google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

CM योगी ने किया बाढ़ प्रभावित जिलों का हवाई सर्वे, राहत कार्य तेज करने के निर्देश


लखनऊ, 23 सितंबर 2022 : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथने शुक्रवार कोप्रदेश के बाढ़प्रभावितों क्षेत्रों का हवाईसर्वेक्षण (Areial Survey) किया। गोरखपुर प्रवासके बाद लखनऊआते समय सीएमयोगी आदित्यनाथ नेबस्ती, अयोध्या तथा देवीपाटनमंडल के जिलोंके बाढ़ ग्रस्तक्षेत्रों का हवाईसर्वेक्षण किया। इसके साथही उन्होंने जिलाधिकारियोंको सभी जगहपर राहत कार्यमें तेजी लानेका भी निर्देशदिया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथने आज गोरखपुर, संत कबीरनगर, बस्ती, अयोध्या, गोंडा और बाराबंकीके सभी बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों का हवाईसर्वेक्षण किया। इसके साथही उन्होंने इनसभी जिलों केजिलाधिकारियों से बाढ़राहत कार्यों कीविस्तृत रिपोर्ट मांगी है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथने इन दिनोंलगातार बढ़ रहेसरयू नदी केजलस्तर से प्रभावितगोरखपुर, संत कबीरनगर, बस्ती, अयोध्या, गोंडा औरबाराबंकी का हवाईसर्वेक्षण कर स्थितिका जायजा लिया।सीएम योगी आदित्यनाथने जिलाधिकारियों कोइन जिलों



केप्रभावित गांवों में राहतकार्यों में तेजीलाने के निर्देशदिए। इसके साथही बाढ़ प्रभावितगांवों के लोगोंएवं पशुओं कोसुरक्षित स्थानों पर ठहरानेके आदेश दिए।

उत्तर प्रदेश केकरीब 14 जिलों के 247 गांवमें बाढ़ सेखराब हुए हालातके बीच मुख्यमंत्रीयोगी आदित्यनाथ नेस्थिति का जायजालेने के लिएबाढ़ प्रभावित क्षेत्रोंका हवाई सर्वेक्षणकिया। उन्होंने बाढ़प्रभावित जिलों के डीएमको बाढ़ प्रभावितइलाकों में राहतकार्यों में तेजीलाने समेत पूरीरिपोर्ट प्रस्तुत करने केनिर्देश दिए हैं।सीएम योगी आदित्यनाथने जिलाधिकारियों कोबाढ़ से हुईजनहानि, पशु हानिका निर्धारित मानकोंके आधार परसहायता एवं बाढ़राहत सामग्री केपैकेट्स का वितरणतेज गति सेकरने का निर्देशदिया।

एनडीआरएफ तथा एसडीआरएफतैनात

गौरतलब है किप्रदेश में पिछले 24 घंटे में 16 जिलों में 25 मिमी से अधिकवर्षा दर्ज कीगई है। इसकेबाद प्रदेश केसात जिलों लखीमपुरखीरी, गोरखपुर, लखनऊ, वाराणसी, बहराइच, अयोध्या तथाबरेली में आठएनडीआरएफ की टीमेंतैनात की गईहैं।

इसके साथही दस जिलोंबाराबंकी, गोरखपुर, लखनऊ, मुरादाबाद, बरेली, प्रयागराज, वाराणसी, इटावा, अयोध्या, मिर्जापुर में एसडीआरएफकी 15 टीमें लगाईगईं। वहीं प्रदेशके 46 जिलों मेंपीएसी की 17 कंपनियोंकी 44 टीमों कोभी तैनात कियागया है। वर्तमानमें प्रदेश के 44 जिलों में कुल 67 टीमें बचाव कार्यके लिए पहलेसे तैनात कीजा चुकी हैं।

2 views0 comments
bottom of page