google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

मुसलमान कांग्रेस के साथ आ जाए तो फिर भाजपा दो सीटों पर पहुँच जाएगी- नसीमुद्दीन सिद्दीकी



- बस्ती और संत कबीरनगर के उलेमाओं के साथ अल्पसंख्यक कांग्रेस की वर्चुअल मीटिंग में बोले 
  नसीमुद्दीन सिद्दीकी
- हर ज़िले के उलेमाओं के साथ होगी वर्चुअल मीटिंग- शाहनवाज़ आलम
- उलेमाओं के सुझाव सौंपे जायेंगे प्रियंका गांधी को- तौकीर आलम



मुसलमान कांग्रेस की तरफ आ जाए तो भाजपा से पीड़ित सभी जातियों और धर्म के लोग कांग्रेस में आ जायेंगे. चुनाव में जब कांग्रेस मजबूत रहती है तो भाजपा के लिए चुनाव को सांप्रदायिक बनाना मुश्किल होता है. मुसलमानों को अपनी आने वाली पीढ़ियों की सुरक्षा के लिए कांग्रेस के साथ आना होगा. भाजपा सरकारों द्वारा संविधान पर हमले का विरोध नहीं कर पाएंगी सपा और बसपा.


ये बातें पूर्व मन्त्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने अल्पसंख्यक कांग्रेस द्वारा आयोजित बस्ती ज़िले के उलेमाओं के साथ वर्चुअल मीटिंग में कहीं. उन्होंने कहा कि आज़ादी की लड़ाई में उलेमाओं की सबसे अहम भूमिका थी. आज फिर उलेमाओं को जम्हूरियत और धर्म निरपेक्षता बचाने के लिए आगे आना होगा.

प्रियंका गांधी के सलाहकार कमेटी के सदस्य नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने कहा कि जब मुसलमान कांग्रेस के साथ था तो भाजपा की सिर्फ़ दो सीटें हुआ करती थीं. अगर फिर से मुसलमान कांग्रेस में आ जाए तो भाजपा फिर 2 सीटों पर पहुँच जाएगी.


अल्पसंख्यक कांग्रेस के प्रदेश चेयरमैन शाहनवाज़ आलम ने कहा कि हर ज़िले में उलेमाओं के साथ बैठकों का दौर शुरू होगा. जिसकी शुरुआत हुई है.


अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रभारी सचिव तौकीर आलम ने कहा कि उलेमाओं के साथ बैठकों में आए सुझाओ को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को सौंपा जाएगा जिसे चुनाव घोषणा पत्र में शामिल किया जाएगा.


टीम स्टेट टुडे


विज्ञापन
विज्ञापन

42 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0