google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

9 नवंबर से आपका गूगल अकाउंट तभी खुलेगा जब आप ये काम कर लेंगे



अगर आप इंटरनेट इस्तेमाल करते हैं तो गूगल से आपका वास्ता पड़ना ही है। गूगल अकाउंट का उपयोग करना आम बात है। जी मेल पर अकाउंट बनाने के साथ ही गूगल अकाउंट स्वयं ही सक्रिय हो जाता है। अगर आप गूगल अकाउंट इस्तेमाल करते हैं तो उसमें होने जा रहे बदलाव को अवश्य जान लीजिए। कहीं ऐसा ना हो कि आप गूगल अकाउंट होते हुए भी इसका इस्तेमाल ना कर पाएं।


गूगल 9 नवंबर से सभी Google अकाउंट यूजर्स को अपने अकाउंट तक पहुंचने के लिए टू-स्टेप वेरिफिकेशन अनिवार्य करने जा रहा है। एक बड़ा बदलाव है, क्योंकि यह अकाउंट में सुरक्षा की एक एडिशनल लेयर जोड़ देगा।



क्या है टू स्टेप वैरिफिकेशन


टू-स्टेप वेरिफिकेशन का मतलब मूल रूप से सभी अकाउंट में सिक्योरिटी की एक एडिशनल लेयर ऐड करना है। एक बार ऑप्शन इनेबल हो जाने पर, यूजर्स जब भी अपने Google अकाउंट में लॉग इन करेंगे तो उन्हें एक OTP के साथ एक SMS या एक Email प्राप्त होगा। यूजर्स अपने अकाउंट में तभी प्रवेश कर पाएंगे जब उनका वन-टाइम पासवर्ड दर्ज होगा, जो आपके द्वारा अपने Google अकाउंट में एंटर करने पर हर बार बदल जाएगा। यह आपके अकाउंट में सिक्योरिटी की एक एडिशनल लेयर जोड़ देगा और पर्सनल डेटा को सुरक्षित करेगा।


कैसे काम करेगा टू स्टेप वैरिफिकेशन


पासवर्ड दर्ज करने के बाद, आपको फोन पर दूसरा चरण पूरा करना होगा। लॉग इन करते समय अपने फोन को संभाल कर रखें।

टू – स्टेप वैरिफिकेशन 

स्टेप 1: अपना Google खाता खोलें
स्टेप 2: नेविगेशन पैनल में, सुरक्षा चुनें
स्टेप 3: Google में साइन इन करने के ऑप्शन के तहत टू स्टेप वेरिफिकेशन का चयन करें
स्टेप 4: ऑन-स्क्रीन स्टेप्स का पालन करें।

इसे 'टू स्टेप वैरिफिकेशन' इसलिए कहा जाता है, क्योंकि अपने अकाउंट को लॉगिन करने के लिए दो स्टेप चलना होता है। पहले में अपना सही पासवर्ड डालना होता है और दूसरे में ओटीपी डालना होता है।


'टू स्टेप वैरिफिकेशन' का सबसे बड़ा फायदा ये है कि आपके गूगल अकाउंट को आपकी मर्जी के बिना कोई भी दूसरा इस्तेमाल नहीं कर पाएगा।


टीम स्टेट टुडे




70 views0 comments
bottom of page