google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

BJP सरकार आने के बाद कश्मीर में आतंकवाद और पूर्वोत्तर में उग्रवाद में कमी-शाह


नागपुर, 18 फरवरी 2023 : केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि देश में नरेंद्र मोदी की सरकार आने के बाद कश्मीर में आतंकवाद से हिंसा, पूर्वोत्तर में उग्रवाद में 80 प्रतिशत की कमी दर्ज की गई है। उन्होंने इस बात पर जोर देते हुए कहा कि पीएम मोदी का दृष्टिकोण भारत को दुनिया में शीर्ष पर देखना है। उन्होंने कहा, "पहले देश को कश्मीर, पूर्वोत्तर और वामपंथी उग्रवाद के मामले में आंतरिक सुरक्षा जैसे चुनौतियों का सामना करना पड़ता था। लेकिन आज मैं कह सकता हूं कि मोदी सरकार के आने के बाद कश्मीर में आतंकवाद, पूर्वोत्तर में उग्रवाद और वामपंथी उग्रवाद से हिंसा में 80 प्रतिशत तक की कमी आई है।"

आने वाले 25 सालों में भारत को शीर्ष पर पहुचाना है लक्ष्य

गृह मंत्री ने नागपुर में एक कार्यक्रम में अमृत काल के तीन बड़े उद्देश्यों की व्याख्या करते हुए कहा कि भारत की स्वतंत्रता की शताब्दी आने वाले 25 साल में समाप्त हो रही है और पहला लक्ष्य वर्तमान पीढ़ी के सामने स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदान को प्रदर्शित करना है। दूसरे उद्देश्य में कहा कि पिछले 75 साल के दौरान देश ने जो प्रगति किया है उसको सभी लोगों के सामने लाना है, जबकि तीसरा उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि भारत आने वाले 25 साल में सभी क्षेत्रों में शीर्ष पर पहुंचे।

तीन साल में कश्मीर में आए 12,000 करोड़ रुपये का निवेश

उन्होंने कहा कि कश्मीर घाटी में एक साल के दौरान करीब 1.8 लाख करोड़ से अधिक पर्यटक आए, जो एक बड़ी बात है। पिछले 70 साल के दौरान कश्मीर में करीब 12,000 करोड़ रुपये का निवेश आए हैं, जबकि मोदी सरकार के नेतृत्व में मात्र तीन साल के समय में इतने निवेश आ गए। उन्होंने कहा, "यहां सभी को हर घर में नल का पानी और बिजली की सुविधा दी गई है।

पूर्वोतर के क्षेत्र में उग्रवाद में आई बड़ी कमी

उन्होंने कहा कि इस दौरान पूर्वोतर में उग्रवाद में बड़ी कमी आई है। उन्होंने कहा, "पूर्वोत्तर के लगभग 60 प्रतिशत क्षेत्र से सशस्त्र बल (विशेष शक्तियां) अधिनियम (AFSPA) को वापस ले लिया है। पीएम मोदी का सपना भारत को दुनिया में शीर्ष पर देखना है। भारत 70 प्रतिशत आत्मनिर्भरता के साथ रक्षा उत्पादन में आत्मनिर्भर हो गया है और पीएम मोदी के नेतृत्व में देश दुनिया में एक विनिर्माण केंद्र के रूप में बदल रहा है।

हाइड्रोजन उत्पादन के क्षेत्र में दुनिया का प्रतिनिधित्व करेगा भारत

केंद्रीय गृह मंत्री ने आगे कहा कि सरकार लोगों के लिए ऐसे फैसले ले रही है, जिसका फायदा जनता को सीधे हो रहा है। उन्होंने कहा कि भारत आने वाले दो से तीन सालों के दौरान हाइड्रोजन उत्पादन के क्षेत्र में दुनिया का नेतृत्व करेगा। इसी तरह सेटेलाइट के क्षेत्र में भी भारत चार से पांच सालों के दौरान ही बहुत आगे निकल जाएगा। इस दौरान भारतीय स्टार्टअर्प भी दुनिया के सामने अपनी क्षमता दिखा रहे हैं।

3 views0 comments

Comments


bottom of page