google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार ने शिवसेना को तोड़ा, रामदास कदम का बड़ा आरोप


लखनऊ, 19 जुलाई 2022 : महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री रामदास कदम ने मंगलवार को NCP प्रमुख शरद पवार पर निशाना साधा। सोमवार को शिवसेना से बर्खास्त किए गए रामदास कदम ने आज आरोप लगाया कि शिवसेना को तोड़ने वाले शरद पवार हैं। मंत्री ने दावा किया कि पवार ने योजनाबद्ध तरीके से शिवसेना को कमजोर किया। कुछ विधायकों ने इसके लिए ठाकरे को चेताया भी था लेकिन वे पवार के खिलाफ कुछ भी सुनने को राजी नहीं थे। बता दें कि मंत्री ने यह दावा एक टीवी चैनल के साथ बातचीत के दौरान किया।

साथ ही कदम ने बागियों को लेकर दोबारा विचार करने की भी अपील की। पूर्व मंत्री ने कहा, 'उद्धवजी, आपको इस बात पर विचार करना चाहिए कि शिंदे को वापस पार्टी में कैसे शामिल किया जाए।' पिछले माह शिंदे ने जब पार्टी से बगावत की थी तब रामदास कदम के बेटे योगेश कदम ने भी इसमें साथ दिया था। योगेश कदम रत्नगिरी जिले के दापोली से विधायक हैं। वहीं NCP अभी भी उद्धव ठाकरे की शिवसेना के साथ है।

NCP ने किया खंडन

कदम के इस बयान का खंडन NCP के मुख्य प्रवक्ता महेश तपासे ने की और दावा किया कि शिवसेना में टूट के पीछे भाजपा का हाथ है और बागी विधायक पवार पर निशाना साध ध्यान दूसरी ओर करने की फिराक में हैं। ठाकरे की अगुवाई में महाविकास अघाड़ी (MVA) सरकार बनी थी जिसमें सेना, NCP और कांग्रेस शामिल थी। यह सरकार पिछले माह शिंदे समेत 39 विधायकों के बगावत के बाद गिर गई।

शिवसेना को तोड़ रहे शरद पवार, पूर्व मंत्री का दावा

कदम ने कहा, 'मैंने उद्धवजी को पर्याप्त सबूत दे दिए हैं कि किस तरह NCP प्रमुख शरद पवार शिवसेना को तोड़ रहे हैं।' रामदास कदम ने कहा, 'हमें शुक्रगुजार होना चाहिए कि मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे की अगुवाई में यह बगावत ठाकरे सरकार के ढाई साल के शासन में ही हो गया। अन्यथा पांच साल के कार्यकाल के बाद सेना खत्म हो जाती। आगामी विधानसभा चुनाव में पांच-दस विधायकों की जीत भी नहीं हो पाती।'

पूर्व मंत्री ने दिवंगत बालासाहेब ठाकरे का हवाला दिया और कहा कि यदि वे आज जिंदा होते तो उद्धव ठाकरे को NCP व कांग्रेस के सहयोग से सरकार बनाने की इजाजत नहीं देते। साथ ही यह भी कहा कि साल 2019 में उद्धव ठाकरे जब कांग्रेस और NCP के साथ मिलकर सरकार बना रहे थे तब भी उन्होंने विरोध जताया था।

शिवसेना अध्यक्ष ने कदम को पार्टी से किया बर्खास्त

शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने सोमवार को वरिष्ठ नेता रामदास कदम और पूर्व सांसद आनंदराव अडसुल को पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के आरोप में पार्टी से बर्खास्त कर दिया। महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री कदम ने शिवसेना नेता के तौर पर इस्तीफा दिया। ठाकरे ने सोमवार शाम को कदम और अडसुल को बर्खास्त करने की घोषणा की।कदम ने अपने पत्र में शिवसेना, NCP और कांग्रेस के बीच 2019 के चुनाव के बाद के गठबंधन पर अपनी पीड़ा व्यक्त की, जिसे उन्होंने शिवसेना के संस्थापक, दिवंगत बाल ठाकरे के विचारों के साथ विश्वासघात करार दिया।

1 view0 comments

Comments


bottom of page