google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

दिल्ली का दरबार हो या दफ्तर बिना यूपी सब सूना - लोकतंत्र के बगीचे का नया 'माली' उत्तर प्रदेश से है !



दिल्ली का दरबार हो या दफ्तर बिना उत्तर प्रदेश के पूरा नहीं पड़ता। उत्तर प्रदेश कैडर के सेवानिवृत आईएएस अधिकारी अनूप चंद्र पाण्डेय ने चुनाव आयुक्त का कार्यभार संभाला लिया है। महामहिम राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द ने पाण्डेय के नाम पर मंगलवार को ही मुहर लगाते हुए आदेश जारी किए थे।


अनूप चंद्र पाण्डेय 1984 बैच के आईएएस अफसर रहे हैं, साथ ही उन्हें 37 साल की भारतीय प्रशासनिक सेवा का अनुभव है।


उत्तर प्रदेश में अगस्त 2019 तक मुख्य सचिव के पद पर आसीन रहे अनूप चंद्र पाण्डेय फिलहाल एनजीटी में यूपी निगरानी समिति के मौजूदा सदस्य भी हैं।


वह 2018 में उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव बने थे। इससे पहले वह औद्योगिक उत्पादन आयुक्त, प्रमुख सचिव वित्त तथा अन्य बड़े पद पर रहे।



अनूप चंद्र पाण्डेय का जन्म 15 फरवरी 1959 को पंजाब के चंडीगढ़ में इनका जन्म हुआ था।


उन्होंने मैकेनिकल इंजीनियरिंग में बैचलर की डिग्री हासिल की है।


उन्होंने मैटेरियल मैनेजमेंट में एमबीए की उपाधि भी प्राप्त की है।



मुख्य निर्वाचन आयुक्त के रूप में सुनील अरोड़ा का कार्यकाल 12 अप्रैल को पूरा हो गया था। इसके बाद से निर्वाचन आयुक्त का एक पद रिक्त था। सुशील चंद्रा सीईसी हैं, जबकि राजीव कुमार अन्य निर्वाचन आयुक्त हैं।


कानून मंत्रालय ने दी थी नियुक्ति की जानकारी


कानून मंत्रालय के विधायी विभाग ने बताया था कि राष्ट्रपति ने 1984 बैच के सेवानिवृत्त भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के अधिकारी पांडेय को निर्वाचन आयुक्त नियुक्त किया है।


टीम स्टेट टुडे


विज्ञापन
विज्ञापन

33 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0