google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

न मिले खून के निशान, न ही हवेली में जाने की पुष्टि


लखनऊ, 9 मई 2023 : कैंट में कस्तूरबा पार्क के पास स्थित पुरानी हवेली में रहने वाले सेवानिवृत्त लेफ्टीनेंट कर्नल केशव गोयल पर हुए हमले के मामले में पुलिस को साक्ष्य नहीं मिले। घटना को लेकर पुलिस भी चकराई हुई है। पुलिस को मौके पर न तो खून के निशान मिले हैं और न ही किसी व्यक्ति के हवेली के अंदर जाने की अबतक पुष्टि हो सकी है। पुलिस ने घटना स्थल के आस पास और मार्ग पर लगे सीसी कैमरों की पड़ताल की तो उसमें भी कोई दिख रहा है।

सैन्य अधिकारी बोले सफेद लिबास में था हमलावर

इंस्पेक्टर राजकुमार सिंह वहीं, सैन्य अधिकारी केशव गोयल का कहना है कि हमला करने वाला सफेद लिबास में विशालकाय पुरुष था। वह काले रंग का था। हाथ में लोहे का राड लिए था। सैन्य अधिकारी ने कहा कि हमलावर तलवार लिए हुए थे। अगर तलवार का वार सिर पर होता तो सार्प इंजरी होती। मौके पर कहीं खून पड़ा होता पर वह भी नहीं मिला। इंस्पेक्टर ने बताया कि कई बिंदुओं के आधार पर जांच की जा रही है।

यह था मामला

इंस्पेक्टर ने बताया कि घटना 29 अप्रैल की है। अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद सैन्य अधिकारी ने सोमवार को तहरीर दी थी। जिसके आधार पर मुकदमा दर्ज किया गया। सैन्य अधिकारी की पत्नी की मृत्यु हो चुकी है। उनका बंगला बहुत पुराना है। कुछ एरिया में झाड़ियां खड़ी हैं। वह अकेले रहते हैं।

सैन्यअधिकारी के मुताबिक, उन पर देर रात किसी ने हमला किया था। इसके बाद उन्होंने नौकरानी को फोन किया। वह घरवालों के साथ पहुंची। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। इसके बाद हालत में सुधार होने पर उन्होंने पुलिस में सूचना देकर तहरीर दी थी।

0 views0 comments
bottom of page