google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

सावधान! नकली वैक्सीन से बचने का तरीका समझिए फिर चाहें सरकारी केंद्र हो या वॉक-इन कैंप



कोरोना की दूसरी लहर कालाबाजारी, लूट, बेईमानी, भ्रष्टाचार, धोखाधड़ी और हर उस काम के लिए भी याद की जाएगी जिससे इंसानियत हमेशा के लिए शर्मिंदा हुई है।


ये काम सिर्फ मुनाफाखोरों या मौके पर हाथ साफ करने वालों ने ही नहीं किया है। इस काम में कई राज्य सरकारें और सरकारी कर्मचारी भी शामिल रहे हैं।


अब देश भर में वैक्सीनेशन का महा अभियान चल रहा है। सरकारी अस्पतालों के साथ साथ कई जगह वैक्सीन कैंप लगाकर लोगों को खुराक दी जा रही है।


चूंकि मुफ्त में लगने वाली वैक्सीन की कालाबाजारी कई राज्यों की राज्य सरकारों ने खुद की है और कई जगह नकली वैक्सीन लगने की खबरें आती रही हैं इसलिए स्टेट टुडे टीवी ना सिर्फ आपको सतर्क कर रहा है बल्कि आपको वॉक-इन कैंप, सरकारी अस्पताल या निजी अस्पताल में कोविड वैक्सीन लेने की ऐसी जानकारी दे रहा है जिससे आप खुद ये सुनिश्चित कर सकें कि आपके साथ कोई जालसाजी नहीं हो रही है।


सबसे पहले तो ये जान लीजिए कि आप भारत में कहीं भी रहते हों किसी भी राज्य में हों कोविड वैक्सीनेशन प्रक्रिया पूरी तरह से डिजिटलाइज्ड है। सरकारी या निजी अस्पताल हों या वॉक-इन कैंप्स हर जगह यह सुनिश्चित करने के लिए कुछ जांचें हैं कि आप नकली वैक्सीनेशन की पेशकश करने वाले धोखेबाजों के शिकार न हों।

अभी आप दो तरह से वैक्सीन लगवा रहे हैं। एक तरीका है CoWin वेबसाइट पर स्लॉट बुक कर के निर्धारित किए गए सेंटर पर वैक्सीन लगवाना।


दूसरा तरीका है किसी कैंप में स्लॉट बुक किए बिना वॉक-इन के जरिए तत्काल वैक्सीनेशन की सुविधा लेना। ध्यान रखिए इस प्रक्रिया में भी आपको CoWin सिस्टम से एक प्रॉपर डिजिटल वैक्सीन सर्टिफिकेट के साथ तुरंत एक QR कोड के साथ SMS मिलेगा।


अगर आप दूसरा तरीका यानी वॉक-इन कोविड वैक्सीन कैंप में भाग ले रहे हैं तो आपको 6 चरण ध्यान रखने हैं यानी 6 बातें ध्यान रखनी है।


1- वॉक-इन वैक्सीन कैंप में आपको अपने मोबाइल फोन के साथ अपना आधार कार्ड लेकर जाना होगा।



अगर आप CoWin वेबसाइट पर पहले रजिस्ट्रेशन किए बिना किसी कोविड वैक्सीन कैंप में वॉक-इन कर रहे है, तो आपको अपना आधार कार्ड और एक काम करने वाला मोबाइल फोन अपने साथ जरुर रखिए। जरुरी नहीं कि आपका फोन स्मार्ट फोन हो एक साधारण मोबाइल से भी आपका काम हो जएगा। ध्यान रखिए कैंप में बैठे लोग भी आपको वैक्सीन लगाने स पहले ऑनलाइन प्रक्रिया को पूरा करेंगें। ऐसे में एक ओटीपी और बाद में सर्टिफिकेट उस मोबाइल नंबर पर ही आएगा जो आप सेंटर पर बताएंगे।


2- अपना वैक्सीन रजिस्ट्रेशन वेरिफाई करने के लिए आपको अपने मोबाइल नंबर पर चार अंकों का ओटीपी प्राप्त होगा।



वॉक-इन वैक्सीन कैंप में अपना रजिस्ट्रेशन कराने के बाद, आपको अपने रजिस्ट्रेशन की पुष्टि के लिए अपने मोबाइल नंबर पर चार अंकों का एक ओटीपी प्राप्त होगा।


वैक्सीन दिए जाने से पहले यह एक महत्वपूर्ण कदम है। जब तक आपको यह ओटीपी न मिले तब तक वैक्सीन न लें।


जब तक आपका रजिस्ट्रेशन CoWin सिस्टम पर पूरा नहीं हो जाता, तब तक आप वैक्सीन सर्टिफिकेट डाउनलोड नहीं कर पाएंगे। साथ ही, यह ओटीपी रजिस्ट्रेशन सिस्टम आपको नकली वैक्सीनेशन कैंप्स से बचाता है।


3- वैक्सीन मिलने के तुरंत बाद आपको रजिस्टर्ड फोन नंबर पर एक SMS मिलेगा



जैसे ही आप वैक्सीन लग जाएगी आपको CoWin प्लेटफॉर्म से एक SMS मिलेगा जिसमें आपका पूरा नाम, वैक्सीन का नाम, वैक्सीनेशन की तारीख और समय के साथ-साथ आपका वैक्सीन सर्टिफिकेट डाउनलोड करने का लिंक होगा।


4- QR कोड को स्कैन करके कोविड वैक्सीन सर्टिफिकेट की पुष्टि करें



भारत में सभी कोविड वैक्सीन सर्टिफिकेट एक समर्पित QR कोड के साथ आते हैं। इसकी प्रामाणिकता की जांच के लिए आपको इस QR कोड को वेरिफाई करना चाहिए।


कोविड वैक्सीन सर्टिफिकेट की वैधता की जांच करने के लिए-