google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

किसान राजनीति में नया मोड़ विनम्र शास्त्री राष्ट्रीय लोकदल में शामिल, जयंत चौधरी ने किया स्वागत



राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी की उपस्थिति में भारत के भूतपूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय लाल बहादुर शास्त्री के पौत्र विनम्र शास्त्री राष्ट्रीय लोकदल में शामिल हुए। विनम्र शास्त्री कई वर्षों से लाल बहादुर शास्त्री मेमोरियल फाउंडेशन के अध्यक्ष है। अपनी अध्यक्षता में इन्होंने किसान, जवान व समाज के गरीब वर्गों के उत्थान के लिए सकारात्मक कार्य किए है। संस्था की 21 सलाम मुहिम के तहत इन्होंने परमवीर चक्र विजेताओं के यश और वीरता की कहानियां घर घर पहुंचाई है। विनम्र शास्त्री, श्री लाल बहादुर शास्त्री जी के विचारों को आगे बढ़ाते हुए किसान, जवान व गरीब तबके के उत्थान हेतु आज सक्रिय राजनीति में प्रवेश कर रहे हैं। अपने सामाजिक कार्यों के साथ विनम्र शास्त्री ने पिछले कई वर्षों से भारतीय कॉरपोरेट जगत में कई कंपनियों को स्थापित करने का भी काम किया है। विनम्र शास्त्री ने कई कंपनियों के नेतृत्व वाले महत्वपूर्ण पदों पर रहते हुए अपनी जिम्मेदारी का बखूबी निर्वाह किया है।



इस दौरान राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी ने कहा कि " लाल बहादुर शास्त्री जी और चौधरी चरण सिंह जी को आज भी ग्रामीण भारत में आदर्श के रूप में देखा जाता है।


दोनों परिवारों ने पहले भी साथ मिलकर राजनीतिक यात्रा तय की है। मेरे विनम्र शास्त्री और उनके परिवार के साथ बहुत पुराने करीबी रिश्ते रहे है। मुझे खुशी है कि आज विनम्र शास्त्री जी अपनी राजनीतिक पारी को आगे बढ़ाने राष्ट्रीय लोकदल में शामिल हुए है। अर्थव्यवस्था से जुड़े नीतिगत सुझाव व राजनीतिक रणनीति के निर्माण में विनम्र शास्त्री जी अपना विशेष योगदान राष्ट्रीय लोकदल को देंगे"



राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय प्रवक्ता इंदरजीत टीटू ने बताया कि जयंत चौधरी ने जब विनम्र शास्त्री के पार्टी ज्वाइन करने की सूचना दी तो राष्ट्रीय लोक दल के प्रत्येक कार्यकर्ता और सभी नेताओं में खुशी की लहर दौड़ गई। पार्टी में विनय शास्त्री जी के आने से पूरी पार्टी और मजबूत होगी। जयंत चौधरी और विनम्र शास्त्री के साथ आने से पार्टी को ताकत मिलेगी।


टीम स्टेट टुडे


विज्ञापन

16 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0