google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

यूक्रेन में जनमत संग्रह के बीच रूस का हमला, पश्चिमी देशों ने कहा- और कड़े प्रतिबंध लगाएंगे


कीव, 24 सितंबर 2022 : पूर्व और दक्षिणयूक्रेन में जारीजनमत संग्रह केबीच रूसी सेनाने यूक्रेन केशहरों पर ताजाहमले किए हैं।बताया गया हैकि इन हमलोंमें यूक्रेन कीढांचागत सुविधाओं पर प्रहारकिया गया है।अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडनने कहा हैकि यूक्रेन मेंरूसी जनमत संग्रहएक जालसाजी हैजिसे अमेरिका कभीमान्यता नहीं देगा।जबकि रूसी राष्ट्रपतिपुतिन के हालके परमाणु हथियारके इस्तेमाल केसंकेत को पश्चिमीदेशों ने गंभीरतासे लेते हुएकहा है किरूस ने धमकीदेना बंद नकिया तो उसपर और ज्यादाकड़े प्रतिबंध लगाएजाएंगे।

रूसी सेनाने पेचनिही बांधको बनाया निशाना

ब्रिटेन के रक्षामंत्रालय ने कहाहै कि रूसीसेना ने सिवर्सक्यीडोनेट्स नदी परबने पेचेनिही बांधको निशाना बनायाहै। इससे पहलेरूसी सेना नेक्रिवी रिह नदीपर बने बांधको निशाना बनायाथा। इसके कारणनजदीकी इलाकों में बाढ़आ गई थी।

यूक्रेन में जनमतसंग्रह जारी

इस महीनेकई इलाके हाथसे निकल जानेके बाद रूसीसेना ने यूक्रेनमें नुकसान पहुंचानेवाले हमले बढ़ादिए हैं। इसबीच यूक्रेन मेंरूस के कब्जेवाले लुहांस्क, डोनेट्स, खेरसान और जपोरीजियाक्षेत्रों में जनमतसंग्रह जारी है।इसमें क्षेत्र केलोगों से रूसमें शामिल होनेके लिए रायमांगी जा रहीहै। 23 को शुरूहुआ जनमत संग्रह 27 सितंबर तक चलेगा।

लोगों को धमकारही रूसी सेना

यूक्रेन और पश्चिमीदेशों का कहनाहै कि प्रस्तावके पक्ष मेंमतदान के लिएरूसी सेना लोगोंको धमका रहीहै। यूक्रेन मेंतीन लाख आरक्षितसैनिकों की तैनातीकी घोषणा केबाद रूस केकुछ इलाकों केलोगों में बेचैनीबताई जा रहीहै।

देश छोड़करभाग रहे युवा

अपुष्ट सूत्रों केअनुसार लोग सेनामें जाने केअनिच्छुक हैं औरदेश छोड़कर भागरहे हैं। लेकिनरूसी राष्ट्रपति केकार्यालय क्रेमलिन ने ऐसीखबरों को गलतकरार देते हुएउनका खंडन कियाहै।

2 views0 comments

Comments


bottom of page