google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

लोकसभा चुनाव में केवल इन 50 सीटों पर सपा का ज्यादा फोकस


लखनऊ, 10 सितंबर 2023 : घोसी विधानसभा सीट के उपचुनाव में मिली जीत से उत्साहित सपा अब अगले वर्ष होने वाले लोकसभा चुनाव में फोकस और बढ़ाएगी। इस जीत के बाद सपा की आइएनडीआइए गठबंधन में स्थिति और मजबूत होगी, सीटों के बंटवारे में उसे और तवज्जो मिलने की उम्मीद है।

सपा ने फिलहाल यूपी की 80 लोकसभा सीटों में से 50 से अधिक सीटों पर फोकस बढ़ाया है। इनमें ज्यादातर वह सीटें हैं जिनमें वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा या बसपा ने कम मतों के अंतर से जीती थी। इनके अलावा आइएनडीआइए गठबंधन में शामिल कांग्रेस को 20 से 25 सीटें व रालोद को पांच सीटें तक मिल सकती हैं।

वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में सपा, बसपा व रालोद ने मिलकर चुनाव लड़ा था। सपा ने 37 सीटों पर चुनाव लड़ा और पांच पर विजय प्राप्त की थी। उसे 18.11 प्रतिशत मत मिले थे। बसपा ने 38 सीटों पर लड़कर 10 सीटों पर विजय पताका फहराई थी। उसे 19.42 प्रतिशत मत मिले थे।

रालोद ने तीन सीटों पर चुनाव लड़ा हालांकि उसे एक भी सीट पर सफलता नहीं मिली थी। सपा-बसपा गठबंधन ने रायबरेली में सोनिया गांधी व अमेठी में राहुल गांधी के खिलाफ प्रत्याशी नहीं उतारा था। इस बार सपा विपक्षी गठबंधन आइएनडीआइए के साथ है। वर्तमान में इस गठबंधन में बसपा शामिल नहीं है।

सपा ने 2019 के चुनाव में 37 लोकसभा सीटों में से पांच मुरादाबाद, रामपुर, संभल, मैनपुरी व आजमगढ़ में जीत दर्ज की थी। साथ ही वह 31 सीटों पर दूसरे स्थान पर रही थी।

हालांकि, बाद में रामपुर व आजमगढ़ लोकसभा सीट के उपचुनाव में सपा हार गई थी। वर्तमान में उसके पास तीन लोकसभा सीटें ही रह गईं हैं। चुनाव जीतने वाली सीटों के अलावा नंबर दो में रहने वाली सीटों के साथ ही 2019 के गठबंधन में बसपा के खाते में गईं 38 सीटों में से भी सपा कई सीटों पर 2024 के चुनाव में बड़ी तैयारी से उतरने जा रही है। वहीं, सपा ने कन्नौज लोकसभा सीट 12353, चंदौली 13959, बलिया 15519, फिरोजाबाद सीट 28781, बदायूं 18454 व कौशांबी 38722 मतों के अंतर से हारी थी। इन सीटों को इस बार जीतने के लिए सबसे अधिक जोर लगाया जा रहा है।

सपा के मुख्य प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी कहते हैं कि सपा पूरे जोश से लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी है। हमारा गठबंधन सभी 80 सीटों पर है। आइएनडीआइए गठबंधन के सहयोगियों के बीच सीटों का बंटवारा अभी तय नहीं है। फार्मूले तय होने के बाद सीटें तय हो जाएंगी।

वर्ष 2019 के चुनाव में सपा ने ये सीटें थी जीती

मुरादाबाद, रामपुर, संभल, मैनपुरी व आजमगढ़

इन सीटों पर है सर्वाधिक फोकस

सहारनपुर, कैराना, बिजनौर, नगीना, अमरोहा, मेरठ, फिरोजाबाद, बदायूं, मोहनलालगंज, सुलतानपुर, इटावा, कन्नौज, बांदा, कौशांबी, फैजाबाद, अंबेडकरनगर, श्रावस्ती, बस्ती, संतकबीर नगर, बलिया, जौनपुर, मछलीशहर, चंदौली, भदोही, राबर्ट्सगंज, एटा, हरदोई, मिश्रिख, सीतापुर, खीरी, हाथरस, आंवला, बरेली, प्रतापगढ़, अकबरपुर, जालौन, बाराबंकी, बहराइच, गोंडा, डुमरियागंज, बांसगांव, लालगंज, घोसी, सलेमपुर व गाजीपुर।

0 views0 comments

Comments


bottom of page