google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

UP के टॉप माफियाओं में शामिल राकेश को छोड़ अन्य पर नहीं हुई प्रभावी कार्रवाई


गोरखपुर, 06 अक्टूबर 2023 : प्रदेश के टाप 61 माफिया की सूची में शामिल राकेश यादव को छोड़ किसी के विरुद्ध पुलिस ने अभी तक प्रभावी कार्रवाई नहीं की। गोरखपुर जिले का रहने वाला एक लाख रुपये का इनामी माफिया विनोद उपाध्याय चार माह से पुलिस व एटीएफ को छका रहा है। डीजीपी कार्यालय ने इस पर नाराजगी जताते हुए चिह्नित माफिया व उसके सहयोगियों पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

यह हैं टॉप- 10 लिस्ट में शामिल बदमाश

जिले के टाप 10 में शामिल विनोद उपाध्याय, राजन तिवारी, राकेश यादव व देवरिया के रहने वाले पूर्व एमएलसी संजीव द्विवेदी उर्फ रामू प्रदेश के 61 माफिया की सूची में भी शामिल हैं। इनके विरुद्ध होने वाली कार्रवाई की मानीटरिंग डीजीपी कार्यालय से होती है। जिले के पुलिस अधिकारी हर सप्ताह रिपोर्ट बनाकर भेजते हैं कि माफिया व उसके सहयोगियों पर क्या कार्रवाई हुई।

इन लोगों को सजा दिलाने के लिए क्या प्रयास हुए। कितने गवाह व पुलिसकर्मियों की गवाही हुई और मुकदमे की क्या स्थिति है। पिछले सप्ताह भेजी रिपोर्ट में राकेश यादव को छोड़ किसी माफिया के विरुद्ध कोई प्रभावी कार्रवाई नहीं हुई। फरार चल रहे माफिया विनोद उपाध्याय पर एडीजी जोन अखिल कुमार ने एक लाख रुपये इनाम घोषित किया है।

प्रदेश के केवल इन माफिया पर हुई प्रभावी कार्रवाई

सहारनुपर के रहने वाले माफिया इकबाल बाला, प्रतापगढ़ के गुलशन यादव, छविनाथ यादव, मनोज तिवारी, मऊ के पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी, गोरखपुर के राकेश यादव, प्रयागराज के अतीक अहमद के सहयोगियों, गणेश यादव के विरुद्ध ही पुलिस ने प्रभावी कार्रवाई की है। डीआइजी कानून-व्यवस्था एलआर कुमार ने जिस जिले में माफिया के विरुद्ध प्रभावी कार्रवाई नहीं हुई है वहां के पुलिस कप्तान को पत्र लिख नई कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिए हैं।

जेल से बाहर हैं जिले के अधिकांश माफिया

माफिया संख्या जेल जमानत

आपराधिक 27 05 21

भू-माफिया 05 00 05

खनन माफिया 03 00 03

वन माफिया 04 00 04

शराब माफिया 16 01 15

पशु माफिया 04 00 04

क्या कहते हैं अधिकारी

एडीजी जोन अखिल कुमार ने बताया कि प्रदेश स्तर पर चिह्नित माफिया व उनके सहयोगियों पर प्रभावी कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं। अधिकांश के विरुद्ध गैंगस्टर की कार्रवाई कर उनकी संपत्ति को जब्त कराया जा चुका है। सहयोगियों व मददगारों पर निरोधात्मक कार्रवाई करने के साथ ही फरार चल रहे बदमाशों काे गिरफ्तार करने के लिए नए सिरे से अभियान चलेगा।

0 views0 comments

Comments


bottom of page