google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

सीएम योगी ने शिक्षकों को दिलाई शपथ, बोले- स्कूल चलो अभियान के परिणाम अच्छे


लखनऊ, 1 अगस्त 2022 : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को सरकारी बेसिक तथा प्राइमरी स्कूल में पढ़ रहे एक करोड़ 91 लाख के अधिक बच्चों के अभिभावकों के खाते में उनकी स्कूल यूनिफार्म तथा स्टेशनरी के लिए 1200-1200 रुपया डीबीटी के माध्यम से ट्रांफसर किया। लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में उन्होंने इस दौरान शिक्षकों को अपने कत्वर्य का बेहतर ढंग से पालन करने की शपथ भी दिलाई।

उत्तर प्रदेश की साक्षरता दर को आगे बढ़ाने के बड़े अभियान में लगे सीएम योगी आदित्यनाथ स्कूल चलो अभियान के बेहतर परिणाम आने पर काफी प्रसन्न हैं। मुख्यमंत्री ने इसको आगे बढ़ाने के अभियान के लिए आज सभी शिक्षकों को शपथ दिलाई। इस दौरान उन्होंने कहा कि अप्रैल माह के प्रथम सप्ताह में हम लोगों ने 'स्कूल चलो अभियान' प्रारंभ किया था। मुझे प्रसन्नता है कि इस अवसर पर मुझे एक आकांक्षात्मक जनपद श्रावस्ती में जाने का अवसर प्राप्त हुआ था। 'स्कूल चलो अभियान' के अच्छे परिणाम सामने आए हैं। कोरोना संक्रमण के कारण मार्च 2020 से शिक्षा प्रभावित रही, लेकिन हमने बच्चों के लिए उस दौरान भी पठन-पाठन की व्यवस्थी की थी। उन्होंने कहा कि दूरदर्शन के जरिए पढ़ाई करवाई गई। जिससे कि बच्चों का समय बर्बाद ना हो। सभी कक्षाओं में बच्चों को प्रोन्नत किया गया, जिससे कि छात्र-छात्राएं व अभिभावक परेशान ना हों।

मुख्यमंत्री ने कहा प्रदेश के 1.91 करोड़ बच्चों को उनके यूनिफार्म, बैग, स्टेशनरी, स्वेटर आदि के लिए डीबीटी के माध्यम से धनराशि अंतरण के आज के इस कार्यक्रम के अवसर पर मैं सबसे पहले बेसिक शिक्षा परिषद को इस पूरे कार्यक्रम के लिए हृदय से धन्यवाद देता हूं। यह कार्यक्रम लगातार आगे बढ़ते रहना चाहिए। हम उत्तर प्रदेश को साक्षरता के क्षेत्र में भी नंबर एक बनाने के लिए प्रयासरत हैं। हमने प्राइमरी व बेसिक शिक्षा विभाग के सरकारी स्कूलों पर फोकस किया है। उनका लक्ष्य नींव यानी बेसिक तथा प्राइमरी स्कूलों में बच्चों की संख्या बढ़ाने का भी है।

प्रदेश के सरकारी प्राथमिक स्कूलों में कक्षा एक से आठ तक में पढऩे वाले छात्र-छात्राओं के अभिभावकों को यूनिफार्म, स्कूल बैग, स्वेटर, जूता-मोजा व कापी पेंसिल का पैसा उनके अभिभावकों के खाते में भेजा गया है। अभियान में हर छात्र-छात्रा के स्वजन को इस बार 1200-1200 रुपये की धनराशि भेजी गई है। बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों, अशासकीय सहायताप्राप्त प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालयों में कक्षा एक से आठ तक में करीब एक करोड़ 91 लाख छात्र-छात्राएं नामांकित हो चुके हैं। बच्चों की सामग्री खरीदने के लिए अभिभावकों के खाते में धन भेजा गया है।
3 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0