google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

अखिलेश ने विधायकों के साथ डाला वोट, ब्रजेश पाठक बोले- हमें अपनी आदिवासी बहन को जिताना है


लखनऊ, 18 जुलाई 2022 : देश के 15वें राष्ट्रपति चुन के लिए यूपी के विधान भवन में मतदान शुरु हो गया है। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधान भवन के ति‍लक हाल में अपना वोट डाला। राष्ट्रपति चुनाव के मतदान के लिए भारत निर्वाचन आयोग ने केंद्र सरकार के उद्योग संवर्धन और आंतरिक व्यापार विभाग के अपर सचिव राजीव सिंह ठाकुर को प्रेक्षक नियुक्त किया गया है। विधान भवन के तिलक हाल में मतदान स्थल बनाया गया है। राष्ट्रपति के चुनाव के लिए सहायक रिटर्निंग अफसर व पीठासीन अधिकारी बृजभूषण दुबे को नियुक्त किया गया है। राष्ट्रपति चुनाव के मद्देनजर लखनऊ में विधानसभा के बाहर सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई गई है।

समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने राष्‍ट्रपति चुनाव के लिए सपा और रालोद विधायकों के साथ वोट डाला। वोट डालने से पहले अखि‍लेश यादव ने कहा कि मैं यशवंत सिन्‍हा के लिए मतदान करूंगा। देश में कोई ऐसा भी होना चाहिए जो समय समय पर देश की आर्थि‍क हालात के बारे में सरकार को बता सके। हम सभी श्रीलंका के हालात देख रहे हैं। ऐसे में हमे सोच समझकर काम करने की जरूरत है।

बसपा प्रमुख मायावती ने ट्वीट कर कहा कि बीएसपी ने दलगत राजनीति से ऊपर उठकर तथा पार्टी व मूवमेन्ट की सोच के मुताबिक ही आदिवासी समाज की महिला द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति पद के लिए सबसे पहले अपना समर्थन देने की घोषणा की। मायावती ने कमजोर वर्गों के अन्य लोगों से भी उन्हें आज अपनी अन्तरात्मा के आधार पर वोट देने की अपील की है।

राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए विधान भवन के तिलक हाल में सुबह 10 बजे से मतदान शुरू हुआ। पहला वोट मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने डाला। उनके साथ मतदान करने आए संसदीय कार्य एवं वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने भी वोट डाला। उसके बाद मतदान का सिलसिला लगातार जारी है। भाजपा, सपा, अपना दल (एस) आदि दलों के विधायक डाल रहे हैं वोट। विधान भवन के मुख्य भवन से नवीन भवन स्थित तिलक हाल की ओर जाने वाले ब्रिज पर मतदान के लिए प्रतीक्षा कर रहे विधायकों की लाइन लगी है। गन्ना मंत्री चौधरी लक्ष्मी नारायण, भाजपा विधायक राजेश्वर सिंह, शलभ मणि त्रिपाठी, सपा विधायक अभय सिंह, राकेश प्रताप सिंह मतदान के लिए लाइन में लगे हैं।

राष्ट्रपति चुनाव में वोट डालने के बाद उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने कहा कि हमें अपनी आदिवासी बहन को जिताना है। मतदान के बाद सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि राष्ट्रपति चुनाव में जीत का रास्ता यूपी की तरफ से जाता है। द्रौपदी मुर्मू की जीत में यूपी की निर्णायक भूमिका होगी।

राष्ट्रपति चुनाव के लिए राजग प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू को उत्तर प्रदेश से बड़ी जीत तय है।

भाजपा गठबंधन के 273 विधायकों के साथ ही सपा गठबंधन से बगावत कर सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर और सपा मुखिया अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल सिंह यादव ने मुर्मू को समर्थन देने की घोषणा की थी। बसपा मुखिया मायावती और जनसत्ता दल लोकतांत्रिक के अध्यक्ष रघुराज प्रताप सिंह पहले ही राजग प्रत्याशी के समर्थन में आ चुके थे। इनमें राजभर के पास छह वोट, रघुराज प्रताप सिंह के पास दो, मायावती के पास एक और शिवपाल के पास भी अपना अकेला वोट है।

इस तरह कुल 281 विधायकों के अलावा भाजपा के 64 लोकसभा व 25 राज्यसभा सदस्यों और बसपा के 10 लोकसभा व एक राज्यसभा सदस्य का वोट राजग प्रत्याशी को मिलना तय है। आबादी के गणित से उत्तर प्रदेश के विधायकों का मूल्य सर्वाधिक 208 है, जबकि प्रति सांसद मत मूल्य 700 है। इस तरह मुर्मू यूपी से तो यशवंत सिन्हा को काफी पीछे छोड़ रही हैं। फिर भी हर चुनाव को बेहद गंभीरता से लड़ने वाली भाजपा की मंशा है कि राष्ट्रपति चुनाव में भी एक भी वोट खराब न हो। वहीं, मुख्यमंत्री ने 'पूरा वोट, सही वोट' का मंत्र दिया। कहा कि उत्तर प्रदेश के विधायकों का मत मूल्य सबसे अधिक है। हर हाल में सभी विधायक वोट डालें और सही डालें। किसी प्रकार की गलती न हो, ताकि राजग प्रत्याशी को जिताने में यूपी अपनी मजबूत भूमिका निभा सके।

0 views0 comments