google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

सपा विधायक सोलंकी बनेंगे गैंग लीडर, गैंगस्टर एक्ट में केस दर्ज होने की संभावना


कानपुर, 16 दिसम्बर 2022 : सपा विधायक इरफान सोलंकी और उनके परिवार व करीबियों की मुश्किलें आने वाले दिनों में और बढ़ सकती हैं। उच्चाधिकारियों के निर्देश पर इरफान को गैंग लीडर बनाते हुए एक नया गैंग पंजीकृत करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। पुलिस इस मामले में विधि विशेषज्ञों की भी राय ले रही है। अगर सब कुछ ठीक ठाक रहा तो विधायक के खिलाफ 15 दिनों के भीतर गैंगस्टर एक्ट का मुकदमा भी दर्ज होगा।

विधायक के खिलाफ अब तक 13 मुकदमे दर्ज

डिफेंस कालोनी में महिला का प्लाट कब्जाने का प्रयास और आगजनी की घटना के बाद से इरफान और उनके करीबियों पर चार मुकदमे दर्ज हो चुके हैं। प्लाट पर कब्जे के प्रयास के बाद फर्जी आधार कार्ड से हवाई यात्रा और इसके बाद रंगदारी व बलवा आदि की धाराओं में दो और मुकदमे दर्ज हुए हैं। बांग्लादेशी नागरिक रिजवान मोहम्मद के पास से सपा विधायक के लेटर पैड पर उसे भारतीय घोषित करने का प्रमाणपत्र भी मिला है, जिसकी जांच चल रही है।

कुल मिलाकर विधायक के खिलाफ अब तक 13 मुकदमे दर्ज हो चुके हैं। पुलिस सूत्रों के मुताबिक दर्जन भर से अधिक मुकदमों की संख्या पहुंचने के बाद इरफान सोलंकी के नाम से नया गैंग पंजीकृत करने की योजना पर काम शुरू हो गया है। अधिकारियों ने इसके लिए विधि विशेषज्ञों की राय भी ली है। उन नामों को भी चिह्नित कर लिया गया है, जिन्हें गैंग सदस्य के रूप में जोड़ा जाएगा। इसके लिए हाल में दर्ज हुए मुकदमों में आरोपितों को गैंग के सदस्यों के रूप में लाने की तैयारी है। फिलहाल इस मामले में अधिकारी कुछ भी कहने से बच रहे हैं।

अब तक के मुकदमों में इनके नाम आ चुके हैं सामने

इरफान सोलंकी, रिजवान सोलंकी, इश्तियाक सोलंकी, पार्षद मन्नू रहमान, पार्षद मुर्सलीन उर्फ भोलू, नूरी शौकत, अशरफ अली उर्फ शेखू नूरी, अनवर मंसूरी, अख्तर मंसूरी, अम्मार इलाही उर्फ अली, आसिफ दलाल, शब्बर हुसैन, अब्दुल मोईन, अली।

विधायक ने दर्ज मुकदमों को बताया झूठा

सपा विधायक इरफान सोलंकी से गुरुवार को उनके अधिवक्ताओं ने जेल में मुलाकात की। अधिवक्ताओं का दावा है कि विधायक ने खुद को बेकसूर बताया है। बार एसोसिएशन के अध्यक्ष नरेश त्रिपाठी और पूर्व विधायक एडवोकेट सतीश निगम ने बताया कि वह गुरुवार को सपा विधायक से उनके खिलाफ दर्ज मुकदमों के बारे में पूछताछ करने गए थे।

विधायक ने बांग्लादेशी नागरिक प्रकरण में अपना नाम शामिल किए जाने पर विरोध जताया है। उन्होंने दावा किया है कि अखबारों में प्रकाशित खबरों में उन्होंने अपना लेटर पैड व हस्ताक्षर युक्त प्रमाणपत्र देखा है। दोनों फर्जी हैं। वह रिजवान मोहम्मद को जानते तक नहीं हैं। इसके अलावा विधायक ने अपने खिलाफ रंगदारी व बलवा की धाराओं में जाजमऊ थाने में दर्ज मुकदमे को भी झूठा बताया।

फर्जी आधार कार्ड प्रकरण में विधायक ने दावा किया कि नवंबर महीने में उन्होंने कोई हवाई यात्रा नहीं की। एयरपोर्ट पर उनकी फोटो के सवाल पर विधायक ने कहा है कि तस्वीरें पहले की हैं। पुलिस ने पूर्व की हवाई यात्राओं की तस्वीरों का प्रयोग किया है।

0 views0 comments

Comments


bottom of page