google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

क्या होता अगर रोहिणी कोर्ट शूटआउट मामले में दिल्ली पुलिस के ये तीन कांस्टेबल हरकत में ना आते !



शुक्रवार को रोहिणी कोर्ट में कुख्यात गैंगस्टर जितेंद्र उर्फ गोगी की हत्या के मामले में दो हत्यारो को ढेर करने पर दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल के तीन कॉन्स्टेबल कुलदीप हुड्डा, संदीप और रोहित की जमकर वाहवाही हो रही है, स्पेशल सेल के इन तीनों कांस्टेबल ने अपनी जान की परवाह न करते हुए दो हत्यारों को मार गिराया तो वहीं इस दौरान कोर्ट और जजों की जान की भी हिफ़ाजत की। हालांकि पूरी वारदात में हमलावरों में गैंगस्टर जितेंद्र गोगी को निशाना बना लिया। इस पूरी वारदात को अंजाम देने वाला टिल्लू ताजपुरिया है।


ये गैंग रोहिणी कोर्ट में एक बड़ा नरसंहार करने की प्लानिंग कर रहा था , स्पेशल सेल की जांबाजी ने टिल्लू गैंग के उस मंसूबे पर पानी फेर दिया


क्या है मामला


रोहिणी कोर्ट शुक्रवार दोपहर को गोलियां की आवाजों से थर्रा उठा। रोहिणी कोर्ट रूम में जज के सामने दो हमलावरों ने पेशी के लिए आए गैंगस्टर अलीपुर, दिल्ली निवासी जितेन्द्र उफरस्त्र गोगी(30) की गोलियां मारकर हत्या कर दी। इससे कोर्ट में भगदड़ मच गई। गोगी को पेशी के लिए लाए स्पेशल सेल के कमांडो ने दोनों हमलावरों को कोर्ट रूम में ही मार गिराया। बताया जा रहा है कि कोर्ट रूप में दोनों तरफ से 30 से 35 गोलियां चलीं थीं। दोनों हमलावर वकील की पोशाक में आए थे और सुबह ही कोर्ट रूम में जाकर बैठ गए थे। जांच के दौरान मिले सीसीटीवी फुटेज में इस बात की पुष्टि हो गई है। वहीं सूत्रों का कहना है कि जितेंद्र के विरोधी टिल्लू गैंग के बदमाश को भी शुक्रवार को उससे पहले कोर्ट में पेश किया गया था। आशंका है कि अपने गैंग के बदमाश के साथ ही हमलावर वकील के ड्रेस में कोर्ट रूम में पहुंचे और इंतजार के बाद जितेंद्र को गोली मार दी।


टीम स्टेट टुडे



14 views0 comments

Comments


bottom of page