google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

बाढ़ की चपेट में यूपी के 21 जिले, सीएम योगी लगातार कर रहे मानिटरिंग


लखनऊ, 14 अक्टूबर 2022 : उत्तर प्रदेश के साथही पर्वतीय प्रदेशोंमें बीते दिनोंलगातार वर्षा तथा पहाड़के उफान परहोने से उत्तरप्रदेश में बाढ़का कहर है।अब भले हीमौसम साफ है, लेकिन बाढ़ प्रभावितक्षेत्रों में समस्याबढ़ती जा रहीहैं। उत्तर प्रदेशके बाढ़ कीचपेट में आनेवाले 21 जिलों को लेकरबेहद संवेदनशील मुख्यमंत्रीयोगी आदित्यनाथ महाराजगंजके साथ हीगोरखपुर में भीबाढ़ प्रभावित क्षेत्रोंका दौरा करलोगों से वार्ताकरेंगे।

सांसद बृजभूषण शरणसिंह - सूर्य प्रताप शाही

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथने कहा किराज्य सरकार प्रदेशमें आई बाढ़से प्रभावित क्षेत्रोंमें पीड़ित परिवारोंके साथ है।मुख्यमंत्री ने अधिकारियोंसे कहा किसभी प्रभावित परिवारोंको युद्धस्तर परराहत सामग्री वितरितकी जाए। इसकेसाथ ही साथही राहत एवंबचाव कार्य केलिए नाव एवंमोटर बोट कीपर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करायीजाए। अलावा बाढ़या अन्य आपदासे मृत्यु होनेपर पीड़ित परिवारको तत्काल चारलाख रुपये कीसहायता दी जाए।

21 जिलों के सैकड़ोंगांव बाढ़ सेप्रभावित

राज्य के 21 जिलोंके सैकड़ों गांवबाढ़ से प्रभावितहैं। गंगा केसाथ शारदा, घाघरा, राप्ती और कुआनोसमेत अनेक नदियांउफान पर हैंऔर विभिन्न जिलोंमें खतरे केनिशान से ऊपरबह रही हैं।इनमें से अधिकांशजिलों का दौराकर चुके मुख्यमंत्रीयोगी आदित्यनाथ शुक्रवारको महराजगंज तथागोरखपुर के बाढ़प्रभावितों क्षेत्रों में जाएंगे।सीएम योगी आदित्यनाथगुरुवार को दोदिन के दौरेपर पहुंचे औरकल ही बस्ती, सिद्धार्थनगर और संतकबीरनगर में बाढ़पीड़ितों से मिले।आज मुख्यमंत्री शुक्रवारको महराजगंज कीएक और गोरखपुरकी दो तहसीलोंमें बाढ़ पीड़ितोंसे मिलेंगे।

राप्ती, रोहिन औरसरयू खतरे केनिशान से ऊपर

उत्तर प्रदेश के 21 जिले बाढ़ सेप्रभावित हैं। प्रदेशमें राप्ती, रोहिनऔर सरयू खतरेके निशान सेऊपर बह रहीहैं। मुख्यमंत्री योगीआदित्यनाथ ने गुरुवारको गोरखपुर मेंराप्ती, सरयू औररोहिन नदियों मेंआई बाढ़ काहवाई सर्वेक्षण किया।उन्होंने गोरखपुर, बस्ती, संतकबीर नगर औरसिद्धार्थ नगर जिलोंके बाढग़्रस्त इलाकोंका हाल भीजाना।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथका आज महराजगंजतथा गोरखपुर कादौरा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथहेलीकाप्टर से महराजगंजजिले में धानीब्लाक में बाढ़पीड़ितों से मुलाकातकरेंगे और राहतसामग्री का वितरणकरेंगे। इसके बादगोरखपुर के जेपीइंटर कालेज कैंपियरगंजपहुंचेंगे। यहां भीबाढ़ पीड़ितों सेमुलाकात करने केबाद 11.45 बजे सहजनवाके मुरारी इंटरकालेज पहुंचेंगे। यहांबाढ़ पीड़ितों सेमुलाकात करने केबाद गोरखनाथ मंदिरपहुंचेंगे और फिरवहां से वाराणसीरवाना हो जाएंगे।

खतरे केनिशान के ऊपरबह रहीं नदियां

गंगा नदीबदायूं (कचला ब्रिज) में खतरे केनिशान से ऊपरबह रही है।शारदा नदी लखीमपुरखीरी (पलियाकलां एवंशारदानगर) में, घाघरानदी बाराबंकी (एल्गिनब्रिज), अयोध्या और बलिया (तुर्तीपार) में, राप्तीनदी बलरामपुर, सिद्धार्थनगर (बांसी) और गोरखपुर (रिगौली व बर्डघाट) में, बूढ़ीराप्ती नदी सिद्धार्थनगर (ककरही) एवं कुन्हरानदी सिद्धार्थ नगर (उसका बाजार), रोहिननदी महराजगंज (त्रिमोहिनीघाट) तथा कुआनो नदीगोण्डा (चन्द्रदीप घाट) मेंखतरे के निशानसे ऊपर बहरही हैं।

इन जिलोंमें बाढ़ काकहर

वर्तमान में प्रदेशके 21 जनपद बाढ़प्रभावित हैं। इनमेंबलरामपुर, सिद्धार्थनगर, गोरखपुर, गोण्डा, बहराइच, बाराबंकी, लखीमपुर खीरी, सीतापुर, आजमगढ़, महराजगंज, बरेली, बस्ती, संत कबीर नगर, अयोध्या, मऊ, कुशीनगर, बलिया, अम्बेडकर नगर, पीलीभीत, देवरिया तथा शाहजहांपुरशामिल हैं।

1 view0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0