हीनियस क्राइम में नहीं होनी चाहिए ढिलाई – क्यों और किससे बोले राज्यमंत्री लाखन सिंह राजपूत



बांदा। राज्यमंत्री कृषि, कृषि शिक्षा एवं कृषि अनुसंधान व जिले के प्रभारी मंत्री लाखन सिंह राजपूत ने बुधवार को कलेक्ट्रेट सभागार में जिले के आला अफसरानों के साथ विकास कार्यों तथा कानून व्यवस्था की समीक्षा की। जिसमें उन्होंने शासन द्वारा संचालित योजनाओं के क्रियान्वयन में हर स्तर पर पारदर्शिता सुनिश्चित करने तथा शासन की योजनाओं का लाभ पात्र व्यक्तियों को प्रदान कराने के निर्देश दिये।


मंत्री लाखन सिंह ने मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित किया कि अन्ना पशुओं को गौवंश आश्रय स्थलों में रखने का कार्य प्राथमिकता पर किया जाए। उन्होंने यह भी जानकारी प्राप्त की कि कितने गौवंश संरक्षित हैं। मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी द्वारा बताया गया कि 39467 गौवंश संरक्षित हैं। मंत्री जी ने कहा कि गौवंश दो चीजों को प्रभावित करती है। प्राकृतिक खेती की तरफ किसानों को प्रेरित करें और सभी गौवंशों की ईयर टैगिंग प्राथमिकता से करायें।


प्रभारी मंत्री राजपूत ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिये कि प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अन्तर्गत आयुष्मान भारत (गोल्डन कार्ड) गरीब एवं पात्र व्यक्तियों के ही बनाये जायें ताकि इस योजना का लाभ प्रत्येक गरीब तबके के व्यक्तियों को मिल सके। इसके पश्चात धान खरीद की समीक्षा की गयी जिसमें बताया गया कि 65 क्रय केन्द्र जनपद में स्थापित हैं। उन्होंने खाद्य विपणन अधिकारी को निर्देशित किया कि शीघ्र शेष किसानों का भुगतान करायें। उन्होंने जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देशित किया कि जनपद में जो कोटे की दुकाने रिक्त हैं उनको मानक के अनुरूप शीर्घ्र आवंटित कराया जाए जिनके राशन कार्ड अभी तक नही बने हुए हैं उनके कार्ड कैम्प लगाकर प्राथमिकता से बनाये जायें।


आधार फीडिंग तथा सीडिंग के कार्यों में भी प्रगति लायी जाये। इसी प्रकार जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देशित किया कि गुणवत्ता के आधार पर कार्य किया जाए। प्रधानमंत्री शहरी आवास की समीक्षा के दौरान मंत्री ने पी0ओ0 डूडा को निर्देशित किया कि पात्र व्यक्ति किसी भी हालत में छूटना नही चाहिए और क्रास चेकिंग भी करायी जाए एवं किसी भी अपात्र व्यक्ति को इस योजना का लाभ नही दिया जाए। इसी तरह राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन में डी0सी0 एन0आर0एल0एम0 के द्वारा बताया गया कि हमारे जनपद में स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के द्वारा अच्छा कार्य किया गया है। चाहे बिजली बिल कलेक्शन हो, नरैनी में दाल मिल तथा साबुन बनाने का कार्य, बडोखर में चने की दाल, बबेरू में चप्पल बनाने का कार्य। इसी प्रकार जनपद की 469 ग्राम पंचायतों में टेªनिंग देकर उपरोक्त कार्य किये जा रहे हैं।


जल जीवन मिशन के अन्तर्गत अपर जिलाधिकारी नमामि गंगे ने जानकारी देते हुए मंत्री को बताया कि खटान ग्राम समूह पाइप पेयजल परियोजना तथा अम्लीकौर से बहुत जल्द जनपद बांदा लाभान्वित होगा और पानी की किल्लत से मुक्त होगा। मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना, शिक्षा एवं विद्युत की समीक्षा के दौरान अधिशासी अभियंता विद्युत ग्रामीण से मंत्री ने किसान फीडर पेयजल की स्थिति की जानकारी प्राप्त की और निर्देशित किया कि कटौती का समय ज्यादा नही होना चाहिए जिसमें अधिशासी अभियंता के द्वारा बताया गया कि नये विद्युत तार न होने के कारण बिजली कटौती का सामना करना पड रहा है। मंत्री ने कहा कि इस समस्या का समाधान शीघ्र कराया जाए। सरकारी नलकूपों में ऊर्जीकरण की भी जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि किसानों को किसी भी प्रकार की समस्या नही आनी चाहिए अन्यथा सम्बन्धित अधिकारी कार्यवाही के लिए तैयार रहें। जनर्प्रतिनिधियों के द्वारा यह शिकायत की गयी कि बिना मीटर लगाये बिल आ जा रहा है और इसका संशोधन भी नही किया जाता। यह बहुत ही गम्भीर समस्या है। मंत्री अधिशासी अभियंता विद्युत को निर्देशित किया कि इस प्रकार की समस्या की पुनरावृत्ति न हो अपने कार्यों में सुधार लाये। सरकार के लक्ष्य के अनुरूप ही कार्य किया जाए।


कानून व्यवस्था की समीक्षा करते हुए मंत्री ने पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिये कि हीनियश क्राइम तथा महिला सम्बन्धी मामलों में ढिलाई न बरती जाए। इनवेस्टीकेशन स्पीडिंग की भी जानकारी प्राप्त की एवं पॉस्को एक्ट के तहत दर्ज मुकदमों की समीक्षा प्रतिमाह करने के निर्देश दिये तथा कहा कि हमारा लक्ष्य है अपराध को नियन्त्रण करना एवं अपराधी में पुलिस का भय पैदा करना ताकि अपराधी अपराध न कर सके।


जिलाधिकारी आनंद कुमार सिंह ने प्रभारी मंत्री को आश्वासन दिलाया कि कानून व्यवस्था एवं विकास कार्यो संबंधी निर्देशों का पूर्णतयः अनुपालन किया जायेगा।


बैठक में जिला भाजपा अध्यक्ष रामकेश निषाद, पुलिस अधीक्षक सिंद्धार्थ शंकर मीणा, ज्वाइंट मजिस्टेªट/उप जिलाधिकारी सदर सुधीर कुमार, मुख्य विकास अधिकारी हरिश्चन्द्र वर्मा, नगर मजिस्टेªट केशव नाथ, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ0 एन0डी0शर्मा, प्रभागीय वनाधिकारी संजय अग्रवाल, परियोजना निदेशक डी0आर0डी0ए0 आर0पी0मिश्र, बी0जे0पी0 के पदाधिकारी दिलीप गुप्ता, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी संजीव बघेल सहित सभी जनपद स्तरीय अधिकारी तथा जनप्रतिनिधिगण उपस्थित रहे।



संदीप तिवारी, संवाददाता, बांदा
संदीप तिवारी, संवाददाता, बांदा

रिपोर्ट - संदीप तिवारी, बांदा

टीम स्टेट टुडे




















विज्ञापन
विज्ञापन