google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

भारत के दो राज्यों में सीमा विवाद, गोलीबारी में छ पुलिसकर्मी शहीद, केंद्रीय गृहमंत्रालय ने दिया दखल



भारत के दो राज्य आमने सामने आ गए। असम और मिजोरम सीमा पर भयंकर हिंसा हुई है। हिंसा में असम पुलिस के छ जवान शहीद हो गए। कई वाहनों पर हमले और आगजनी की खबर है। एक वीडियो से जाहिर हो रहा है कि दोनों राज्यों के लोग लाठी डंडे लेकर आमने सामने आ गए। इस तनाव ने दशकों पहले से चले आ रहे विवाद को हवा दे दी है।


दोनों राज्यों के मुख्यमंत्री आमने-सामने


असम -मिजोरम सीमा पर हालात इतने गंभीर है कि दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों के बीच केंद्रीय गृहमंत्रालय को सीधे दखल देना पड़ा है। दोनों ही राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह सीधा दखल देने की मांग

की है। आपको याद दिला दें कुछ दिन पहले ही गृहमंत्री अमित शाह ने पूर्वोत्तर का दौरा किया है।



क्या है मामला


दोनों पड़ोसी राज्यों के बीच सीमा विवाद पुराना है। दोनों राज्‍यों के बीच सीमा विवाद को खत्‍म करने के लिए सन 1995 के बाद से कई वार्ताएं हुई हैं लेकिन इनका कोई फायदा नहीं हुआ है। मिजोरम के तीन जिले आइजोल, कोलासिब और ममित और असम के तीन जिले कछार, करीमगंज और हैलाकांडी एक दूसरे से सटे हुए हैं। दोनों ही राज्‍यों के ये जिले एक दूसरे के साथ लगभग 164.6 किलोमीटर लंबी सीमा साझा करते हैं। इस सीमा विवाद को हल करने के लिए कुछ दिन पहले गृहमंत्री अमित शाह ने बैठक भी की है। असम के अधिकारियों और विधायकों ने मिजोरम पर राज्‍य में हैलाकांडी में दस किलोमीटर भीतर संरचनाओं का निर्माण करने और सुपारी एवं केले की फसल लगाने का आरोप लगाया था। बता दें कि मिजोरम के अलावा असम का मेघालय और अरुणाचल प्रदेश के साथ भी सीमा विवाद है।


केंद्रीय गृहमंत्रालय से दखल की अपील


असम के मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा सरमा ने एक ट्वीट में कहा, मुझे यह जानकारी देते हुए बहुत कष्ट हो रहा है कि असम पुलिस के छह बहादुर जवान असम-मिजोरम सीमा पर हमारे राज्य की संवैधानिक सीमा की सुरक्षा करते हुए शहीद हो गए। मेरी संवेदनाएं शहीदों के परिजनों के साथ हैं।



उधर मिजोरम के मुख्‍यमंत्री जोरामथांगा ने ट्वीट कर कहा कि इसे तुरंत ही रोका जाना चाहिए। चाहर के रास्‍ते मिजोरम लौटते वक्‍त निर्दोष दंपति पर गुंडों ने हमला बोल दिया और उनकी गाड़ी में तोड़फोड़ की। आखिरकार इस तरह की हिंसक घटनाओं को आप किस तरह न्‍यायोचित ठहराएंगे ।



एक्शनमोड में आए अमित शाह


स्थिति की गंभीरता को देखते हुए गृहमंत्री अमित शाह एक्शनमोड में हैं।

केंद्रीय गृहमंत्री ने दोनों राज्यों के मुख्‍यमंत्रियों से सीमा विवाद पर बात की है और दोनों ही मुख्यमंत्रियों से शांति सुनिश्चित करने को कहा है।



दोनों मुख्यमंतिलयों के बीच ट्विटर वॉर


असम के मुख्यमंत्री हिमंता बि‍स्‍व सरमा ने ट्वीट कर मिजोरम के मुख्‍यमंत्री से शिकायत करके उनसे मामले में दखल देने की अपील की है। उन्‍होंने कहा- आदरणीय जोरामथांगाजी... कोलासिब (मिजोरम) के एसपी ने हमें अपनी पोस्‍ट से तब तक हटने के लिए कहा है जब तक उनके नागरिक बात नहीं सुनते और हिंसा नहीं रुक जाती। आप बताइए ऐसी परिस्थितियों में हम किस तरह सरकार चला सकते हैं। मुझे उम्‍मीद है आप जल्‍द से जल्‍द इस मामले में दखल देंगे



जोरामथांगा का सरमा को जवाब


असम के मुख्‍यमंत्री हिमंता बि‍स्‍व शरमा के ट्वीट का जोरामथांगा ने जवाब दिया और असम पुलिस पर सवाल खड़े किए। उन्‍होंने लिखा- प्रिय हिमंताजी माननीय अमित शाह जी की ओर से मुख्यमंत्रियों की सौहार्दपूर्ण बैठक के बाद आश्चर्यजनक रूप से असम पुलिस की दो कंपनियों ने नागरिकों पर लाठीचार्ज किया। यही नहीं असम पुलिस ने नागरिकों पर आंसू गैस के गोले भी दागे। उन्होंने मिजोरम की सीमा में सीआरपीएफ कर्मियों और मिजोरम पुलिस पर भी धावा बोला।


टीम स्टेट टुडे


विज्ञापन

72 views0 comments

Comments


bottom of page