google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

शशि थरूर बोले- कांग्रेस काफी कठिनाई में, हर प्रदेश अध्यक्ष अपने हिसाब से लें फैसला


लखनऊ, 16 अक्टूबर 2022 : अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (AICC) के अध्यक्ष पद केसोमवार को होनेवाले चुनाव मेंप्रत्याशी शशि थरूर (Shashi Tharoor) आज लखनऊ मेंथे। उत्तर प्रदेशकांग्रेस कमेटी ने इसपद के चुनावके लिए पूर्वकेन्द्रीय मंत्री मल्लिकार्जुन खड़गे (Mallikarjun Kharge) को अपना समर्थनदेने की घोषणाकी है, इसकेबाद भी थरूरमतदान के एकदिन पहले लखनऊपहुंचे और अपनेलिए वोट मांगा।लखनऊ में उन्होंनेउत्तर प्रदेश कांग्रेसकमेटी के दफतरके बाहर ठेलेपर चाय भीऔर बाटी-चोखाका भी स्वादलिया।

उत्तर प्रदेश कांग्रेसकमेटी के कार्यालयमें थरूर नेमीडिया से कहाकि कांग्रेस वर्तमानसमय में काफीसंकट के दौरसे गुजर रहीहै। पार्टी मेंकाफी कठिनाई भीहै। मैं तोखुश बेहद हूंकि लखनऊ आसका। मुझे तोयहां पर बीतेसोमवार को हीआना था लेकिनसमाजवादी पार्टी के नेतामुलायम सिंह जीके निधन कीवजह से अपनाप्रोग्राम कैंसल कर दिया।

थरूर नेइस दौरान कहाकि मैं पार्टीके राष्ट्रीय अध्यक्षपद का चुनावलड़ने के लिएक्यों खड़ा हुआआप को बतायाहूं। उन्होंने 22 वर्षसे पार्टी मेंअध्यक्ष पद काचुनाव नहीं हुआ।सब तय होजाता था। इसदौरान जब राहुलगांधी ने जबतय किया किवह अध्यक्ष पदका चुनाव नहींलड़ेंगे तो मैंनेफैसला लिया।

वरिष्ठ नेताओं नेछोड़ दी पार्टी

शशि थरूरने कहा किइन दिनों पार्टीकाफी कठिनाइयों मेंहै। हमारे कईवरिष्ठ नेता पार्टीछोड़कर चले गए।इस दौरान पार्टीपर वरिष्ठों काभी भरोसा कुछकमजोर हुआ है।उन्होंने कहा किदेश के लिएमजबूत कांग्रेस बेहदजरूरी है। यहकेवल चुनाव हीनहीं बल्कि पार्टीके भविष्य केलिए भी जरूरीहै। उन्होंने कहाकि हम दिखानाचाहते हैं किपार्टी भविष्य के लिएबदलाव को आत्मसातकर सकती है।राजीव और इंदिरागांधी की हत्याके बावजूद कांग्रेसने दिखाया किवह देश चलासकती है।

मेरी राय-हर फैसलादिल्ली से नाहो, स्वतंत्र होप्रदेश अध्यक्ष

अखिल भारतीयकांग्रेस कमेटी के फैसलोंको लेकर थरूरने कहा किकहीं पर भीविकेंद्रीकरण ना हो।सभी निर्णय दिल्लीसे ना हों।कांग्रेस का हरप्रदेश अध्यक्ष अपने हिसाबसे फैसला ले।सभी राज्य कीअपनी वरीयता तथाकाम है, वहफैसले लेने केलिए स्वतंत्र हों।उन्होंने कहा किउत्तर प्रदेश कांग्रेसकमेटी के डेलीगेट्ससे कहूंगा, मैंचाहता हूं किचुने जाने वालेपीसीसी सदस्य को विधायक, संसद और मंत्रीके मंच परजगह मिलनी चाहिए।स्क्रीनिंग कमिटी भी पीसीसीसदस्यों को सुने।

कोशिश होगी बिनाअपाइंटमेंट कार्यकर्ता अध्यक्ष सेमिल सकें

शशि थरूरने कहा किअगर मैं एआइसीसीअध्यक्ष बना तोकोशिश होगी किहफ्ते में एकदो बार कार्यकर्ताबिना अपाइंटमेंट केमुझसे मिल सकें।अपनी बात कहसकें। मुझे पताहै कि मेरेकुछ सहयोगी नेतागीरीकर रहे हैं।यह उत्तर प्रदेशमें ही नहींसभी राज्यों मेंहो रहा है।क्या आप सोनियागांधी के ऊपरभरोसा नहीं कररहे। उन्होंने तोस्पष्ट कहा किअध्यक्ष पद परउनका कोई उम्मीदवारनहीं है।

लोगों को मैंनेकिया निराश

शशि थरूरने कहा किमुझको लेकर लोगबड़ी नेतागिरि कररहे थे। लोगोंने तो इतनाभी कहा किशशि थरूर तोअपना नामंकन वापसले लेंगे औरचुनाव से भीभाग जाएंगे, लेकिनमैं यहीं हूं।उन्होंने कहा किगुप्त मतदान होगा।लोगों ने मुझसेकहा हम गुप्तमतदान के लिएतैयार हैं। हमतो आप कोही वोट देंगे।थरूर ने कहाकि यह तोकिसी को भीपता नहीं होगाकि किसने किसकोवोट दिया। जीतमेरी हो याखडग़े की। असलीजीत कांग्रेस कीजीत होनी चाहिए।लोग अगर मेरीहार से खुशहैं तो गर्वसे हार मानूंगा।अगर लोग नहींखुश हैं तोवोट करें। गांधीपरिवार के बिनाकांग्रेस पार्टी में क्याहै। अध्यक्ष उनसेजुड़ा ही होगा।कई वर्ष सेवह हमारी पार्टीमें हैं। गांधीपरिवार का आशीर्वाददोनों उम्मीदवारों परहै।

पार्टी के लोगोंको मजबूती देनाशीर्ष वरीयता

केरल केतिरुअनंतपुरम से लगातारतीसरी बार लोकसभासदस्य शशि थरूरने कहा किवहां पर मेरेजितना कार्यकाल किसीका नहीं रहाहै। अब पार्टीके संगठन केलोगों को भीमजबूती देना है।उन्होंने कहा किपार्टी के हरकार्यकर्ता की आवाजसभी तक पहुंचनाजरूरी है। अबकेरल के पार्टीकार्यकर्ताओं की आवाजउठाना जरूरी है।मैं नामांकन सेपहले सोनिया गांधीसे मिलने गयाथा। उन्होंने सहमतिदी। उन्होंने मुझेलड़नेको कहा औरयह भी बतायाकि हमारा कोईआधिकारिक प्रत्याशी नहीं होगा।गांधी परिवार चाहताहै कि लोगअपनी इच्छा सेअपना अध्यक्ष चुनें।

चुनाव कांग्रेस केलिए काफी अहम

शशि थरूरने कहा किपार्टी अध्यक्ष का यहचुनाव कांग्रेस केलिए भी अच्छाहै। अगर गांधीपरिवार चाहता है किलोग अपना अध्यक्षचुनें तो यहठीक ही है।मेरे खिलाफ खड़ेखडग़े भी कांग्रेसके पुराने कार्यकर्ताहैं। यह पार्टीके भीतर काचुनाव है औरहम एक दूसरेके विरोधी नहींहैं। हमने साथमें लोकसभा मेंकाम किया। मैंउनका नजदीकी सहयोगीरहा। उनका संसदीयअनुभव लंबा है।हमारे उनके कामका तरीका अलगहै, लेकिन हमकहीं पर भीविरोधी नहीं है।

घोषणा पत्र मेंदस अहम बिंदु

शशि थरूरने कहा किकांग्रेस अध्यक्ष पद केचुनाव के लिएमैंने अपना घोषणापत्रजारी किया है।इसके दस अहमबिंदु हैं। मेरेघोषणा पत्र कीसारी जानकारी इसवेबसाइट Shashi Tharoor.in पर उपलब्धहैं।

1 view0 comments

Commentaires


bottom of page