google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

मोस्ट वांटेड खालिस्तान आतंकी परमजीत की मौत, पाक में बाइक सवारों ने बरसाई गोलियां


नई दिल्ली, 6 मई 2023 : पाकिस्तान के लाहौर से आज एक बड़ी ख़बर सामने आ रही है। दरअसल, बाइक सवारों ने आतंकी संगठन खालिस्तान कमांडो फोर्स (KCF) के चीफ परमजीत सिंह पंजवड़ की हत्या कर दी है।

बाइक सवारों ने बरसाई गईं गोलियां, मौके पर ही मौत

सुबह 6 बजे बाइक पर आए दो लोगों ने पंजवड़ पर यह हमला किया और फरार हो गए। हमलाववरों ने जौहर कस्बे की सनफ्लावर सोसाइटी में घुसकर पंजवड़ को गोलियां मारी, जिसके बाद उसकी मौके पर ही मौत हो गई। वह 1990 से ही पाकिस्तान में शरण लेकर मलिक सरदार सिंह के नाम से रह रहा था।

पंजवड़ की कोई लेटेस्ट फोटो उपलब्ध नहीं

करीब तीन दशक से पाकिस्तान में शरण लिए बैठा परमजीत सिंह की पंजाब पुलिस के पास कोई लेटेस्ट फोटो नहीं है। जबकि उसका नाम मोस्ट वांटेड आतंकियों की लिस्ट में है। पुलिस के पास उसकी 35 साल पुरानी तस्वीरें ही हैं, जो उसके घर से बरामद हुई थीं।

टॉप 9 आतंकियों की सूची में शामिल

जानकारी के अनुसार पंजाब में तरनतारन जिले के झब्बाल थाने के तहत आते पंजवार गांव का रहने वाला परमजीत सिंह पंजवड़ पाकिस्तान से ड्रोन के जरिये पंजाब में ड्रग और हथियारों की तस्करी में शामिल था। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने वर्ष 2020 में टॉप 09 आतंकियों की लिस्ट जारी की थी, जिसमें परमजीत सिंह पंजवड़ का नाम 8वें नंबर पर था। इस लिस्ट में उसके अलावा बब्बर खालसा इंटरनेशनल (BKI) के चीफ वधावा सिंह बब्बर का नाम भी था जो तरनतारन में ही दासूवाल गांव का रहने वाला है।

लाभ सिंह की मौत के बाद संभाली KCF की कमान

परमजीत पंजाब में आतंकवाद के दौरान 1986 में अपने चचेरे भाई लाभ सिंह के साथ खालिस्तान कमांडो फोर्स (KCF) में शामिल हो गया था। उससे पहले वह पंजाब के ही सोहल में कोऑपरेटिव बैंक में काम करता था। भारतीय सुरक्षा बलों के हाथों लाभ सिंह के खात्मे के बाद, 1990 में पंजवड़ ने KCF की कमान संभाली और पाकिस्तान भाग गया और वहीं बस गया। हालांकि, पाकिस्तानी सरकार पंजवड़ के उनके यहां होने से इंकार करती रही है। परमजीत की पत्नी और बच्चे जर्मनी में रहते हैं।

1 view0 comments

Comentarios


bottom of page