google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

भारत में बना दुनिया का सबसे बड़ा स्टेडियम, उद्घाटन, आश्चर्य, विवाद, सियासत और खेल



दुनिया का सबसे बड़ा स्टेडियम अब भारत में है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गुजरात के मोटेरा स्टेडियम का उद्घाटन किया। इस मौके पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, गुजरात के राज्यपाल आचार्य देवव्रत, खेल मंत्री किरेन रिजिजू और बीसीसीआई सचिव जय शाह भी मौजूद रहे।


अब तक दुनिया का सबसे बड़ा ग्राउंड आस्ट्रेलिया का मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड था। आज भारत के लिए गर्व का पल है जब मोटेरा का 1 लाख 32 हजार सीटर स्टेडियम दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम है।


गुजरात के अहमदाबाद में बने दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम का नाम बदलकर 'नरेंद्र मोदी स्टेडियम' कर दिया गया है। इससे पहले इसे सरदार पटेल क्रिकेट स्टेडियम (मोटेरा) के नाम से जाना जाता था।



क्या कहा राष्ट्रपति ने


राष्ट्रपति ने कहा, 'मुझे पूरा विश्वास है कि आने वाले समय में सरदार वल्लभभाई पटेल स्पोर्ट्स एन्क्लेव अहमदाबाद शहर को स्पोर्ट्स इन्फ्रास्ट्रक्टर की दृष्टि से पूरे विश्व में एक नई पहचान दिलाएगा।' राष्ट्रपति ने आगे कहा, 'मुझे बताया गया है कि यह स्टेडियम विश्व में सबसे बड़ा होने के साथ-साथ सुविधाओं की दृष्टि से भी सर्वश्रेष्ठ है। इस अत्याधुनिक और भव्य स्टेडियम की परिकल्पना व निर्माण-योजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा तभी पूरी कर ली गई थी जब वे गुजरात के मुख्यमंत्री थे।'



खेल परिसर का निर्माण कार्य जारी


राष्ट्रपति ने इस मौके पर स्टेडियम में खेल परिसर के निर्माण कार्य की शुरुआत के समारोह में भी भाग लिया। इसका नाम सरदार पटेल खेल परिसर होगा और इसमें फुटबॉल, हॉकी, बास्केटबॉल, कबड्डी, मुक्केबाजी जैसे खेलों की सुविधाएं होंगी। करीब 63 एकड़ से अधिक परिसर में फैले इस स्टेडियम की दर्शक क्षमता एक लाख 10 हजार है और इस पर 800 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं।


कैसा है दुनिया का सबसे बड़ा स्टेडियम

यह स्टेडियम 63 एकड़ में फैला है, जिसमें तीन एंट्री गेट्स हैं।
इस स्टेडियम में 1,32,000 दर्शकों के बैठने की क्षमता है।
विश्व के सबसे बड़े स्टेडियम में तीन प्रैक्टिस ग्राउंड्स, क्लब हाउस, ओलंपिक साइज स्विमिंग पूल और एक इनडोर क्रिकेट एकेडमी भी बनाई गई है।
स्टेडियम का स्ट्रक्चर ऐसा है कि जब भी कोई खिलाड़ी बाउंड्री मारे तो स्टेडियम में बैठने वाला हर क्रिकेट प्रेमी उस बाउंड्री को देख पाए।
यह दुनिया में एकमात्र स्टेडियम है, जिसमें अभ्यास और सेंटर पिच के लिए एक ही मिट्टी का इस्तेमाल किया गया है। यहां बेहतर दृश्यता और परछाई को दूर करने के लिए पूरी गोलाकर छत पर एलईडी लाइट लगी है।'
दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम में 11 सेंटर पिचें हैं, यह दुनिया में एकमात्र स्टेडियम हैं, जिसमें मुख्य मैदान पर 11 सेंटर पिचें हैं।
स्‍टेडियम में पिचें लाल और काली मिट्टी की है। 
यह दुनिया का इकलौता ऐसा स्टेडियम है जिसमें मुख्य और अभ्यास पिचों पर एक सी मिट्टी है।
यह दुनिया का पहला क्रिकेट स्टेडियम है जिसमें जिम सहित चार विश्वस्तरीय ड्रेसिंग रूम हैं।
इसके अलावा 25 लोगों की क्षमता वाले 76 कॉर्पोरेट बॉक्स बनाए गए हैं।
यहां मैदान में घास के नीचे रेत का इस्तेमाल किया गया है जिसकी मदद से भारी बारिश के बावजूद मैच कुछ ही घंटे में दोबारा से शुरू हो सकता है। 
स्‍टेडियम का ड्रेनेज सिस्टम ऐसा है कि बारिश के बाद पानी निकालने के लिये सिर्फ 30 मिनट लगेंगे।
कार और स्कूटर की पार्किंग व्यवस्था की गई है। जिसमें 4 हजार कार और 10 हजार दो पहिया वाहन की पार्किंग की व्यवस्था है।
डे-नाइट मैच में नहीं आएगी परछाई की परेशानी
यहां LED लाइट को छत के साथ ही फिक्‍स किया गया है जिसका फायदा ये होगा कि मैदान पर किसी तरह की परछाई नहीं बनेगी। दुनिया के सबसे बड़े इस स्‍टेडियम में चार-चार ड्रेसिंग रूम है।
आपके लिए यह भी जानना जरुरी है कि नरेंद्र मोदी स्टेडियम असल में सरदार पटेल स्पोर्ट्स एनक्लेव का एक छोटा सा हिस्सा भर है। 


कैसा है सरदार पटेल स्पोर्ट्स एनक्लेव


सरदार पटेल स्पोर्ट्स एनक्‍लेव में दुनिया के सभी खेलों की व्यवस्था होगी। यहां 3,000 बच्चों के एक साथ खेलने और रहने की व्यवस्था यहां होगी। ये पूरा एनक्लेव 236 एकड़ में फैला है।



सरदार पटेल स्‍पोर्ट्स एनक्‍लेव में क्‍या-क्‍या?


- दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्‍टेडियम
- नाटाटोरियम
- एथलेटिक्‍स/ट्रैक ऐंड फील्‍ड/फुटबॉल स्‍टेडियम
- फील्‍ड हॉकी ऐंड टेनिस स्‍टेडियम
- इनडोर स्‍पोर्ट्स हॉल्‍स/एरीना
- आउटडोर फील्‍ड्स
- वेलड्रोम/स्‍केटिंग एरिया
- बीच वॉलीबाल फैसिलिटी
- बोटिंग सेंटर


सरदार पटेल स्पोर्ट्स एनक्लेव में दर्शक क्षमता

- क्रिकेट स्‍टेडियम की दर्शक क्षमता 1.32 लाख है। 
- फुटबॉल और ट्रैक ऐंड फील्‍ड स्‍पोर्ट्स के लिए जो स्‍टेडियम बनेगा, उसकी सीटिंग कैपासिटी 50,000 लोगों की होगी। 
- 12,000 और 15,000 दर्शक क्षमता वाले दो इनडोर स्‍टेडियम भी तैयार किए जाएंगे। 
- हॉकी के जादूगर ध्‍यानचंद के नाम पर एक हॉकी स्‍टेडियम भी बनाया जाएगा।


भारत में नेताओं के नाम पर कहां कौन सा स्टेडियम


अहमदाबाद स्थित दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम का नाम नरेंद्र मोदी स्पोर्ट्स स्टेडियम इतिहास में दर्ज हो चुका है। यह कोई पहला मौका नहीं है जब खेल स्टेडियमों खासकर क्रिकेट स्टेडियम का नाम किसी राजनेता के नाम पर रखा गया है। क्रिकेटरों के नाम पर देश में भले ही कोई इंटरनैशनल स्टेडियम न हो लेकिन नेताओं, खेल प्रशासकों और ब्रिटिश राज के अधिकारियों के नामों पर जरूर हैं।


जवाहर लाल नेहरू के नाम पर 9 स्टेडियम


पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के नाम पर देश में 9 स्टेडियम हैं। इनमें से 8 में घरेलू और इंटरनैशनल मैच खले जा चुके हैं जो हैं- नई दिल्ली, चेन्नई, कोच्चि, इंदौर, गुवाहाटी, मरागो, पुणे और गाजियाबाद।





राजीव गांधी के नाम पर स्टेडियम, इंदिरा गांधी के नाम पर 3 एरिना


पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के नाम पर हैदराबाद स्थित क्रिकेट स्टेडियम का नाम रखा गया है जहां प्रवेश द्वार पर पूर्व पीएम का आदम कट पोर्ट्रेट लगाया गया है। उन्हीं के नाम पर देश के सर्वोच्च खेल पुरस्कार का भी नामकरण किया गया है। उनके नाम पर हैदराबाद, देहरादून और कोच्चि के एरिना का भी नामकरण हुआ है। पूर्व पीएम इंदिरा गांधी के नाम पर भी देश में 3 एरिन हैं- गुवाहाटी, नई दिल्ली और विजयवाड़ा।





अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर 2 स्टेडियम


पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के भी नाम पर 2 क्रिकेट स्टेडियम हैं- एक लखनऊ और दूसरा हिमाचल प्रदेश के नादौन में। इसी तरह सरदार वल्लभ भाई पटेल के नाम पर वलसाड में स्टेडियम है। अहमदाबाद का क्रिकेट स्टेडियम भी पहले उन्हीं के नाम पर था।



फिरोज शाह कोटला अब अरुण जेटली स्टेडियम


2019 में नई दिल्ली के फिरोज शाह कोटला स्टेडियम का नाम बदलकर अरुण जेटली स्टेडियम किया गया। इसी मैदान पर अनिल कुंबले ने टेस्ट की एक पारी में सभी 10 विकेट अपने नाम करने का इतिहास रचा था।



क्रिकेटर के नाम पर एक भी स्टेडियम नहीं, प्रशासकों के नाम पर जरूर


खास बात यह है कि भारत में किसी भी क्रिकेटर के नाम पर कोई भी क्रिकेट स्टेडियम नहीं है। हालांकि, क्रिकेट प्रशासकों के नाम पर स्टेडियमों का नामकरण जरूर हुआ है जैसे चेन्नई का एमए चिदंबरम स्टेडियम, बेंगलुरु का चिन्नास्वामी, मुंबई का वानखेड़े और मोहाली का आईएस बिंद्रा स्टेडियम।



ब्रिटिश राज के अधिकारी, बहनों के नाम पर क्रिकेट स्टेडियम


रोचक जानकारी ये है कि ब्रिटिश राज के अधिकारियों के नाम पर भी देश में क्रिकेट स्टेडियम हैं। मुंबई का ब्रेबोर्न स्टेडियम बॉम्बे के गवर्नर जनल रहे लॉर्ड ब्रेबोर्न के नाम पर है। इसी तरह कोलकाता का ऐतिहासिक ईडन गार्डंस का नाम ब्रिटिश भारत के गवर्नर जनरल रहे लॉर्ड ऑकलैंड की बहनों एमिली ईडन और फैनी ईडन के नाम पर है।



हॉकी दिग्गजों के नाम पर 2 क्रिकेट स्टेडियम


क्रिकेटरों के नाम पर भले ही स्टेडियम न हो लेकिन खेलप्रेमियों के लिए थोड़ी सुकून की बात यह जरूर हो सकती है कि हॉकी के दो दिग्गजों के नाम पर देश में दो क्रिकेट स्टेडियम हैं। एक है लखनऊ का केडी सिंह बाबू स्टेडियम और दूसरा ग्वालियर का कैप्टन रूप सिंह स्टेडियम।


टीम स्टेट टुडे



विज्ञापन
विज्ञापन

33 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0