google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

क्या योगी सरकार को महिला अपराध पर कांग्रेस के इन आंकड़ों से फर्क पड़ता है?



यूपी में कांग्रेस लगातार सरकार पर हमलावर है। प्रदेश में चल रहे अवैध शराब सिंडिकेट पर सरकार को घेरने के बाद अब उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने महिलाओं के प्रति बढ़ते अपराध पर भाजपा की योगी सरकार को निशाने पर लिया है। लल्लू का आरोप है कि प्रदेश में महिलाओं के साथ सामूहिक दुष्कर्म, बलात्कार व उनकी हो रही हत्याओं के बाद पुलिस आरोपियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज नहीं करती जिससे अपराधियों के हौसले चरम पर हैं।


महिलाओं के साथ जिस तरह वीभत्स और घृणित घटनाएं सामने आ रही हैं उसे सुनकर रूह कांप जाती है किंतु योगी सरकार झूठ बोलकर उन पर पर्दा डालने का पाप करती है उससे अपराधियो के हौसले लगातार बढ़ते जा रहे है। कांग्रेस व मीडिया द्वारा मामलों का संज्ञान लेने व आवाज उठाने के बाद योगी सरकार मजबूरी में रिपोर्ट दर्ज होने देती है और आरोपियों पर कार्यवाही के बजाय उनके पक्ष में बयानबाजी कर पीड़ित महिलाओं, बच्चियों के चरित्र हनन का प्रयास करती है। योगी सरकार में कानून का राज नहीं बल्कि जंगलराज कायम हो गया है।


बाबू जगजीवन राम को श्रद्धासुमन अर्पित करते अजय लल्लू
बाबू जगजीवन राम को श्रद्धासुमन अर्पित करते अजय लल्लू

मेरठ के सरधना में कोचिंग के लिये गयी 13 वर्षीय बेटी के साथ सामूहिक दुष्कर्म व जहर देकर उसको मार डालने वाले आरोपियों के विरुद्ध पांच दिन तक मुकदमा न दर्ज होने का उदाहरण देते हुए कहा योगी सरकार पूरी तरह सामूहिक दुष्कर्म, बलात्कार, हत्या जैसे घृणित अपराध के आरोपियों को संरक्षण देकर उनके हौसले बढ़ा रही है।


आगरा के एत्मादपुर में पति के सामने विवाहिता के साथ सामूहिक दुष्कर्म, 2 अप्रैल को हापुड़ में दसवीं की छात्रा के साथ बलात्कार व हत्या की घटना, झांसी में मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म व हत्या कर शव फेंकना, अलीगढ़ में 15 वर्षीय मासूम के साथ बलात्कर कर शव को रेल पटरियों पर फेंक देना, जबकि इस मामले में पुलिस आरोपियों द्वारा अपहरण करने व पांच लाख की फिरौती परिवार से मांगने की जानकारी थी इसके बाद भी कार्यवाही नही की गई। बालिका का शव मिलने व विरोध होने पर मुकदमा दर्ज हुआ। अमरोहा में अपहरण कर बलात्कार की घटना के बाद पीड़िता या उसके परिवारजन न्याय के लिये दर-दर भटकने को विवश हुए। विपक्ष व मीडिया द्वारा आवाज उठाने पर आरोपियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज हो पाया।


अजय कुमार लल्लू ने कहा कि विधानसभा में सवाल का जवाब देते हुए योगी सरकार ने स्वयं स्वीकार किया कि हर सेगमेंट में महिला उत्पीड़न, बलात्कार, सामूहिक दुष्कर्म की घटनाएं रुक नहीं रहीं।


2018 में आये एनसीआरबी के रिकार्ड को देखें तो दयनीय स्थिति स्पष्ट होती है कि उत्तर प्रदेश में महिला उत्पीड़न के कुल 59445 मामलों में 4322 अपराध सामूहिक दुष्कर्म, बलात्कार, हत्या व हत्या के प्रयास के दर्ज हुए।


2019 में एनसीआरबी के आये आंकड़े बताते है कि 2017 से 2019 तक मासूम बच्चियों के साथ हुए अपराध में पास्को एक्ट में 7444 दर्ज हुए। पूरे देश मे विगत 4 वर्षों में महिलाओं के साथ एसिड अटैक की 150 घटनाएं हुई जिसमें उत्तर प्रदेश में ही 42 घटनाएं हुईं।



कांग्रेस ने समाजवादी पार्टी को दिया झटका


समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता, पूर्व राज्यमंत्री (आवास बन्धु) एवं सपा के लखनऊ महानगर के अध्यक्ष रहे फाखिर सिद्दीकी ने अपने तमाम साथियों के साथ समाजवादी पार्टी छोड़कर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिव एवं सहप्रभारी यूपी धीरज गुर्जर के समक्ष कांग्रेस पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।


कांग्रेस में शामिल होते हुए फाखिर सिद्दीकी ने समाजवादी पार्टी पर बड़ा हमला बोला और कहा कि समाजवादी पार्टी और अखिलेश यादव मुसलमान और पिछड़ा विरोधी है। हमने पार्टी को अपने खून से सींचा था पर आज हम सब हाशिये पर हैं।


फाखिर सिद्दीकी वर्ष 2007 में लखनऊ पूर्व विधानसभा से समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी रहे एवं वर्ष 2012 में लखनऊ मध्य विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ चुके हैं। इसके साथ ही सपा के दस वर्ष महानगर अध्यक्ष रहे।


टीम स्टेट टुडे


विज्ञापन
विज्ञापन

21 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0