google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

आतंकियों की पनाहगाह बना यूपी, हर माड्यूल में कनेक्शन, सरकार की नाक के नीचे थे अबू बकर,आमिर,जीशान





आतंकी कनेक्शन के आरोप में बहराइच का अबु बकर गिरफ़्तार..D-कम्पनी की शाजिश नाकाम!
सीरियल ब्लास्ट से कई राज्यों को दहलाने का था बड़ा प्लान!
हालही में लखनऊ में आतंकी हुए थे गिरफ्तार
लखनऊ में मिला था ब्लास्ट का सामान


उत्तर प्रदेश आतंकियों के लिए छिपने का सबसे मुफीद ठिकाना बनता जा रहा है। राजधानी लखनऊ से लेकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश और पूर्वी उत्तर प्रदेश में लगातार आतंकियों का पकड़ा जाना इस बात की तस्दीक करता है।

ताजा घटनाक्रम में भारत नेपाल बार्डर का जिला बहराइच एक बार फिर आतंकी कनेक्शन को लेकर सुर्खियों में छा गया है। आपको बता दें कि बहराइच जिला आतंकियो का सबसे बड़ा पनाहगाह पिछले काफी अर्से से रहा है,देश के किसी कोने में जब कभी आतंकी घटनाएं सामने आई हैं,तो उसके तार कहीं न कहीं बहराइच से जरूर जुड़े रहे हैं।


पुलिसिया रिकार्ड के मुताबिक इस इलाके से बड़े पैमाने पर आतंकियो की गिरफ्तारी पिछले कई वर्षों के दौरान हो चुकी है।


ISI, लश्कर ए तैयबा, अलकायदा, सिमी, जैश ए मोहम्मद, इंडियन मुजाहिदीन, ISIS, जैसे तमाम आतंकी संगठन से जुड़े आतंकी पहले यहाँ से गिरफ्तार किये जा चुके हैं।


ताज़ा मामला थाना कैसरगंज इलाके से सामने आया है। जहाँ दिल्ली पुलिस और यूपी ATS की टीम ने अबु बकर नाम के एक शख्स को आतंकी कनेक्शन से जुड़े होने की सूचना पर गिरफ्तार किया है। दिल्ली पुलिस और ATS की टीम ने 6 सदस्यों की गिरफ्तारी की है। जिनमे अबु बकर बहराइच के कैसरगंज इलाके का रहने वाला है।


दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के मुताबिक


आतंक के खिलाफ मुहिम में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को एक बड़ी सफलता मिली है।


जिनमें आतंकी गतिविधियों को लेकर 6 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इन 6 में 2 लोग पाकिस्तान जाकर इसी साल ट्रेनिंग करके वापस आए हैं:


सुरक्षा एजेंसियों को भारत के कुछ प्रमुख शहरों में आतंकी घटनाएं किए जाने की साजिश का इनपुट मिला था,


1-जान मोहम्मद शेख, महाराष्ट्र का रहने वाला 47 साल का है।

2-ओसामा, जामिया नगर दिल्ली, 22 साल का।

3-मूलंचद एलियस लाल - 47, रायबरेली, यूपी।

4-जीशान कमर, प्रयागराज का 28 साल का।

5-मोहम्मद अबु बकर, बहराइच यूपी का रहने वाला--23 साल का है.(आज-कल दिल्ली में रह रहा था)।

6-मोहम्मद आमिर जावेद, लखनऊ रहने वाला, 31 साल का है।




दिल्ली में पाकिस्तान की बड़ी साजिश का खुलासा करते हुए एजेंसी ने जिन 6 आतंकियों को गिरफ्तार किया है। उसमें से एक अबू बकर बहराइच का रहने वाला है दिल्ली में यूपी एटीएस की गिरफ्त में आया बहराइच के थाना कैसरगंज निवासी अबू बकर के साथ जिन अन्य 5 आतंकवादियों की गिरफ्तारी हुई है उनमें से 2 आतंकी पाकिस्तान में विस्फोटक बनाने और एके-47 जैसे हथियारों की ट्रेनिंग लेकर लौटे थे।


इनके तार माफिया दाऊद इब्राहिम और पाकिस्तानी एजेंसी आईएसआई से जुड़े बताए जा रहे हैं। उत्तर प्रदेश महाराष्ट्र और दिल्ली समेत कई राज्य इस आतंकी के निशाने पर थे। अबू बकर को सिलसिलेवार ब्लास्ट की योजना बनाते हुए दिल्ली के सराय काले स्थान से गिरफ्तार किया गया है। पकड़े गए सभी आतंकी पाकिस्तानी माड्यूल पर काम कर रहे थे और दिल्ली में इनसे लगातार पूछताछ की जा रही है।


इस आतंकी माड्यूल का खुलासा करने के लिए एजेंसी ने उत्तर प्रदेश महाराष्ट्र और दिल्ली में छापेमारी की और कुल 6 लोगों को गिरफ्तार किया है। एजेंसी का दावा है कि पकड़े गए संदिग्ध आतंकवादियों के पास से बड़ी मात्रा में हथियार और विस्फोटक बरामद किए गए हैं। ये सभी आतंकी नवरात्र के अवसर पर यूपी समेत कई राज्यों को दहलाने की साजिश रच रहे थे।


हम आपको यह भी बता दें कि बहराइच जिला भारत नेपाल की खुली सीमा पर स्थित है जो कि आतंकवादियों के लिए पहले भी सुरक्षित शरणस्थली बनता रहा है। भारत नेपाल सीमा पर स्थित रुपईडीहा कस्बे से पहले भी कई आतंकवादियों की गिरफ्तारी हो चुकी है इसके साथ-साथ फखरपुर थाना क्षेत्र में भी एक आतंकवादी की गिरफ्तारी हुई थी। बहराइच शहर से पहले भी दाऊद इब्राहिम के खानसामे के गिरफ्तारी हो चुकी है और अब अंतरराष्ट्रीय सीमा पर स्थित बहराइच जिला आतंकवादियों के लिए मुफीद पनाहगाह के रूप में सेफ जोन बनता जा रहा है।


गिरफ्त में आए आतंकी कैसे पकड़े गए


दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने बताया,'सबसे पहले महाराष्ट्र के रहने वाले समीर नाम के व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया। उसे कोटा में एक ट्रेन से गिरफ्तार किया गया। 2 लोग दिल्ली में गिरफ्तार हुए। यूपी एटीएस के साथ मिलकर हमने वहां से 3 लोगों को गिरफ्तार किया|


यूपी के प्रयागराज से गिरफ्तार जीशान ने एमबीए किया हुआ है और दुबई में बतौर अकाउंटेंट काम कर चुका है लॉकडाउन के दौरान वह वापस आ गया और फिर यहां पर वह खजूर का धंधा करने लगा| लखनऊ से गिरफ्तार आमिर, जीशान का रिश्तेदार है| आमिर ने जेद्दा में कई साल बिताए हैं... आमिर मजहबी शिक्षा देता था| वहीं जान मोहम्मद पेशे से एक ड्राइवर है| जान मोहम्मद साल 2001 में असॉल्ट के एक मामले में गिरफ्तार हो चुका है|


मूलचंद उर्फ लाला एक किसान है और वह डी कंपनी के संपर्क में था| बहराइच का रहने वाला अबू बकर जेद्दा में रह चुका है लेकिन बाद में वह भारत आ गया और साल 2013 में उसने देवबंद में मदरसे में शिक्षा ली|


दिल्ली से गिरफ्तार ओसामा का परिवार ड्राई फ्रूट का काम करता है जिसकी वजह से ओसामा मिडिल ईस्ट के देशों में कई बार व्यापार के सिलसिले में जाता रहा है, जिसकी वजह से ओसामा मस्कट गया और फिर पानी के रास्ते पाकिस्तान पहुंचा| दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के मुताबिक- जीशान और ओसामा को पाकिस्तान में ट्रेनिंग के लिए इसलिए चुना गया क्योंकि दोनों न सिर्फ नौजवान थे बल्कि काफी तेज तर्रार भी हैं|


टीम स्टेट टुडे


विज्ञापन


88 views0 comments

Comments


bottom of page