google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

नुसरत जहां की शादी, अफेयर और गर्भ ! – लव जेहाद, चुनावी स्टंट, हनी ट्रैप, ममता का खेला या कुछ और ?



बॉलीवुड हो या हॉलीवुड। तमिल सिनेमा या बंगाली पिक्चर। कलाकारों से जुड़ी खबरें एक ही तरह की रहती है। अक्सर आप पढ़ते आए होंगे कि इस हिरोइन का अफेयर उस हीरो से चल रहा है। इस कलाकार का रिश्ता टूट गया। ये इसे डेट कर रहे हैं वो उनके साथ देखे गए वगैरह वगैरह।


लेकिन बंगाल का मामला कुछ ज्यादा ही आगे निकल गया है और बेहद रहस्यमय भी है।


तृणमूल कांग्रेस की सांसद नुसरत जहां को आप भूले तो नहीं होंगे। वही नुसरत जहां जिन्होंने उद्योगपति निखिल जैन से शादी रचाई थी। शादी के बाद नुसरत की मांग में सिंदूर भरी तस्वीरें, हवन यज्ञ की तस्वीरें, दुर्गा पूजा की तस्वीरें भी खूब वायरल हुईं।


नुसरत की शादी से लेकर हिंदू रीति-रिवाज का पालन करने वाली तस्वीरों ने ना सिर्फ सुर्खियां बटोरीं बल्कि नुसरत मुस्लिम कट्टरपंथियों के निशाने पर आ गईं और दूसरी तरफ हिंदूओं ने सहज भाव से ना सिर्फ नुसरत को गले लगाया बल्कि कई तो ऐसे थे जिन्होंने पलक-पांवड़े बिछा दिए।



अब नुसरत की शादी का भेद खुल रहा है। आप इस शादी के आगे-पीछे चल रहे रहस्यों को जानेंगे तो हैरान रह जाएंगे।


पहले आप ये जान लीजिए कि, मुस्लिम समुदाय से ताल्लुक रखने वाली एक्ट्रेस ने 19 जून 2019 को बिजनेसमैन निखिल जैन के साथ अचानक शादी रचाकर अपने फैंस को हैरान कर दिया था। नुसरत और निखिल ने तुर्की में शादी रचाई थी। वेडिंग रिसेप्शन कोलकाता में रखा था।


जब हम आपको ये बताएंगे कि नुसरत अभी किसके साथ हैं और क्यों हैं तो आप की हैरानी और बढ़ जाएगी। पहले निखिल और नुसरत की शादी का खेल समझिए।



क्या ये शादी लव जेहाद है


उद्योगपति निखिल का पूरा नाम निखिल जैन है। जैन समुदाय इस समय देश की पॉवरफुल लॉबी है और वर्तमान सरकार में सीधा और तेजतर्रार दखल है।


निखिल और नुसरत की मुलाकात लोकसभा चुनाव 2019 से ठीक पहले 2018 में एक सोची समझी रणनीति के तहत दुर्गापूजा के पंडाल में कराई गई। निखिल टेक्सटाइल का पारिवारिक बिजनेज संभालते हैं जिसका नाम रंगोली है। नुसरत इस ब्रांड की अम्बेस्डर बनी। निखिल की करीबियों से उन्हें लोकसभा चुनाव 2019 में फायदा मिला। अफेयर की खबरें आम हुईं तो हिंदू वोट भी झोली में जम कर गिरा। चुनाव में निखिल की फंडिंग भी काम आई।



काम आई रणनीति


नुसरत जब सांसद का चुनाव जीत गईं तो जून 2019 में निखिल से शादी की। शादी तुर्की में हुई जो कट्टर मुस्लिम देश है। शादी का रिसेप्शन कोलकाता में हुआ जहां 2021 में विधानसभा चुनाव होने थे।


आपको याद होगा यही वो समय था जब बीजेपी पश्चिम बंगाल के चुनाव में अपनी पूरी ताकत लगाए थी। ऐसे में तृणमूल के रणनीतिकारों ने हिंदू-मुस्लिम एकता की मिसाल के रुप में पेश की गई निखिल और नुसरत की जोड़ी को 2021 के बंगाल विधानसभा चुनाव तक इस्तेमाल करने का तय किया। ऐसा सूत्रों का दावा है।


तृणमूल के रणनीतिकारों की ये चाल भी काम कर गई। नुसरत जहां पश्चिम बंगाल चुनाव में ममता के साथ बराबर चलती देखीं गईं। यहां तक कि एक पैदल मार्च में बड़े घेरे में सिर्फ ममता और नुसरत ही चलीं।



गर्भवती है नुसरत जहां


अब बंगाल के विधानसभा चुनाव के नतीजे सबके सामने हैं। तृणमूल सत्ता में वापसी कर चुकी है। तो दूसरी तरफ हिंदुस्तान टाइम्स बांग्ला की एक रिपोर्ट के मुताबिक, टीएमसी सांसद नुसरत जहां प्रेग्नेंट हैं। नुसरत का छठा महीना चल रहा है। बंग्ला न्यूज चैनल ‘एबीपी आनंद’ ने दावा किया है कि, नुसरत जहां और निखिल जैन पिछले छह महीने से एक-साथ नहीं रह रहे हैं। वो दोनों काफी समय पहले ही अलग-अलग अलग हो गए हैं।


नुसरत जहां अपनी प्रेग्नेंसी न्यूज पर चुप्पी बनाए हुए हैं। उन्होंने ना तो सामने आकर इस न्यूज को सच बताया है और ना ही इस प्रेग्नेंसी न्यूज को गलत बता रही हैं। लेकिन नुसरत जहां के पति निखिल जैन ने एक्ट्रेस की प्रेग्नेंसी न्यूज पर खुलकर प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा है कि, वह बच्चा उनका नहीं है क्योंकि, नुसरत ने काफी समय से उनसे संपर्क भी नहीं किया है।



जानकार यहां तक कह रहे हैं कि 2019 के लोकसभा और 2021 के बंगाल विधानसभा चुनाव में नुसरत की निखिल से शादी और तमाम किस्से दरअसल मुस्लिम लव जेहाद है। जिसमें मुस्लिम लड़की ने हिंदू लड़के को फंसाकर शादी और अब उसकी जायदाद में हिस्सा लेकर किनारे होगी। ऐसे मुस्लिम अलतकैया कहलाते हैं। जो खुद को धर्म के बंधन से ऊपर दिखाते हुए धीरे-धीरे सामने वाले का धर्मपरिवर्तन कराते हैं और अगर दाल नहीं गलती तो माल-मिल्कियत लेकर अपना रास्ता अलग कर लेते हैं। नुसरत और निखिल ने इतनी बड़ी दुनिया में तुर्की में ही शादी इसी लिए की ताकि कट्टरपंथी मामले का इशारा समझ सकें और किसी तरह का बवाल ना करें। अगर इस मामले में ऐसा ना भी हुआ तो भी जानकार मानते हैं कि लव जेहाद को इस पूरे प्रकरण से बढ़ावा ही मिला है और बंगाल में ऐसे कारनामों को और हवा मिलेगी।



अब हनी ट्रैप का खेल बीजेपी नेता जाल में


अब एक और रिपोर्ट सामने आई है जिसमें दावा किया गया है कि, नुसरत बीजेपी उम्मीदवार और एक्टर यश दासगुप्ता को डेट कर रही हैं। ‘दैनिक जागरण’ की एक रिपोर्ट के अनुसार, नुसरत जहां और यश दासगुप्ता एक-दूसरे ना सिर्फ डेट कर रहे हैं बल्कि दोनों अजमेर शरीफ दरगाह गए थे और दोनों की तस्वीरों फैंस के बीच खूब वायरल भी हुई थीं। दोनों ने न्यू ईयर भी एक साथ ही सेलिब्रेट किया था। इसी वजह से माना जा रहा है कि, नुसरत और यश एक-दूसरे को डेट कर रहे हैं।



नुसरत और यश दासगुप्ता की नजदीकियों की पहली जानकारी 1 जनवरी 2021 के आस-पास आई। यही वो समय था जब बंगाल चुनाव की सरगर्मियां चरम पर जा रही थीं और बीजेपी लगातार तृणमूल को हर मोर्चे पर घेर रही थी। ऐसे में नुसरत ने बीजेपी उम्मीदवार और एक्टर यश दासगुप्ता को हनी ट्रैप में लेकर ना सिर्फ बीजेपी की रणनीतियां उगलवाईं होंगी बल्कि अजमेर शरीफ की तस्वीरें वायरल करके एक बार फिर हिंदुओं के वोट झटकने का दांव खेल दिया। नुसरत ने यश दासगुप्ता का भरोसा जीतने और बीजेपी के चुनावी राज जानने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी। ये खेला कितना गहरा रहा होगा इसका अंदाजा इसी बात से लगा लीजिए कि जून महीने में बताया जा रहा है कि नुसरत छ महीने की गर्भवती हैं।



ममता का खेला


नुसरत जहां अपने मुस्लिम होने और तृणमूल कार्यकर्ता होने का फर्ज एक साथ बहुत ही कट्टरता से निभाती दिख रही है। पहले निखिल से शादी और अब यश दासगुप्ता के साथ अफेयर यानी नुसरत ने अलतकैया बनकर जिस तरह हिंदू-मुस्लिम एकता की बात कहते हुए लव जेहाद को बढ़ावा दिया है उस पर बड़े-बड़े दांतो तले उंगली दबा रहे हैं। दूसरी तरफ बंगाल में चुनावी नतीजे आने के बाद से जिस तरह हिंदू आबादी पर अत्याचार बढ़ा है और करबी पांच लाख हिंदुओं को बंगाल से पलायन पर मजूबर कर दिया गया उसके बाद केंद्र सरकार के एक्शन की उम्मीदें बढ़ गई हैं। ऐसे में बीजेपी नेता यश दासगुप्ता से अफेयर केंद्र और बीजेपी के राज उगलवाने में अभी और काम करेगा।


टीम स्टेट टुडे


विज्ञापन
विज्ञापन

342 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0