google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट-23 में अमेरिका से बड़े निवेश की जमीन तैयार


लखनऊ, 18 अक्टूबर 2022 : प्रदेश की योगीआदित्यनाथ सरकार के दूसरेकार्यकाल में दसफरवरी 2023 से होनेवाले तीन दिवसीयग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट-23 (GIS-23 UP) मेंअमेरिका से बड़ेनिवेश की जमीनतैयार हो गईहै। सरकार कालक्ष्य दस लाखकरोड़ ने निवेशकराने का है।इसी क्रम मेंसीएम योगी आदित्यनाथने लगातार दूसरेदिन विदेशी प्रतिनिधियोंसे भेंट की।इनमें अमेरिका केभी प्रतिनिधी थे।सभी ने एकस्वर में कहाकि विदेश कीकई बड़ी कंपनियांउत्तर प्रदेश मेंआने की तैयारीकर रही हैं।

अमेरिका के यूएस-इंडिया स्ट्रेटेजिक पार्टनरशिपफोरम (USIPF) के प्रतिनिधिमंडलने की मुख्यमंत्रीयोगी आदित्यनाथ सेआज उनके सरकारीआवास पर भेंटकी। यूएस केइस प्रतिनिधिमंडल नेउत्तर प्रदेश केबदले माहौल कोकाफी सराहा। इनसभी ने कहाकि अब तोयहां पर हरक्षेत्र में सकारात्मकबदलाव हो रहाहै। अमेरिका भीउत्तर प्रदेश मेंबड़ी भूमिका निभानेके लिए तैयारहै। सीएम योगीआदित्यनाथ के साथभेंट के बादअमेरिका के इसप्रतिनिधिमंडल को भरोसाहै कि आनेवाले दिनों मेंउत्तर प्रदेश औद्योगिकनिवेश का ग्लोबलहब बन जाएगा।

उत्तर प्रदेश कोऔद्योगिक निवेश का ग्लोबलहब बनाने केलिए सरकार केजारी प्रयास केबीच में यूएस-इंडिया स्ट्रेटेजिक पार्टनरशिपफोरम (यूएसआईएसपीएफ) केप्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्रीयोगी आदित्यनाथ सेभेंट की। मुख्यमंत्रीसे भेंट करनेवाले 30 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल मेंयूएसआईएसपीएफ के प्रेसिडेंटऔर सीईओ मुकेशअघी, बैंक ऑफद वेस्ट कीप्रेसिडेंट और सीईओनंदिता बख्शी, स्पाइस जेटके चेयरमैन अजयसिंह, मेटा (फेसबुक) के पब्लिक पॉलिसीहेड राजीव अग्रवाल, स्टैंडर्ड चार्टर्ड के सीईओजरीन दारूवाला, भारतसरकार के पूर्वविदेश सचिव कंवलसिब्बल सहित स्वास्थ्य, रक्षा, शिक्षा, बैंकिंग, सोशलमीडिया, एविएशन के साथअनेक सेक्टर केदर्जन भर सेअधिक सीईओ, वरिष्ठअधिकारी व यूएसआईएसपीएफके पदाधिकारी शामिलथे।

अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल सेभेंट-वार्ता केदौरान अवस्थापना एवंऔद्योगिक विकास आयुक्त नेअरविंद कुमार ने प्रतिनिधिमंडलको प्रदेश मेंबेहतर होते सड़क, रेलमार्ग, जलमार्ग, वायुमार्ग इंफ्रास्ट्रक्चरतथा डिफेंस कॉरीडोरकी प्रगति और 25 औद्योगिक नीतियों/ सेक्टोरल पालिसीके संबंध मेंसंक्षिप्त परिचय दिया।

सबसे बड़ालैंड बैंक

प्रतिनिधिमंडल का अभिनन्दनकरते हुए मुख्यमंत्रीयोगी आदित्यनाथ नेकहा कि 250 मिलियनकी आबादी केसाथ उत्तर प्रदेशभारत का सबसेबड़ा राज्य है।हमारे पास सबसेबड़ा लैंडबैंक है।उद्योग अनुकूल औद्योगिक नीतियांहैं। सुदृढ़ कानूनव्यवस्था है। हमखाद्यान्न उत्पादन में नकेवल आत्मनिर्भर हैं, बल्कि निर्यात भीकर रहे हैं।देश में सबसेअच्छी उर्वरा भूमिउत्तर प्रदेश केपास है।

सकारात्मक भूमिका निभासकता है यूएसआईएसपीएफ

उन्होंने कहा किप्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी केविजन के अनुरूपउत्तर प्रदेश कोवन ट्रिलियन कीअर्थव्यवस्था का राज्यबनने के हमारेसंकल्प की पूर्तिमें में यूएसआईएसपीएफसकारात्मक भूमिका निभा सकताहै। मुख्यमंत्री नेकहा कि भारतदुनिया का सबसेबड़ा लोकतंत्र हैऔर यूएसए सबसेबड़ी अर्थव्यवस्था। ऐसेमें अगर यहदो देश मिलकरकाम करें तोयह विश्व मानवताके कल्याणकारी होगा।इस दृष्टि सेभारत और यूएसएके बीच रणनीतिकसम्बन्धो को औरबेहतर करने मेंयूएसआईएसपीएफ की बड़ीजिम्मेदारी है।

ग्रोथ इंजन कीसामर्थ्य वाले राज्यकी संज्ञा

सीएम योगीआदित्यनाथ ने कहाकि प्रधानमंत्री नरेन्द्रमोदी ने उत्तरप्रदेश को देशके ग्रोथ इंजनकी सामर्थ्य वालेराज्य की संज्ञादी है। प्रदेशअपनी इस जिम्मेदारीको निभाने केलिए तैयार है।बीते पांच वर्षमें नियोजित प्रयासोंसे उत्तर प्रदेशदेश में औद्योगिकनिवेश के सर्वश्रेष्ठगंतव्य के रूपमें उभर करआया है।

संबंधों को औरमजबूत करने काबेहतरीन अवसर

मुख्यमंत्री ने कहाकि दस से 12 फरवरी 2023 तक लखनऊमें उत्तर प्रदेशग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट काआयोजन किया जारहा है। यहसमिट इंडो-यूएसद्विपक्षीय व्यापारिक संबंधों कोऔर मजबूत करनेका बेहतरीन अवसरहै। इस महत्वपूर्णकार्य में यूएसआईएसपीएफसे सहयोग कीअपेक्षा है।

सभी केव्यावसायिक हितों का ध्यान

उन्होंने कहा किउत्तर प्रदेश मेंबड़ा बाजार है।अमेजॉन, माइक्रोसॉफ्ट, एडोब, पेप्सिको, सिनॉप्सिस, वालमार्ट आदि कईअमेरिकी कंपनियां उत्तर प्रदेशमें पहले सेही काम कररही हैं, सभीके अनुभव अच्छेहैं। सरकार सभीके व्यावसायिक हितोंका ध्यान रखरही है। उत्तरप्रदेश में निवेशकरने वाले हरएक निवेशक केहितों को सुरक्षितरखने के लिएहम प्रतिबद्ध हैं।राज्य सरकार सभीनिवेशकों को हरसंभव सहायता देगी।प्रदेश में नकेवल निवेशकों काहित सुरक्षित होगा, बल्कि उनको यहांपर हर प्रकारका संरक्षण भीप्राप्त होगा।

9 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0