लॉकडाउन में कमाल जो काम 50 साल में नहीं हुआ वो 50 दिन में हो गया



हरदोई जिले में सदर तहसील से बहने वाली ये सई नदी है। नदी के दो किनारे को जोड़ने के लिए पिछले पचास साल से गांव वाले शासन, प्रशासन, सांसदों और विधायकों से गुहार लगाते रहे। लेकिन पुल नहीं बना।



फिर आया कोरोना और हो गया लाकडाउन। जिले की सदर तहसील के बर्राडाल सिंह गांव के लोगों ने इस मौके का बखूबी इस्तेमाल किया। जो काम पचास साल से नहीं हुआ वो गांव वालों की मेहनत से पचास दिन में पूरा कर लिया गया।




50 साल से पुल निर्माण का इंतजार कर रहे लोगों का सब्र टूटा तो इस कोरोनाकाल में पूरा गांव एक साथ खड़ा हो गया। किसी ने लकड़ी काटी। कोई मिट्टी लाया। कोई सीमेंट, मौरंग लाया।




पुल का ढांचा बांधने के बाद गांव वालों ने बोरियों में मैटेरियल भर भर सई नदी पर पुल तैयार कर दिया। तस्वीरों में देखिए कितनी शिद्दत से गांव वाले इस पुल को तैयार कर रहे हैं। जब पुल बन कर तैयार हुआ तो अपनी मेहनत की मजबूती देखने के लिए पूरा गांव ही इस पुल पर खड़ा हो गया।



पुल टस से मस नहीं हुआ। क्षेत्र के कुछ युवाओं की अगुवाई से सदर तहसील के वल्लीपुर गांव के मजरा बर्राडाल गांव की तस्वीर ही बदल गई। ये पुल सई नदी पर बनाया गया है


टीम स्टेट टुडे


Advt.

Advt.

19 views0 comments