google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

कार्यकर्ता नहीं हर मोर्चे पर पूरी फौज लड़ेगी उत्तर प्रदेश विधानसभा का चुनाव – बीजेपी की रणनीति



भारतीय जनता पार्टी की निगाह 2022 के विधानसभा चुनाव ही नहीं बल्कि 2024 के लोकसभा चुनाव पर भी है। यूपी विधानसभा की चुनावी तैयारियों को बीजेपी ऐसे स्तर पर ले जाना चाहती है जहां से विपक्ष के लिए उसे छूना भी नामुमकिन हो जाए। किसी का कोई करिश्मा, कोई गुणा गणित काम ना करे सिर्फ बीजेपी का जादू चलता रहे।


चुनावी तैयारियों के इस क्रम में भारतीय जनता पार्टी ने 403 विधानसभा क्षेत्रों में चुनाव प्रचार और प्रबंधन से लेकर हर मोर्चे पर विपक्षी दलों का मुकाबला करने के लिए योद्धाओं की फौज तैयार कर दी है। 98 संगठनात्मक जिलों में भाजपा के मंडल से लेकर प्रदेश पदाधिकारियों के साथ सात अग्रिम मोर्चों, 26 प्रकोष्ठों और 28 विभागों की मंडल स्तर तक टीम तैयार हो रही है।


उत्तर प्रदेश में भाजपा प्रदेश स्तरीय टीम के साथ साथ छह क्षेत्रों की क्षेत्रीय टीमें, 98 जिला टीमें और 1918 मंडलों में कार्यकारिणी गठित की गई है। युवा मोर्चा, महिला मोर्चा, किसान मोर्चा, अनुसूचित जाति मोर्चा, अनुसूचित जनजाति मोर्चा, अन्य पिछड़ा वर्ग मोर्चा और अल्पसंख्यक मोर्चा की प्रदेश टीम का गठन हो गया है। मोर्चों की क्षेत्रीय, जिला और मंडल टीमों का गठन भी शुरू हो गया है। वहीं 28 विभागों और 26 प्रकोष्ठों की भी प्रदेश से लेकर मंडल स्तर तक तीन से पांच सदस्यों की टीम गठित गई है।


बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा है कि चुनाव से पहले नई टीमें ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में हर वर्ग के बीच जाकर संगठन की चुनावी जमीन को मजबूत करेंगी। उन्होंने बताया कि संबंधित मोर्चे, प्रकोष्ठ और विभागों के पदाधिकारी उनके क्षेत्र से जुड़े लोगों से लगातार संपर्क और समन्वय कर उन्हें संगठन से जोड़ेंगे। साथ ही केंद्र व प्रदेश सरकार की योजनाओं की जानकारी उन तक पहुंचाएंगे।


युवाओं, महिलाओं, किसानों, व्यापारियों सहित हर वर्ग के बीच जाकर विपक्ष के षडयंत्र को बेनकाब करेंगे। हर जिले में करीब एक हजार से अधिक पार्टी पदाधिकारियों की टीम मौजूद होगी। आने वाले दिनों में इस फौज को सीनियर लीडर्स प्रशिक्षण देंगे।


टीम स्टेट टुडे


विज्ञापन

31 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0