को देती हैं।शहर के इंदिरा नगर में रहने वाली रिमझिम ने 12वीं वाराणसी के सनबीम स्‍कूल और बीकॉम इग्‍नू से की है। उन्‍होंने दैनिक जागरण से खास बातचीत में कहा कि उनकी मां, पिता और भाई ने हमेशा उनका उत्साह बढ़ाया है। कभी भी निराश नहीं होने दिया। दोस्‍तों ने हौसला अफजाई करते हुए परीक्षा के लिए हमेशा मदद की।

रिमझिम के पिता एक निजी कंपनी से सीनियर मैनेजर के पद से रिटायर हुए हैं, जबकि मां अलका शर्मा गृहणी हैं। उनका छोटा भाई बैंगलोर मे इंजीनियरिंग करके वहां मल्टीनेशनल कंपनी में नौकरी करता है। रिमझिम कहती हैं कि 12वीं के बाद ही उन्‍होंने तय कर लिया था कि उनको सीएस करना है। इसके लिए इग्‍नू से बीकॉम करते हुए सीएस की तैयारी जारी रखी।

हालांकि, 12वीं पास करने के बाद वह सीएस और सीए को लेकर उलझन में थीं, लेकिन जब सीएस के बारे में जाना तो उनका रुझान इसकी ओर बढ़ा। उनका भाई हमेशा उनकी हौसला अफजाई करता रहा और बोलता था कि संयम रखो कि सीएस निकालना है। रोजाना 10 घंटे पढ़ने वाली रिमझिम कहती हैं कि उन्‍होंने सभी क्‍लास ऑनलाइन की हैं। यदि आपको खुद पर भरोसा है तो सफलता पाने से कोई नहीं रोक सकता।

पिता विष्‍णु शर्मा कहते हैं कि सीएस की परीक्षा को लेकर बेटी ने दिन—रात मेहनत की है। इस सफलता का श्रेय केवल उसे ही जाता है। उन लोगों ने तो केवल मार्गदर्शन किया। रिमझिम की मां अलका शर्मा बेटी की सफलता पर कहती हैं कि सीएस की परीक्षा के लिए बेटी ने खूब तैयारी की थी। कई बार इतनी मेहनत करते हुए देखकर चिंता भी होती थी, लेकिन सीएस के रिजल्‍ट के बाद अब पूरा परिवार खुशियों से फूला नहीं समा रहा है।

रिमझिम सीएस की ट्रेनिंग के बाद नौकरी करना चाहती हैं। बाद में खुद की प्रैक्टिस करेंगी। सीएस परीक्षा में शामिल होने वाले बच्‍चों को संदेश देते हुए रिमझिम ने कहा कि आप कितने घंटे पढ़ाई करते हैं, यह मायने नहीं रखता है। मायने यह रखता है कि जब पढ़ रहे हों, तो पूरे मन से पढ़ें। सीएस के नोट सबसे ज्‍यादा मदद करते हैं। रिवीजन के वक्‍त इनकी अहमियत पता चलती है।

0 views0 comments

Comments


bottom of page