google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

RSS में महिलाओं की एंट्री! 2024 से पहले संघ का बड़ा दांव


लखनऊ, 20 सितंबर 2023 : संघ के प्रमुख पदों और विश्व हिंदू परिषद, किसान संघ, शिक्षक संघ, हिंदू जागरण मंच, विद्या भारती और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में प्रमुख पदों पर महिलाओं की नियुक्ति भी की जा सकती है.

अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले यूपी में आरएसएस की सक्रियता बढ़ गई है. आरएसएस की तैयारी यूपी में अपनी जमीन मजबूत करने की है. इसी सिलसिले में लखनऊ में संघ और बीजेपी की आठ घंटे तक मैराथन बैठक चली. बीजेपी और संघ के साथ बाकी सहयोगी संगठनों की बैठक में फैसला हुआ कि आरएसएस का फ़ोकस अब गांवों तक दलितों और महिलाओं की भागीदारी बढ़ाएगा.

संघ के सह सरकार्यवाह अरूण कुमार की अगुवाई में हुई बैठक में यह भी तय किया गया कि संघ अब हर जिले में महिला सम्मेलन करेगा. इसमें बीजेपी, विश्व हिंदू परिषद और हिंदू जागरण मंच के साथ बाकी संगठन भी सहयोग करेंगे. अभी तक संघ की व्यवस्था में महिलाओं का सीधा हस्तक्षेप नहीं है. बस राष्ट्र सेविका समिति के दरवाजे ही उनके लिए खुले हैं. संघ से जुड़े लोगों का दावा है कि अब सहयोगी संगठनों में भी प्रमुख पदों पर महिलाओं को जिम्मेदारी दी जाएगी.

महिला विरोधी होने की छवि तोड़ेगा संघ-

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर महिला विरोधी होने के आरोप लगातार लगते रहे हैं. देश में हर तरफ़ महिला आऱक्षण की चर्चा हो रही है. मोदी सरकार ने लोकसभा में इसके लिए संविधान संशोधन बिल भी पेश कर दिया है. ऐसे हालात में संघ अपनी पुरानी छवि से बाहर निकलने की तैयारी में है. सूत्रों का कहना है कि सहयोगी संगठनों के साथ हुई बैठक में तय किया गया है कि संघ अब खुद की महिला विरोधी होने की छवि तोड़ेगा.

प्रमुख पदों पर महिलाओं की नियुक्ति-

कांग्रेस समेत विपक्षी दल यह आरोप लगाते रहते हैं कि संघ की शाखाओं में सिर्फ पुरुष ही दिखाई पड़ते हैं, महिलाएं नहीं. संभव है कि आने वाले दिनों में संघ की शाखाओं में महिलाएं भी दिखाई पड़ें. संघ के प्रमुख पदों और विश्व हिंदू परिषद, किसान संघ, शिक्षक संघ, हिंदू जागरण मंच, विद्या भारती और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में प्रमुख पदों पर महिलाओं की नियुक्ति भी की जा सकती है. इसके लिए संघ ने अपने इन सभी सहयोगी संगठनों से भी कह दिया है कि वह महिलाओं की हिस्सेदारी बढ़ाएं.

बीजेपी और संघ की बैठक में सीएम योगी शामिल-

यूपी के हर जिले में आरएसएस ने महिला सम्मेलन करने का मन बनाया है. इसमें बीजेपी समेत सभी सहयोगी संगठन हिस्सेदारी करेंगे. बीजेपी और संघ की बैठक में सरकार की तरफ़ ये सीएम योगी आदित्यनाथ और दोनों डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, बृजेश पाठक शामिल हुए.

सरकार ने दिया समस्याओं को दूर करने का भरोसा-

बैठक में संघ की ओर से सहयोगी संगठनों से मिले फीड बैक को सामने रखा गया. सहयोगी संगठनों ने बताया कि विधायक और सांसद उनकी समस्याएं नहीं सुनते हैं. मंत्रियों तक भी वह अपनी बात नहीं पहुंचा पा रहे हैं. यह भी बताया गया कि छुट्टा जानवर गांव में अब भी समस्या बने हुए हैं. योगी आदित्यनाथ ने सरकार की ओर से इन समस्याओं को दूर करने का भरोसा दिया गया.

पूरे प्रदेश में बनेगा हिंदूमय माहौल-

सह सरकार्यवाह अरुण कुमार ने कहा कि सरकार और बाकी संगठनों के लोग आपस में समन्वय बनाए रखें. इसके लिए हर दो महीने पर बैठकें भी करते रहें. बैठक में यह भी तय किया गया है कि जनवरी में संभावित राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के लिए सभी संगठन मिलकर गांव-गांव तक माहौल बनाएं. विश्व हिंदू परिषद 30 सितंबर से एक अक्टूबर तक पूरे प्रदेश में शौर्य यात्राएं निकालकर गांवों तक हिंदूमय माहौल बनाएगा. बीजेपी और उसके सभी सहयोगी संगठनों को इसमें मिलकर मदद करने को कहा गया है.

1 view0 comments

Comments


bottom of page