google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कांग्रेस की प्रतिज्ञा यात्रा की खोली कलई

Updated: Oct 24, 2021



रिपोर्ट - आदेश शुक्ला (@aadeshshuklaa)


भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा है कि कांग्रेस चाहे जिस प्रतिज्ञा का ढोंग करे, जनता उसके कुकर्मों के चलते चार दशक पहले ही उसे सत्ता से बाहर रखने का संकल्प ले चुकी है। यही वजह है कि 2017 में समाजवादी पार्टी के साथ लड़ने के बाद भी जनता ने कांग्रेस को इकाई पर ला दिया था और जन सरोकारों से शून्य कांग्रेस को जनता इस बार शून्य पर लाने की प्रतिज्ञा कर चुकी है।


प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि जनता जानती है कि झूठ, वादाखिलाफी, भ्रष्टाचार और परिवारवाद कांग्रेस के डीएनए का हिस्सा बन चुका है। गरीबी हटाने का वादा करने वाली कांग्रेस ने करीब पांच दशक तक राज किया लेकिन आवास, शौचालय, सडक, रसोई गैस, बिजली कनेक्शन जैसी बुनियादी सुविधाएं तक नहीं दे सकी। इस अवधि में भ्रष्टाचार और लूट के नए रिकार्ड जरूर कायम किये है।


प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि इससे अधिक हास्यास्पद क्या हो सकता है कि जिस पार्टी के मुखिया की कुर्सी मां-बेटा, बेटी के लिए आजीवन आरक्षित हो वह महिलाओं के लिए आरक्षण का झूठ और भ्रम फैला रहे हैं। जिनके पिता ने प्रधानमंत्री रहते हुए तुष्टिकरण की राजनीति के चलते देश की करोड़ों मुस्लिम महिलाओं के हित में लिए गए सुप्रीम कोर्ट के फैसले को पलट डाला, जिनकी पार्टी के शासित राजस्थान, छत्तीसगढ़ आदि राज्यों में महिलाओं के खिलाफ अपराध के नए रेकार्ड बन रहे हैं, उनके सुरक्षा व संरक्षा के वादों पर जनता कैसे विश्वास करेगी। आज संसद से लेकर विधानसभा तक सबसे अधिक महिला विधायक भाजपा की हैं। यूपी में पंचायत चुनाव में 33 फीसदी आरक्षण है, लेकिन करीब 50 फीसदी महिलाएं पंचायत में चुनी गई हैं।



प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि यूपी में बिजली बिल हाफ करने की प्रतिज्ञा करने वाली प्रियंका गांधी एक बार कांग्रेस शासित राज्यों में भी झांक लेती। जनता बिजली बिल कम करने की मांग को लेकर लाठी खा रही है और कांग्रेस की सरकार ने फिक्स चार्ज से लेकर बिजली बिल तक बढ़ा दिया है। सबसे अधिक महंगी बिजली राजस्थान में मिल रही है। सत्ता में आने के बाद जिनकी आदत सरकारी खजाना और जनता की जेब साफ करने की है, उनके हाफ करने के वादे को जनता बखूबी समझती है।


उन्होने कहा गन्ना किसानों को 400 रुपये देने का वादा करने वाली श्रीमती प्रियंका वाड्रा को पंजाब के दाम भी बताने चाहिए। एमएसपी पर इन राज्यों में कितनी खरीद हुई है और कितना दाम हुआ प्रतिज्ञा के साथ इसका खुलासा भी करना चाहिए, जिससे वादों व इरादों की असलियत जनता को पता चल सके। किसानों के कर्जमाफी के वादे न पंजाब में जमीन पर उतरे और नहीं मध्य प्रदेश में ही सरकार बनने पर। इस वादाखिलाफी का असर था कि कांग्रेस के विधायकों ने ही कांग्रेस छोड़ दी। यूपीए के दोनों सरकारों में एमएसपी पर जितनी खरीद नहीं हुई थी उससे अधिक खरीद मोदी जी की अगुवाई में महज 7 सालों में हुई है। यूपी में योगी आदित्यनाथ जी की अगुवाई में एमएसपी पर खरीद के नए रेकार्ड बने हैं।


कांग्रेस शासित राज्यों महाराष्ट्र, पंजाब, राजस्थान, छत्तीसगढ़ में कोविड की पहली और दूसरी लहर में जनता को उनके हाल पर छोड़ दिया। श्रीमती प्रियंका वाड्रा जी उत्तर प्रदेश में आर्थिक मदद की बात कर रही है, लेकिन, जब कांग्रेस शासित राज्यों से यूपी के प्रवासी नागरिकों को भगाया जा रहा था, कोटा से यूपी के बच्चों को लाने के लिए वाहन तक नहीं दिया जा रहा था तब प्रियंका गांधी आंख-कान मूंद कर पड़ी हुई थी।


उन्होंने कहा मोदी जी-योगी जी की अगुवाई में देश-प्रदेश विकास, सुशासन, सामाजिक सुरक्षा व खुशहाली की राह पर है। भाजपा पर जनता का विश्वास और आशीर्वाद निरंतर बढ़ रहा है। इसलिए सियासी पर्यटकों और उनके टूर पैकजों के झांसे में अब जनता नहीं आने वाली है। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश में जनता के आशीर्वाद से एक बार फिर भाजपा सरकार बनाएगी।


टीम स्टेट टुडे



24 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0