google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

देवरिया हत्याकांड को लेकर सोशल मीडिया पर आक्रोश, क्या बोले सीएम योगी


देवरिया, 2 अक्टूबर 2023 : देवरिया जिला नरसंहार से थर्रा गया। जमीन का विवाद ऐसा बढ़ा कि देखते ही देखते छह लोगों की हत्या हो गई है। इन छह में से तो पांच एक ही परिवार के सदस्य हैं। सोमवार की सुबह देवरिया में एक घर से पांच लोगों की लाश निकली। ये पांचो एक ही घर के सदस्य हैं और इनका मुखिया था सत्यप्रकाश दुबे। अब ये नाम सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रहा है।

दरअसल इस पूरे विवाद की शुरुआत ही एक हत्या से हुई। जमीन को लेकर हुए इस विवाद में पहले सत्यप्रकाश दुबे ने ही की। पुलिस के अनुसार ग्राम पंचायत फतेहपुर के रहने वाले सत्य प्रकाश दुबे और प्रेमचंद यादव के बीच उनके भाई की जमीन को लेकर विवाद शुरू हुआ। प्रेमचंद जब सत्यप्रकाश दुबे के घर पहुंचे तो विवाद ऐसा बढ़ा कि इन्होंने लोगों के साथ मिलकर प्रेमचंद यादव की हत्या कर दी। सत्यप्रकाश दुबे ने ईंट से मारकर प्रेमचंद यादव को मौत के घाट उतार दिया।

घटना की जानकारी प्रेमचंद यादव के घर वालों को हुई। दूसरे टोले से ललकारते हुए प्रेमचंद यादव के घर के लोग सत्य प्रकाश दुबे के दरवाजे पर पहुंचे। सभी लोग घर में दरवाजा बंद कर छुप गए थे लेकिन आक्रोशित लोग दरवाजा तोड़कर घर के अंदर घुस गए। घर में सभी की बारी-बारी से धारदार हथियार से हमला कर हत्या कर दी। मृतकों में एक ही परिवार के पांच लोग शामिल हैं। बता दें कि प्रेमचंद यादव पूर्व जिला पंचायत सदस्य थे।

पांच लोगों को मारकर लिया प्रतिशोध

प्रेमचंद की हत्या से उनका परिवार बौखला गया। बदले की भावना से जब वह सत्यप्रकाश के घर पहुंचे तो वो अपने घर में छुप गया था, लेकिन लोगों की भीड़ ने दरवाजा तोड़ा और अंदर घुस गए। प्रेमचंद के घर वालों में बदला लेने की ऐसी भावना थी कि पांच लोगों को मौत के घाट उतार दिया। घर में सभी की बारी-बारी से धारदार हथियार से हमला कर हत्या कर दी। इसमें सत्य प्रकाश दुबे तथा उनकी पत्नी किरण दुबे एवं पुत्री सलोनी, नंदिनी के अलावा पुत्र गांधी दुबे शामिल हैं।

जमीन का था विवाद

दरअसल ये पूरा मामला जमीन विवाद का है। सत्यप्रकाश दुबे के भाई साधु दुबे ने कुछ दिन पहले अपने हिस्से की करीब 10 बीघा भूमि गांव के दूसरे टोले के रहने वाले पूर्व जिला पंचायत सदस्य प्रेमचंद यादव को बेच दी थी। भूमि बेचने के बाद वह प्रेमचंद यादव के घर रहते थे। तीन माह पहले साधु दुबे गुजरात चले गए। इसके बाद सत्यप्रकाश दुबे अपने भाई की जमीन देखने पहुंच गए और फिर यहीं से विवाद शुरू हो गया।

एक्शन में सीएम योगी

देवरिया में हुए इस खूनी संघर्ष पर अब सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक्शन के आदेश दे दिए हैं। ट्वीट करते हुए सीएम योगी ने लिखा कि जनपद देवरिया की दुर्भाग्यपूर्ण घटना अत्यंत दुःखद एवं निंदनीय है। मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिजनों के साथ हैं।एडीजी/ कमिश्नर/आईजी को मौके पर पहुंचकर कठोरतम कार्यवाही तथा जिला प्रशासन के अधिकारियों को घायलों के समुचित उपचार के निर्देश दिए हैं। इस घटना के दोषियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा।

सोशल मीडिया पर आक्रोश

देवरिया में हुए इस हत्याकांड से उत्तर प्रदेश दहल गया है। इस हत्याकांड को लेकर सोशल मीडिया पर आक्रोश देखने को मिल रहा है। लोग योगी राज में हुए इस हत्याकांड को लेकर ट्वीट कर रहे हैं।

0 views0 comments

Comments


bottom of page