google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

वो क्या बात थी कि लखनऊ में Arvind Kejriwal को स्वाती मालीवाल पर सवाल थप्पड़ सा लगा! जानिए अंदरखाने का गणित!! 

  



स्वाती मालीवाल के साथ अपने ही घर पर हुई अभद्रता पर अरविंद केजरीवाल को जवाब देते नहीं बन रहा। प्रचार के लिए लखनऊ पहुंचे अरविंद केजरीवाल से जब मालीवाल पर सवाल पूछा गया तो केजरीवाल का चेहरा देखने लायक था। ऐसा लगा मानों किसी ने दो थप्पड़ जड़ दिए हों।

 

स्वाति मालीवाल विवाद ज्यादा तेजी के साथ उभर कर सामने आ रहा है। केजरीवाल का बिभव कुमार पर कोई कार्रवाई करने की बजाय उसे अपने साथ लेकर घूमना भी आम आदमी पार्टी के लिए नई परेशानी का कारण बन रहा है। इससे लोकसभा चुनावों के ठीक बीच आम आदमी पार्टी की परेशानियां बढ़ गई हैं।

 

रुवार को जब अरविंद केजरीवाल लखनऊ में सपा नेता अखिलेश यादव के साथ प्रेस कांफ्रेंस कर एक बड़ा राजनीतिक संदेश देने की कोशिश कर रहे थे, पूरे प्रेस कांफ्रेंस पर स्वाति मालीवाल विवाद भारी पड़ गया। आम आदमी पार्टी नेता से स्वाति मालीवाल विवाद पर अब तक कोई कार्रवाई न करने पर प्रश्न पूछे गए। अरविंद केजरीवाल ने इस विषय पर कोई जवाब नहीं दिया। हालांकि, संजय सिंह ने आम आदमी पार्टी को एक परिवार बताकर एक बार फिर यह बताने की कोशिश की कि स्वाति मालीवाल विवाद उनकी पार्टी का आंतरिक मामला है और इसका समाधान खोज लिया जाएगा। लेकिन पूरी प्रेस कांफ्रेंस पर स्वाति मालीवाल विवाद जिस तरह भारी पड़ा, उससे केजरीवाल का वह संदेश पीछे छूट गया जो वे देना चाहते थे।

 

स्वाति मालीवाल विवाद होने के बाद संजय सिंह ने एक प्रेस कांफ्रेंस कर कहा था कि अरविंद केजरीवाल ने इस मामले को बहुत गंभीरता से लिया है। वे इस मामले में जल्द ही कड़ी कार्रवाई करेंगे। लेकिन आज 16 मई को जब अरविंद केजरीवाल लखनऊ में प्रेस कांफ्रेंस के लिए पहुंचे, उनके साथ स्वाति के साथ हिंसा करने के आरोपी बिभव कुमार दिखाई पड़े। इससे लोगों का पूरा ध्यान उन्हीं की ओर चला गया।

हांलांकि सवालों के जवाब में केजरीवाल खामोश नजर आए। प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान जब यह मुद्दा उठाया गया, तो अखिलेश यादव ने यह कहते हुए सवाल को टाल दिया कि "इससे ज़्यादा महत्वपूर्ण दूसरे मुद्दे भी हैं।

 

क्या है अंदरखाने चर्चा


असल में अरविंद केजरीवाल दिल्ली शराब घोटाला मामले में बेल पर जेल से बाहर हैं। 2 जून को उन्हें वापस सरेंडर करना है। ऐसा सुप्रीम कोर्ट ने अपने जमानत देते वक्त कहा था। हांलाकि सुप्रीम कोर्ट के इस जजमेंट पर भी देश में काफी चर्चा चल रही है जो सुप्रीम कोर्ट के जज की समझबूझ के अलावा “करप्शन इन ज्यूडिशयरी” पर केंद्रित है।


सूत्र बता रहे हैं कि अंदरखाने चर्चा इस बात की है कि अरविंद केजरीवाल का केस लड़ने वाले वकील अभिषेक मनु सिंघवी चाहते हैं कि केजरीवाल उन्हें राज्यसभा भेज दें। बदले में सिंघवी केजरीवाल का केस मैनेज कराएंगें। आपको बताते चलें कि अभिषेक मनु सिंघवी वही वकील हैं जिनकी आपत्तिजनक बेडरुम सीडी लीक हो गई थी जिसमें वो एक महिला वकील को जज बनाने की डील को परवान चढा रहे थे। सीडी बाहर आने पर कुछ समय तक कांग्रेस ने उन्हें पार्टी से किनारे भी कर दिया था लेकिन कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व पर जिस तरह के केस लदे हैं उसके चलते वो घटनाक्रम भी मैनेज हो गया। राज्यसभा का कार्यकाल खत्म होने पर कांग्रेस ने सिंघवी को हरियाणा से राज्यसभा का टिकट दिया था लेकिन सिंघवी हार गए। एक वकील के साथ-साथ सांसद का ओहदा सिंघवी जैसे वकीलों को प्रतिष्ठा, प्रिवलेज के साथ अन्य फायदे भी देता है।


ऐसी स्थिति में केजरीवाल चाहते हैं कि मालीवाल राज्यसभा से इस्तीफा दे दें और बदले में सिंघवी को आम आदमी पार्टी का तरफ से राज्यसभा भेज दिया जाए। बिल्कुल वैसे ही जैसे आजम खान के मामले में समाजवादी पार्टी ने कपिल सिब्बल को राज्यसभा पहुंचा दिया।  


स्वाती मालीवाल ने पुलिस में दर्ज कराई लिखित शिकायत


आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल ने आखिरकार गुरुवार को तीन दिन बाद सीएम आवास पर अरविंद केजरीवाल के निजी सचिव बिभव कुमार के द्वारा की गई बदसलूकी के मामले में लिखित शिकायत दर्ज करवाई। दिल्ली पुलिस की एक टीम स्वाति के घर पहुंची और उनका बयान दर्ज किया। करीब चार घंटे उनके आवास पर रही पुलिस टीम में स्पेशल सेल के अतिरिक्त आयुक्त पीएस कुशवाहा के अलावा उत्तरी जिला की अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त अंजीथा चेपयाला मौजूद थीं।


स्वाति ने एक्स पर इस बात की पुष्टि करते हुए लिखा, मेरे साथ जो हुआ वो बहुत बुरा था। मेरे साथ हुई घटना पर मैंने पुलिस को अपना स्टेटमेंट दिया है। मुझे आशा है कि उचित कार्यवाही होगी। पिछले दिन मेरे लिए बहुत कठिन रहे हैं। जिन लोगों ने प्रार्थना की उनका धन्यवाद करती हूं। जिन लोगों ने चरित्र हनन करने की कोशिश की, ये बोला की दूसरी पार्टी के इशारे पर कर रही है, भगवान उन्हें भी खुश रखे। देश में अहम चुनाव चल रहा है, स्वाति मालीवाल ज़रूरी नहीं है, देश के मुद्दे ज़रूरी हैं। बीजेपी वालों से खास गुजारिश है इस घटना पे राजनीति न करें।'


स्वाति के साथ सीएम आवास पर क्या हुआ था


13 मई को सीएम अरविंद केजरीवाल से मिलने पहुंचीं स्वाति मालीवाल के साथ सीएम आवास पर विभव कुमार ने मारपीट व बदसलूकी की थी, जिसके बाद स्वाति ने सीएम आवास से ही पीसीआर कॉल पुलिस को खबर दी थी। बाद में वह पुलिस थाने भी पहुंची थीं, लेकिन वह बिना शिकायत दिए ही वहां से निकल गईं।

65 views0 comments

Comentários


bottom of page