google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

STF ने कस्टम कमिश्नर से की पूछताछ, अब्बास के खिलाफ शस्त्र लाइसेंस के दुरुपयोग का केस


लखनऊ, 5 मार्च 2023 : माफिया मुख्तार अंसारी के विधायक पुत्र अब्बास अंसारी की मुश्किलें बढ़ने के साथ ही उसके मददगार रहे अधिकारियों पर भी शिकंजा कसने लगा है। एक शस्त्र लाइसेंस पर कई घातक असलहे खरीदने के मामले में एसटीएफ की जांच के कदम बढ़ रहे हैं। इसी कड़ी में एसटीएफ ने दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट में तैनात रहे कस्टम के तत्कालीन असिस्टेंट कमिश्नर विद्याधर बी.पचौरे से लंबी पूछताछ की है।

अब्बास के विदेश से लाए गए असलहों व उन्हें दी गई क्लीयरेंस को लेकर पूछताछ के साथ ही उनके बयान दर्ज किए गए। सूत्रों का कहना है कि वह कई सवालों के उत्तर नहीं दे सके और अपनी जिम्मेदारी से बचते रहे। एसटीएफ जल्द कुछ अन्य कस्टम अधिकारियों से भी पूछताछ की तैयारी कर रही है। एसटीएफ ने इस मामले में दिल्ली पुलिस के दो पूर्व एसीपी को भी पूछताछ के लिए नोटिस दिया है। हालांकि इस मामले में दिल्ली पुलिस जांच एजेंसी का अपेक्षित सहयोग नहीं कर रही हैं।

एसटीएफ दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों से भी करेगी पूछताछ

इसे लेकर दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों को पत्र भी भेजा गया है। शस्त्र लाइसेंस के दुरुपयोग के मामले में आरोपित अब्बास अंसारी के विरुद्ध कोर्ट में आरोपपत्र दाखिल किया जा चुका है। एसटीएफ अब अब दिल्ली पुलिस, लखनऊ जिला प्रशासन, नेशनल राइफल एसोसिएशन व कस्टम अधिकारियों की भूमिका की जांच कर रही है। निशानेबाज अब्बास अंसारी विदेश से प्रतिबंधित बोर के चार असलहे लाया था। अब्बास ने उत्तर प्रदेश में बना अपना शस्त्र लाइेंसस वर्ष 2015 में बड़ी आसानी से दिल्ली के पते पर ट्रांसफर करा लिया था।

अब्बास अंसारी के शस्त्र लाइसेंस को दिल्ली के पते पर रजिस्टर्ड कराया गया था

अब्बास ने दिल्ली में एक कमरा किराये पर लिया था और उस पते पर शस्त्र लाइसेंस ट्रांसफर करा लिया था। एसटीएफ की जांच में सामने आया था कि दिल्ली पुलिस ने उत्तर प्रदेश पुलिस से वैरीफिकेशन रिपोर्ट तो मांगी थी, लेकिन वह रिपोर्ट मिलने से पहले ही अब्बास अंसारी के शस्त्र लाइसेंस को दिल्ली के पते पर रजिस्टर्ड कर दिया गया था। वर्ष 2016 में अब्बास विदेश से अपने पर्सनल बैगेज में विदेश से जो शस्त्र लाया था, उन्हें रिलीज करने में कस्टम अधिकारियों की भूमिका की जांच हो रही है।

एसटीएफ कर रही अब्बास अंसारी के विरुद्ध शस्त्र लाइसेंस के दुरुपयोग के मामले की जांच

निशानेबाज के तौर पर अब्बास ने खिलाड़ी कोटे का दुरुपयोग किया था और घातक हथियार लाया था। एसटीएफ अब्बास अंसारी के विरुद्ध शस्त्र लाइसेंस के दुरुपयोग के मामले की जांच कर रही है, जिसके तहत ही बीते दिनों अब्बास को एयरपोर्ट पर क्लीयरेंस देने वाले कस्टम अधिकारी कुलदीप से पूछताछ की गई थी। वहीं दिल्ली पुलिस के अधिकारियों से अब्बास को अलग-अलग बोर के कारतूस जारी किए जाने को लेकर भी पूछताछ की जानीं है।

स्लोवेनिया से लाया था घातक असलहे

अब्बास स्लोवेनिया से जो असलहे लाया था, उनमें 9.52 एमएम बोर की राइफल, 11.63 एमएम बोर की राइफल व 10.16 बोर की पिस्टल प्रतिबंधित थी। इन असलहों को नियम विरुद्ध लाया गया था। इसके अलावा अब्बास ने विदेश से लाई गई 30.06 बोर की एक राइफल दिल्ली स्थित शस्त्र की दुकान में जमा करा दी थी, जिसे जांच के दौरान एसटीएफ ने अपनी कस्टडी में ले लिया था। अब्बास के एक लाइसेंस पर आठ असलहे खरीदे जाने की बात सामने आ चुकी है।

8 views0 comments

Комментарии


bottom of page