google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

योग दिवस के दिन कोविड टीकाकरण की ये चमत्कारी उपलब्धि सुनी कि नहीं आपने !




21 जून यानी अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस। एक ऐसा दिन जब धरती पर मौजूद हर शख्स भारत का धन्यवाद करता है। वजह है प्राचीन भारत की वह योग विद्या जिसे दुनिया के सामने फिर से भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जीवंत कर दिया।


21 जून 2021 को दुनिया ने सातवां विश्व योग दिवस मनाया। योग का महत्व कोविडकाल के दौरान पूरी दुनिया ने समझा है और आत्मसात किया है।


भारत में योग दिवस पूरी लगन और चेतना के साथ देखने को मिला। सेलिब्रिटी हों, नेता हों, प्रशासनिक अधिकारी हों, बच्चे हों या देश का किसी भी तबके का कोई भी नागरिक अपनी सेहत को लेकर फिक्रमंद सभी ने इस दिन को ऐतिहासिक बनाने के लिए योगाभ्यास की खूब तस्वीरें वायरल कीं।


उससे भी बड़ी बात ये है कि आज ही भारत में भारत में टीकाकरण के तीसरे चरण की शुरुआत हुई। शुरुआत के साथ ही योग दिवस के दिन में कोरोना टीकाकरण के मामले में नया रिकॉर्ड भी बन गया। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार देश में सोमवार को 80 लाख से ज्यादा टीके लगाए गए।

योग दिवस के दिन टीकाकरण अभियान में सबसे ऊपर मध्यप्रदेश रहा।


जहां आठ लाख से अधिक लोगों को कोरोना टीका लगाया गया। इसके बाद कर्नाटक है जहां करीब छह लाख टीके लगाए गए हैं। चार लाख से ज्यादा लोगों को टीके की खुराक देने वाला उत्तर प्रदेश तीसरे स्थान पर रहा।

केंद्र सरकार ने संभाली है टीकाकरण की कमान


आपको बता दें 21 जून से ही प्रधानमंत्री ने देश में टीकाकरण के तीसरे महा अभियान का ऐलान किया था। टीकाकरण की रफ्तार बढ़ने के पीछे प्रधानमंत्री के उस फैसले को भी बड़ी वजह बताया जा रहा है जिसके तहत उन्होंने एलान किया था कि 21 जून से वैक्सीन लगाने की पूरी जिम्मेदारी केंद्र की होगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सात जून को कहा था कि 21 जून से 18 वर्ष से ऊपर की उम्र के सभी नागरिकों के लिए केंद्र सरकार राज्यों को मुफ्त टीका देगी।



टीके की रफ्तार का रिकार्ड


भारत में योगदिवस के दिन जिस रफ्तार से टीकाकरण हुआ है वह एक-दो नहीं बल्कि कई देशों का टीकाकरण करने के लिए पर्याप्त है। भारत ने आज जितने टीके लगाए उतने में आधे स्वीडन या एक न्यूजीलैंड जैसे देशों का संपूर्ण टीकाकरण निपट जाएगा।


कोरोना से जंग में योग एक प्रमुख हथियार रहा है। पोस्ट कोविड भी योगासन शरीर की प्रतिरोधक क्षमता के विकास में सहायक है। योग दिवस के दिन लोगों ने अपनी सेहत को योग और कोविड टीके की डबल डोज़ देकर डबल प्रोटेक्शन हासिल किया है।


टीम स्टेट टुडे



विज्ञापन
विज्ञापन

37 views0 comments