google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

आजम केस में इलाहाबाद HC के रवैये पर सुप्रीम कोर्ट नाराज, 11 को सुनवाई


लखनऊ, 6 मई 2022 : रामपुर में शत्रुसंपत्ति पर कब्जेके मामले मेंविधायक आजम खांकी इलाहाबाद हाईकोर्ट में जमानतके मामले मेंफैसला सुरक्षित करनेपर सुप्रीम कोर्टने नाराजगी जताईहै। सुप्रीम कोर्टमें दो मईके बाद शुक्रवारको आजम खांकी जमानत केलिए याचिका दाखिलकी गई है।शीर्ष अदालत अब 11 को इस परसुनवाई करेगी, लेकिन आजयाचिका स्वीकार करने केदौरान ही सुप्रीमकोर्ट ने इलाहाबादहाई कोर्ट परतल्ख टिप्पणी कीहै।

समाजवादी पार्टी केवरिष्ठ नेता तथारामपुर से विधायकआजम खां कीजमानत के मामलेमें सुप्रीम कोर्टबेहद सख्त होगई है। आजमखां की जमानतपर 137 दिन सेकोई फैसला नादेने के इलाहाबादहाई कोर्ट कीप्रक्रिया पर सुप्रीमकोर्ट ने नाराजगीजताई है। सुप्रीमकोर्ट ने साफकहा कि अगरआजम खां कीजमानत की सुनवाईपर इलाहाबाद हाईकोर्ट कोई फैसलानहीं करता तोहम दखल देंगे।आजम खां कीजमानत पर सुप्रीमकोर्ट में 11 मईको सुनवाई होगी।आजम खां केप्रकरण पर सुप्रीमकोर्ट की तीखीटिप्पणी के कईमायने निकाले जारहे हैं। सुप्रीमकोर्ट ने आजमखां की जमानतयाचिका पर 137 दिनों मेंफैसला न देनेके मामले कोन्याय का माखौलउड़ाना बताया है।
सुप्रीम कोर्ट नेजमीन हड़पने केएक मामले मेंसमाजवादी पार्टी के नेताआजम खां कीजमानत अर्जी परइलाहाबाद हाई कोर्टमें सुनवाई मेंदेरी पर शुक्रवारको नाराजगी जतातेहुए कहा यहन्याय का मजाकहै। जस्टिस एलनागेश्वर राव औरबी आर गवईने कहा किआजम खां को 87 में से 86 मामलों मेंजमानत मिल गईहै। शीर्ष कोर्टआजम खां केमामले में 11 मईको सुनवाई करेगी।

कोर्ट ने कहाकि आजम खांएक को छोड़करसभी मामलों मेंजमानत पर बाहरहैं। आजम खांके वकील नेसुप्रीम कोर्ट को बतायाकि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने उनकेक्लाइंट की जमानतअर्जी पर अपनाफैसला सुरक्षित रखलिया है। इलाहाबादउच्च न्यायालय नेगुरुवार को मोहम्मदअली जौहर विश्वविद्यालयपरियोजना के लिएशत्रु संपत्ति हड़पनेके मामले मेंआजम खां कीजमानत अर्जी परअपना आदेश सुरक्षितरख लिया। हाईकोर्टने बीते वर्षचार दिसंबर कोअपना फैसला सुरक्षितरख लिया था।इसके बाद राज्यसरकार ने बादमें एक आवेदनजमा किया औरनए हलफनामे केमाध्यम से कुछनए तथ्य पेशकरने की अनुमतिमांगी, जो गुरुवारको दायर किएगए थे। जिसमेंआरोप लगाया किभारत के विभाजनके दौरान इमामुद्दीनकुरैशी पाकिस्तान गया थाऔर उसकी जमीनको शत्रु संपत्तिके रूप मेंदर्ज किया गयाथा, लेकिन आजमखां ने अन्यलोगों के साथमिलकर 13.842 हेक्टेयर के भूखंडको हड़प लिया।आजम खां केखिलाफ रामपुर मेंभूमि हथियाने सहितअन्य कई मामलोंमें सीतापुर जेलमें बंद है।

रामपुर में अवैधनिर्माण, जमीन परकब्जा, सरकारी जमीन परकब्जा, किताबों की चोरीतथा अतिक्रमण जैसे 87 केस में सेआजम खां को 86 केस में जमानतमिल चुकी है।आजम खां फरवरी 2020 से सीतापुर की जेलमें बंद हैं।आजम खां नेजेल में रहनेके बाद भी 2022 के विधानसभा चुनाव मेंसमाजवादी पार्टी के टिकटपर रामपुर सदरसे चुनाव जीताहै। आजम खांउत्तर प्रदेश विधानसभाके वरिष्ठतम सदस्योंमें से एकहैं। उनके बेटेअब्दुल्ला आजम खांभी रामपुर केस्वार से समाजवादीपार्टी के विधायकहैं। उनकी पत्नीतंजीम फात्मा पूर्वराज्यसभा सदस्य तथा पूर्वविधायक हैं। आजमखां अपने पुत्रतथा पत्नी केसाथ जेल मेंबंद थे। पुत्रतथा पत्नी जमानतमिलने के बादकरीब एक वर्षसे बाहर हैं।
15 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0