google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

बिगड़ैल रईस और उसकी करतूत... गरीब पिता की मदद करना चाहती थी अंकिता लेकिन मिली मौत


देहरादून, 24 सितंबर 2022 : ऋषिकेश दुनियाभर में योगनगरीके नाम सेप्रख्‍यात है।देश-विदेश सेलोग यहां शांतिकी खोज मेंआते हैं। यहांसाल भर पर्यटकोंका सैलाब उमड़ताहै, लेकिन शुक्रवारको यहां ऐसासनसनीखेज हत्‍याका मामला सामनेआया जिसने पूरेदेश को झकझोरकर रख दियाहै।

पहली नौकरीमें एक महिनाभी पूरा नहींहुआ

परिवार की आर्थिकतंगी दूर करनेके मकसद सेअंकिता पौड़ी के गांवसे ऋषिकेश आईथी। यहां वहवनन्तरा रिसॉर्ट में रिसेप्शनिस्टथी। उसे अपनीपहली नौकरी मेंएक महिना भीपूरा नहीं हुआथा कि उसकेसाथ यह अनहोनीहो गई। रिजॉर्ट का मालिकबिगड़ैल रईस पुल्कितआर्या, अंकित और सौरभउस पर गलतकाम के लिएदबाव बनाने लगे।लेकिन अंकिता नेइस बात सेइन्‍कार करदिया। जब अंकिताने इस बातकी जानकारी अपनेसाथियों को दीतो रिसॉर्ट मालिकऔर उसके दोसाथियों को यहबात ना गवारगुजरी।

18 सितंबर को इसेलेकर चारों केबीच कहासुनी हुई।इसी दौरान पुल्कितने अंकिता कोनहर में धक्‍का देदिया और पुल्कितआर्या, अंकित व सौरभमौके से फरारहो गए। रिसॉर्टके सीसीटीवी में 18 सितंबर की रातअंकिता पुल्कित, अंकित वसौरभ के साथजाते दिखी तोपुलिस ने तीनोंको हिरासत मेंलिया। आरोपितों कीगिरफ्तारी के बादमामले का खुलासाहुआ तो उत्‍तराखंड के साथपूरा देश सन्‍न होगया।

आइए पढ़तेहैं इस कालीकरतूत की खूनीदास्‍तां :

अंकिता का परिवारआर्थिक तंगी सेजूझ रहा था, लेकिन उसके पितावीरेन्‍द्र नेअंकिता को किसीचीज की कमीनहीं होने दी। अंकिताभी पिता कोसपोर्ट करने केलिए करीब एकमाह पहले 28 अगस्‍त कोवनन्‍तरा रिसॉर्टमें जॉब करनेपहुंची थी। लेकिनउसे क्‍यापता था किजहां वह अपनेसुनहरे भविष्य के सपनेबुनकर आई थी, वहां उसके साथअनहोनी हो जाएगी। अंकिता भंडारी अपनेमाता-पिता औरबड़े भाई अजयभंडारी की लाडलीथी। शायद इसलिएही जब उसनेगांव से बाहररहकर नौकरी करनेकी बात कीतो घर परसब नाराज होगए।

मगर अंकिताकी जिद केआगे उनकी एकन चली। शायहउन्‍हें भीअंकिता के आत्‍मविश्‍वास परभरोसा था, लेकिनउनकी खुशियों कोकिसी की नजरलग चुकी थी। घरसे परमिशन मिलनेके बाद अंकिताने ओएलएक्स एपपर नौकरी कीखोजबीन की।

यहां अंकिताको गंगा भोगपुरस्थित वनन्तरा रिसॉर्टमें रिसेप्शनिस्ट कीनौकरी का ऑफरमिला तो उसकीखुशी का ठिकानानहीं था। लेकिनउसे क्‍यापता था किवहां जाकर उसकाभविष्‍य नहींसुधरेगा। बल्कि वह पिताको सपोर्ट करनेका उसका सपना, सपना ही रहाजाएगा।

28 अगस्‍त 2022, दिन रविवार : वीरेन्‍द्रभंडारी अपनी लाडलीको खुद हीरिसॉर्ट में नौकरीज्‍वॉइन करानेचल दिए। रास्‍ते भरवह बेटी कोसमझाते हुए आरहे थे किमन लगाकर कामकरना। कोई परेशानीहो तो मुझेया मां कोबताना। बेटी केसपनों को पंखलगते देख पिताभी उत्‍साहितथे। लेकिन 18 सितंबरकी काली रातभंडारी परिवार की खुशियांलील गई। उसदिन वीरेंद्र नेअंकिता को ज्‍वॉइन करवाया।नौकरी पाकर अंकिताबहुत खुश थी। पिता कोभी गांव मेंसंचालित रिसॉर्ट में नौकरीमिलने पर संतोषथा। लेकिन उन्‍होंने सपने मेंभी नहीं सोचाहोगा कि उनकेजिगर का टुकड़ाहमेशा के लिएउनकी नजरों सेदूर हो जाएगा।

नौकरी ज्वाइन करनेके बाद अंकितालगातार माता-पिताके साथ फोनके संपर्क मेंरहती थी। उसनेमाता पिता कोकभी यह अहसासतक नहीं होनेदिया कि वहइनती परेशानी मेंहै। शायद अंकिताके जेहन मेंपिता की आर्थिकस्थिति का ख्‍याल आजाता होगा। तभीवह रिसॉर्ट मालिकपुल्कित आर्या, अंकित औरसौरभ की मनमानीको सह रहीथी।

शुरुआत में अंकिताकी नौकरी सहीचल रही थी।लेकिन बाद मेंरिसॉर्ट मालिक पुल्कित आर्याऔर उसके साथीअंकिता को परेशानकरने लगे। वहउस पर रिसॉर्टमें आने वालेकस्‍टमर सेसंबंध बनाने कादबाव बनाने लगे।उसने ऐसा करनेसे इन्‍कारकर दिया।

घर परवह यह बातबताने में संकोचकर रही थी।इसलिए उसने यहबात अपने दोस्‍त पुष्‍प कोफोन पर बताई।अंकिता अपनी सभीछोटी बड़ी बातेंअपने दोस्त जम्मूनिवासी पुष्प के साथशेयर करती थीं।जिस पर पुल्कितआर्या और उसेसाथी नाराज होगए थे।

18 सितंबर 2022, दिन रविवार : अंकिता कई दिनोंतक रिसॉर्ट मालिकपुल्कित आर्या और उसकेसाथियों की बातटालती रही। लेकिनरविवार की शामइसी बात कोलेकर अंकिता, पुल्‍कित, अंकितऔर सौरभ केबीच रिजॉर्ट मेंविवाद और कहासुनीहुई। तब अंकिताने रोते हुएरिजॉर्ट के एककर्मचारी को कॉलकिया और उससेअपना बैग लानेके लिए कहा। जब अंकिताने रिसार्ट छोड़करजाने की बातकही तो उन्होंनेउसकी हत्या काषड्यंत्र रचा और 18 सितंबर को रातकरीब आठ बजेपुल्‍कित, अंकितऔर सौरभ, अंकिताको लेकर ऋषिकेशलाए। अंकिता नेयहां भी उनकीबात मानने सेइन्‍कार किया।

उसने कहाकि वह रिसॉर्टमें चल रहेकामों के बारेमें अपने घरवालोंऔर परिचितों कोबता देगी। झगड़ाबढ़ने पर उसनेपुल्कित का मोबाइलनहर में फेंकदिया। इसके बादपुल्कित और अंकिताके बीच हाथापाईभी हुई। जिसकेबाद पुल्कित नेअंकिता को चीलानहर में फेंकदिया।

अंकिता लहरों सेबाहर निकलने केलिए छटपटाती रही, लेकिन वहशी हत्‍यारों का दिलतक नहीं पसीजा।तीनों अंकिता केडूबने का इंतजारकरते रहे। अंकितामदद के लिएचिल्लाई भी, लेकिनतीनों दरिंदे उसेडूबते हुए देखतेरहे। अंकिता को मारनेके बाद तीनोंआरोपित जब देररात रिसॉर्ट लौटेतो उन्होंने स्टाफको गुमराह किया।शाम को अंकिताऋषिकेश ले जातेवक्‍त स्टाफके दो कर्मचारियोंअभिनव व कुशने उन्हें देखलिया था।

इसलिए रिसार्ट आनेसे पहले प्‍लान केतहत अंकित नेशेफ मनवीर कोफोन कर चारलोगों का खानाबनाने को कहा।तीनों आरोपित रिसॉर्टके किनारे वालेदरवाजे से अंदरपहुंचे। अंकित ने अंकिताके लिए शेफसे खाना लियाव खुद हीअंकिता के कमरेमें गया, ताकिउनकी करतूत काखुलासा नह हो।

19 सितंबर 2022, दिन सोमवार : अगली सुबह पुल्‍कित वअंकित हरिद्वार जानेकी बात कहकररिसॉर्ट से चलेगए। हरिद्वार मेंपुल्‍कित नेनया मोबाइल खरीदाऔर दूसरे नंबरसे रिसॉर्ट केएक कर्मचारी कोफोन किया औरकहा कि उसकामोबाइल अंकिता के कमरेमें रह गयाहै, जाकर लेआए। ऐसा इसलिएताकी प्‍लानिंगके तहत कर्मचारीके द्वारा यहपता चले किअंकिता रिसॉर्ट में नहींहै। इसके बादतीनों ने पटवारीचौकी पहुंचकर अंकिताकी गुमशुदगी दर्जकराई। 18 सितंबर की सायंसे अंकिता कामोबाइल स्विच आफ आरहा था। जिसकेबाद 19 सितंबर को हीअंकिता की रहस्यमयगुमशुदगी की बातभी सबसे पहलेअंकिता के दोस्‍त पुष्पने ही उनकेस्वजन को दी।इसके बाद पुष्पखुद 23 सितंबर तक अंकिताके स्वजन केसाथ छानबीन मेंजुटा रहा।

21 सितंबर 2022, दिन बुधवार : बैराज चीला मार्गपर राजस्व क्षेत्रगंगा भोगपुर मेंस्थित एक रिसार्टकी महिला रिसेप्शनिस्टके रहस्यमय परिस्थितियोंमें लापता होनेका राज्य महिलाआयोग की अध्यक्षकुसुम कंडवाल नेसंज्ञान लिया।

अध्यक्ष ने पौड़ीगढ़वाल के जिलाधिकारीऔर एसएसपी कोमामले की जांचराजस्व पुलिस के बजायसिविल पुलिस सेकराने के लिएनिर्देशित किया। मामले मेंयुवती के पिताने रिसॉर्ट केमालिक, प्रबंधक और एककर्मचारी पर संदेहव्यक्त किया था।

22 सितंबर 2022, दिन गुरुवार : अंकिता की गुमशुदगीमें पुलिस नेरिसॉर्ट पर तालाजड़ दिया औरवहां मौजूद छहकर्मचारियों को पूछताछके लिए हिरासतमें लिया। संदिग्‍ध माननेके बाद राजस्वपुलिस से यहमामला नागरिक पुलिसमें ट्रांसफर करदिया गया है।वहीं गुमशुदगी दर्जकराने वाला रिसॉर्टमालिक तथा मैनेजरअभी तक पुलिसके सामने नहींआए।

23 सितंबर 2022, दिन शुक्रवार : शुक्रवार को रिसॉर्टके मालिक पुल्कितआर्या, सौरभ औरअंकित को हिरासतमें लेकर पूछताछकी तो तीनोंने अपनी कालीकरतूत की दास्‍तां सुनाईऔर उनकी दरिंदगीसुन पुलिस तकसन्‍न रहगई।

शुक्रवार की सुबहजब पुलिस नेअंकिता की हत्याका पर्दाफाश कियातो स्वजन कीबाकी उम्मीदें भीधराशाही हो गई।पूरे प्रदेश मेंधरने प्रदर्शन होनेलगे। अंकिता कोइंसाफ दिलाने कीमांग को लेकरइंटरनेट मीडिया पर जस्टिसफॉर अंकिता कैंपेनचलाया गया।

मामला बढ़ते देखमुख्‍यमंत्री पुष्‍कर सिंहधामी भी आगेआए और दोषियोंपर कड़ी कार्रवाईकरने की बादकी। देर रातकरीब एक बजेरिसॉर्ट पर बुल्‍डोजर चलाकरतोड़फोड़ की गई।तीन बजे दोबारारिसॉर्ट पर बुल्‍डोजर गरजा।

24 सितंबर 2022, दिन शनिवार : शनिवार को चीलाबैराज से अंकिताका शव बरामदहुआ। जिसके बादमृतका के पिताऔर भाई नेशव की शिनाख्‍त की।शव को एम्‍स ऋषिकेशले जाया गयाऔर शाम चारबजे पोस्‍टमार्टमके बाद शवस्‍वजनों कोसौंप दिया गया।

वहीं मुख्‍यमंत्री पुष्‍करसिंह धामी नेमामले की जांचके लिए एसआइटीके गठन कीआदेश जारी किए।मुख्‍य आरोपितपुल्कित के पिताविनोद आर्या औरभाई अंकित आर्याको भाजपा केनिष्‍कासित करदिया गया।

शनिवार को गुस्‍साएं लोगोंने एम्‍सपहुंची स्‍थानीयविधायक रेनू बिष्‍ट काविरोध जताया औरउनकी गाड़ी मेंतोड़फोड़ कर दी।वहीं कुछ लोगोंने वनन्‍तरामें आग लगादी। हालांकि समयरहते आग परकाबू पा लियागया।

दोपहर बाद मुख्यमंत्रीपुष्कर सिंह धामीने बयान जारीकर कहा किअंकिता हत्याकांड में जोभी शामिल होगाउसके खिलाफ कार्यवाहीहोगी। मामले कीफोरेंसिक जांच भीहोगी।

3 views0 comments

Comentários


bottom of page