google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

विपक्ष को गलतफहमी, 1949 में कांग्रेस भी कर चुकी है ये काम


लखनऊ, 7 सितंबर 2023 : इंडिया और भारत नाम को लेकर राजनीतिक दलों में घमासान जारी है। पक्ष और विपक्ष लगातार एक-दूसरे पर हमलावर हैं। इस बीच सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के मुखिया ओम प्रकाश राजभर ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी और I.N.D.I.A. गठबंधन पर तीखा हमला बोला। इंडिया-भारत नाम विवाद पर ओमप्रकाश राजभर ने कहा- विपक्ष को खुद नहीं पता है कि 1949 में कांग्रेस पार्टी भारत नाम रखने का प्रस्ताव सदन में लाई थी।

राजभर का कांग्रेस पर पलटवार

राजभर ने दो टूक कहा- कि आज कांग्रेस जो आरोप लगा रही कि उनके गठबंधन का नाम रखने के बाद भाजपा ऐसा कर रही है तो वह उनकी गलतफहमी है, उन्हें खुद ही नहीं पता है कि कब-कब सदन में इस नाम को रखने पर चर्चा हुई है। बता दें इस विवाद को लेकर यूपी में सियासत में भी तल्खी देखी जा सकती है। बसपा सुप्रीमो मायावती ने बुधवार को प्रेस कांफ्रेंस करके एनडीए और विपक्षी गठबंधन पर तीखा हमला बोला।

मायावती बोली- जरूरी मुद्दों को किया जा रहा नजरअंदाज

मायावती ने कहा कि देश के जरूरी मुद्दों को नजरअंदाज किया जा रहा है। विपक्षी गठबंधन पर भी मायावती हमलावर दिखी। उन्होंने कहा- "देश के नाम को लेकर अपने संविधान के साथ छेड़छाड़ करने का मौका भाजपा के NDA को खुद विपक्ष ने एक सोची समझी रणनीती के तहत अपने गठबंधन का नाम I.N.D.I.A. रखकर दिया है। यह भी कहा जा सकता है कि यह सब सत्ता और विपक्ष अंदरूनी रूप से मिलकर कर रहे हैं। इसकी भी आशंका है।"

क्या है इंडिया बनाम भारत विवाद

बता दें भारत में जी-20 की बैठक चल रही है। जिसमें शामिल होने वाले नेताओं के डिनर का आयोजन राष्ट्रपति के द्वारा किया जाना है। इसी बीच डिनर आमंत्रण का पत्र सामने आया, जिसमें 'प्रेसिडेंट ऑफ भारत' लिखा हुआ था। आमतौर पर इस पर 'प्रेसीडेंट ऑफ इंडिया' लिखा हुआ होता था। इस निमंत्रण पत्र को लेकर कांग्रेस और अन्य विपक्षी दल सरकार पर हमलावर हैं।

0 views0 comments

Commentaires


bottom of page