google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

गैंगवार के बाद मुख्तार और उसके गुर्गों को लग रहा है डर–जानिए कहां कहां से आ रहे फोन बांदा जेल में





रगौली जेल के ट्रिपल मर्डर से मुख्तार अंसारी की धड़कनें तेज
कड़ी की गई मुख्तार अंसारी की सुरक्षा, फिक्रमंद पूछ रहे हालचाल


पहले बागपत जेल में खास शूटर मुन्ना बजरंगी की गोली मारकर हत्या और अब चित्रकूट की रगौली जेल मे शार्प शूटर मुकीम काला और मेराजुद्दीन की हत्या के बाद मंडल कारागार में निरुद्ध माफिया डान मुख्तार अंसारी की धड़कनें तेज हो गईं। मुख्तार अंसारी पहले भी मंडल कारागार में अपनी हत्या की आशंका जता चुका है। ऐसे में जेल प्रशासन पूरी तरह अलर्ट हो गया है। मुख्तार अंसारी के बैरक की सुरक्षा और कड़ी कर दी गई है। पहले से ही उसकी बैरक में कैमरा मैन सिपाहियों को तैनात कर रखा गया है।


बता दें कि कभी मुख्तार अंसारी के खास शूटर रहे मुन्ना बजरंगी की बीते तीन साल पहले 9 जुलाई 2018 को बागपत जेल में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस शूटर के मर्डर में तत्कालीन जेलर उदय प्रताप सिंह को बर्खास्त कर दिया गया था। मुन्ना बजरंगी और उसकी पत्नी ने अदालत के जरिए अपनी हत्या की आशंका जताई थी। मुन्ना बजरंगी के मर्डर से बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के माथे पर चिंता की लकीरें खिंच गई थीं। पंजाब की रूपनगर जेल से बीती सात अप्रैल को बांदा जेल लाए गए मुख्तार अंसारी ने मंडल कारागार में खुद की जान का खतरा बताया था।


अब जबकि चित्रकूट में उसके दो खास शूटरों मुकीम काला और मेराजुद्दीन का मर्डर कर दिया गया है तो बाहुबली मुख्तार अंसारी का चिंतित होना लाजमी है। वैसे भी मंडल के बांदा और चित्रकूट जेल में पूर्वांचल के तमाम अपराधी निरुद्ध हैं। तमाम का जेल तबादला भी हो चुका है। रगौली जेल की घटना ने यह तो साबित कर दिया है कि बुंदेलखंड मे पूर्वांचल के माफियाओं और शूटरों की कितनी तगड़ी पैठ है। सूत्रों की माने तो रगौली की घटना के बाद मुख्तार अंसारी के करीबियों और जान पहचान वालों के फोन घनघना रहे हैं।


सभी जेल में बंद मुख्तार अंसारी का हालचाल जानना चाह रहे हैं। वैसे भी पिछले दिनों जांच के दौरान मुख्तार अंसारी कोरोना पाजिटिव पाए गए थे। ऐसे में उनके फिक्रमंद पंजाब, आंध्रप्रदेश और यूपी के तमाम जिलों से मंडल जेल मे फोन मिला रहे हैं। हालांकि बीती 12 मई को आरटीपीसीआर रिपोर्ट नगेटिव आने के बाद मुख्तार अंसारी पूरी तरह से स्वस्थ्य बताए जा रहे हैं। इस मामले में जेल प्रशासन का कहना है कि मुख्तार का हालचाल जानने के लिए फोन जरुर आ रहे हैं, लेकिन किसी से मुख्तार की बात नहीं कराई गई। न ही जेल संबंधी किसी तरह की जानकारी दी जा रही है।


टीम स्टेट टुडे


विज्ञापन
विज्ञापन


100 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0