google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

कौन हैं Stormy Daniels जिन्हें होटल में बुलाकर फंसे Trump


नई दिल्ली, 4 अप्रैल 2023 : अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की राष्ट्रपति चुनाव (US President Election 2024) से पहले जेल जाने तक की नौबत आ चुकी है। स्टॉर्मी डेनियल्स को अवैध तरीके से चुपके से पैसे देने (Hush Money Payments) के मामले में डोनाल्ड ट्रंप अब फंसते दिख रहे हैं।

मामले में पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति पर आपराधिक मामला चल रहा है और उनकी आज मैनहट्टन कोर्ट में पेशी भी होनी है। आखिर ट्रंप को कानून के शिकंजे में फंसाने वाली स्टॉर्मी डेनियल्स कौन हैं और उन्हें पैसे देकर पूर्व राष्ट्रपति क्यों फंसे, आइए जानें।

स्टॉर्मी डेनियल्स कौन है?

स्टॉर्मी डेनियल्स अमेरिका की एडल्ट फिल्मों में काम करने वाली पोर्न स्टार हैं। स्टॉर्मी उस समय चर्चा में आई, जब उन्होंने डोनाल्ड ट्रंप पर उनसे यौन संबंध बनाने का आरोप लगाया। पोर्न स्टार ने इस बात का खुलासा अपनी किताब 'फुल डिस्क्लोजर' में किया। बता दें कि स्टॉर्मी चार शादियां कर चुकी हैं और उनकी एक बेटी भी है। पोर्न अभिनेत्री ने अपने हाई स्कूल की पढ़ाई पूरी करने के लिए स्ट्रिप क्लबों में काम भी किया।

पोर्ट स्टार ने चुनाव लड़ने की घोषणा की थी

स्टॉर्मी डेनियल्स 2009 में अमेरिकी सीनेट चुनाव और 2010 में लुइसियाना सीनेट सीट से चुनाव लड़ने ली घोषणा कर चुकी हैं। स्टॉर्मी ने अपनी किताब में कई सारे राज खोले हैं। उन्होंने लिखा कि माता-पिता के तलाक के बाद उनको केवल मां ने पाला। स्टॉर्मी ने बताया कि 9 साल की उम्र में उनका यौन शोषण भी किया गया।

ट्रंप पर लगे ये आरोप

दरअसल, ट्रंप पर अमेरिकी पोर्न स्टार स्टॉर्मी डेनियल्स ने आरोप लगाया है कि उनके साथ पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति ने यौन संबंध बनाए थे और उन्हें चुप रहने के पैसे दिए गए। स्टॉर्मी ने आरोप लगाया कि 2006 में नेवादा में उनकी मुलाकात पहली बार डोनाल्ड ट्रंप से हुई थी और इस दौरान पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति ने उन्हें रात में रूम पर खाने के लिए बुलाया। पोर्न स्टार ने आगे बताया कि जब वे वहां गईं तो टंप ने उनके साथ संबंध बनाए और टीवी शो भी दिलाने की बात कही।

स्टॉर्मी को दिए थे पैसे

स्टॉर्मी ने अपने आरोपों से भरी ये कहानी एक अमेरिकी मैगजीन को बेच दी थी। हालांकि, दबाव के चलते मैगजीन इस कहानी को छाप नहीं सकी। इसके बाद 2016 के राष्ट्रपति चुनाव के दौरान ट्रंप की चुनावी टीम को जब इस बाद का पता लगा तो चुनाव में इस बात को पहुंचने से रोकने और ट्रंप की साख बचाने के लिए स्टॉर्मी को 1 लाख 30 हजार डॉलर का भुगतान किया गया।

ट्रंप ने इस राशि को देने के लिए अवैध तरीका अपनाया था, जिसके चलते वे फंस गए। ट्रंप ने अपनी कंपनी के रिकॉर्ड में इस भुगतान को किसी वकील को देने की बात दिखाई थी। इसके बाद मैनहट्टन ग्रैंड ज्यूरी के पास जब ये केस पहुंचा तो जांच में पता चला कि ट्रंप ने ये चीजें छुपाने के लिए रिकॉर्डों में हेराफेरी की, जिसके चलते उन्हें आरोपी बनाया गया और आज उनकी कोर्ट में पेशी होनी है।

0 views0 comments

Comments


bottom of page