google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

आर्यन खान मामला: शाहरुख और वानखेड़े की चैट का हुआ खुलासा


नई दिल्ली, 19 मई 2003 : IRS अधिकारी समीर वानखेड़े ने 2021 में शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान की गिरफ्तारी के संबंध में कथित ₹25 करोड़ जबरन वसूली मामले में शुक्रवार को बॉम्बे उच्च न्यायालय का रुख किया।

समीर वानखेड़े ने कहा है कि मेरे ऊपर पहले भी भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे और उस वक्त मुंबई पुलिस ने इसकी जांच की थी और मेरे खिलाफ कोई सबूत नहीं मिला था। CBI के आरोपों पर भी कुछ नहीं मिलेगा। समीर वानखेड़े ने कोर्ट में व्हाट्सएप चैट की जानकारी दी है। वानखेड़े ने अपनी अपील में कहा कि उनके खिलाफ CBI की कार्रवाई बदले की कार्रवाई है। दोपहर 2.30 बजे तत्काल सुनवाई की अनुमति दी गई है।

दिल्ली उच्च न्यायालय द्वारा 22 मई तक गिरफ्तारी से संरक्षण दिए जाने के बाद गुरुवार को NCB के मुंबई क्षेत्र के पूर्व प्रमुख CBI के समन में शामिल नहीं हुए। दिल्ली उच्च न्यायालय ने 17 मई को समीर वानखेड़े को और राहत के लिए बंबई उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाने की छूट दी थी। दिल्ली उच्च न्यायालय में, उन्होंने NCB के उप महानिदेशक ज्ञानेश्वर सिंह के खिलाफ एक क्रॉस-FIR की भी मांग की।

CBI के सामने पेश नहीं हुए थे वानखेड़े

पूर्व एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े गुरुवार को सीबीआई के सामने पूछताछ के लिए पेश नहीं हुए। वानखेड़े और अन्य पर 2021 के कार्डेलिया क्रूज ड्रग मामले में आर्यन खान को बचाने के नाम पर शाहरुख खान से कथित तौर पर 25 करोड़ रुपये की घूस मांगने का आरोप है।

हालांकि, पर्याप्त सुबूतों के अभाव में एनसीबी ने आरोप पत्र में आर्यन खान का नाम शामिल नहीं किया था। वहीं, वानखेड़े ने गुरुवार को जांच के दौरान अपमानित और प्रताड़ित करने का आरोप लगाया।

सूत्रों के अनुसार, गृह मंत्रालय द्वारा कराई गई NCB जांच के आधार पर वानखेड़े समेत अन्य 4 पर कथित तौर पर शाहरुख खान से घूस मांगने के आरोप में FIR दर्ज की गई थी। इसके बाद वानखेड़े ने पहले गुरुवार को एजेंसी के सामने पेश होने की पेशकश की थी। अधिकारियों ने बताया कि गुरुवार को पूछताछ के लिए वानखेड़े उपस्थित नहीं हुए।

0 views0 comments

Comments


bottom of page