google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

सीएम योगी ने शोध छात्र-छात्राओं को दिया टैबलेट


लखनऊ, 21 अक्टूबर 2022 : मुख्यमंत्रीयोगी आदित्यनाथ नेशुक्रवार को मुख्यमंत्रीफेलोशिप योजना के मेंशोधार्थियों को टैबलेटप्रदान किया। योगी आदित्यनाथसरकार का लक्ष्यतकनीक के माध्यमसे कार्यक्षमता मेंवृद्धि करने काहै।

लोक भवनके हाल मेंसीएम योगी आदित्यनाथने प्रदेश केसौ आकांक्षात्मक विकासखंडोंमें शुरू कीगई मुख्यमंत्री फेलोशिपयोजना के तहतचयनित शोधार्थियों कोआज टैबलेट प्रदानकिया। शोधार्थियों काचयन मुख्यमंत्री फेलोशिपयोजना के तहतकिया गया है।इसकार्यक्रम में डिप्टीसीएम केशव प्रसादमौर्य, डिप्टी सीएम ब्रजेशपाठक, वित्त एवंसंसदीय कार्य मंत्री सुरेशकुमार खन्ना केसाथ मुख्य सचिवदुर्गा शंकर मिश्राभी मौजूद थे।

प्रशासनिक सेवाओं मेंभी काम करनेका अवसर

मुख्यमंत्री ने इसकार्यक्रम के दौरानबड़ी घोषणा की।उन्होंने मुख्यमंत्री फेलोशिप कार्यक्रमके शोधार्थियों केलिए बड़ी घोषणाकी। सीएम योगीआदित्यनाथ ने कहाकि ब्लाक तथाजिला स्तर परअच्छा काम करनेवाले शोधार्थियों कोप्रदेश की प्रशासनिकसेवाओं में भीकाम करने काअवसर मिलेगा। इतनाही नहीं इसकोउम्र में छूटदेने के साथही अतिरिक्त लाभदेकर सरकारी सेवामें काम करनेका अवसर मिलेगा।

मुख्यमंत्री ने कहाकि इन 100 शोधार्थियोंको शासकीय सेवामें निश्चित वेटेजदिया जाएगा। उन्हेंआयु सीमा मेंछूट भी दीजाएगी। गांवों के बादअब नगर क्षेत्रमें भी सरकारफेलोशिप का यहप्रयोग करेगी। प्रदेश मेंनिवेश आकर्षित करनेके लिए भीहमें कुछ फेलोरखने होंगे। उन्हेंनिवेशकों के साथजोड़ा जाएगा।

ग्रामीण विकास कीयात्रा में सहभागीबनें

मुख्यमंत्री ने शोधार्थियोंसे कहा किवे ग्रामीण विकासकी यात्रा मेंसहभागी बनें औरमहात्मा गांधी के ग्रामस्वराज्य की संकल्पनाको साकार करें।शोधार्थियों को अगलेदो-तीन वर्षोंतक गांव मेंरहना होगा औरवहां की विकासकी प्रक्रिया सेजुड़ना होगा। उन्होंने शोधार्थियोंको ग्रामीण विकासपर शोध ग्रंथलिखने के लिएभी प्रेरित किया।

विकास खंडों कीप्रगति के आधारपर उनकी रैंकिंग

मुख्यमंत्री ने कहाकि इन 100 विकासखंडों की प्रगतिके आधार परउनकी रैंकिंग होगी।रैंकिंग के आधारपर विकासखंडों कोप्रोत्साहन दिए जाएंगे।उन्होंने संबंधित विभागों केवरिष्ठ अधिकारियों से कहाकि इन 100 विकासखंडोंमें मानव संसाधनकी कमी नहींहोनी चाहिए। जिलाधिकारियोंसे शोधार्थियों केलिए ब्लाक मुख्यालयपर आवास कीव्यवस्था कराने के लिएभी कहा।

कथित विद्वानोंपर भी कटाक्ष

मुख्यमंत्री ने उनकथित विद्वानों परकटाक्ष भी कियाजो शिक्षकों कोपठन-पाठन तकसीमित रखने औरउन्हें जनगणना व मतदातासूची पुनरीक्षण कार्यमें नहीं लगाएजाने की वकालतकरते हैं। यहकहते हुए किवह शिक्षा क्याजो हमें सिर्फअक्षर ज्ञान तकसीमित रखे। व्यावहारिकज्ञान के बिनातो शिक्षा अर्थहीनहै। ऐसे लोगतो यह आदेशभी जारी करादेंगे कि शिक्षकोंको अब स्कूलजाकर पढ़ाने कीजरूरत नहीं है।वह घर बैठेही आनलाइन क्लासले सकेंगे।

प्रयास आकांक्षात्कम जिलोंको भी मुख्यधारामें लाने का

सीएम योगीआदित्यनाथ ने कहाकि हमारी सरकारका प्रयास आकांक्षात्कमजिलों को भीमुख्यधारा में लानेका है। यहसभी शोधार्थी इन्हीजिलों में कामकर रहे हैं।यह ग्राम प्रधानके साथ हीब्लाक के अधिकारियोंको नए नियमतथा सुविधा कीयोजनाओं से भीअवगत करा रहेहैं। हर जगहपर अच्छा कार्यकरने वाले केलिए हम सरकारीसेवा में जगहबनाएंगे।

नगर विकासके क्षेत्र मेंभी बड़े कामकरने का अवसर

मुख्यमंत्री ने कहाकि गांव मेंविकास का अच्छाकाम रहे इनशोधार्थियों को भविष्यमें नगर विकासके क्षेत्र मेंभी बड़े कामकरने का अवसरमिलेगा। उन्होंने कहा किआज ग्रामीण क्षेत्रोंके विकास केलिए तैनात फेलोशिपशोधार्थी को हमनेटैबलेट बांटा है, आगेनगर विकास केलिए अच्छा कामकरने वालों कोबांटेंगे। लोक भवनमें सम्पन्न इसकार्यक्रम में जिलोंके मुख्य विकासअधिकारियों के साथही साथ कईजिलों के ब्लाकविकास अधिकारी भीमौजूद थे।

2 views0 comments