google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

गंगा विलास क्रूज को PM ने दिखाई हरी झंडी, बोले-जहां से गुजरेगा तैयार करेगा विकास की नई लाइट


नई दिल्ली, 13 जनवरी 2023 : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शुक्रवार यानी आज वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में दुनिया के सबसे लंबे रिवर क्रूज 'एमवी गंगा विलास' और टेंट सिटी के उद्घाटन कार्यक्रम में शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने उत्तर प्रदेश के वाराणसी और असम के डिब्रूगढ़ के बीच दुनिया के सबसे लंबे रिवर क्रूज एमवी गंगा विलास को हरी झंडी दिखाई। इसके बाद प्रधानमंत्री ने हल्दिया मल्टी मॉडल टर्मिनल और उत्तर प्रदेश और बिहार की सामुदायिक जेटी का उद्घाटन किया। इसके साथ ही उन्होंने गुवाहाटी में पांडु टर्मिनल में एक जहाज मरम्मत सुविधा और एक एलिवेटेड रोड का लोकार्पण किया।

''क्रूज जहां से भी गुजरेगा, विकास की नई लाइट तैयार करेगा''

एमवी गंगा विलास क्रूज शिप का शुभारंभ करने के बाद पीएम मोदी ने कहा कि ये क्रूज जहां से भी गुजरेगा, वहां पर विकास की नई लाइट तैयार करेगा। उन्होंने कहा कि क्रूज टूरिज्म के लिए ऐसी ही व्यवस्थाएं हम देशभर की नदी जलमार्गों में तैयार कर रहे हैं।

पीएम मोदी के संबोधन की बड़ी बातें

ये गंगा विलास क्रूज उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल, बांग्लादेश और असम की यात्रा के दौरान हर तरह की सुविधा मुहैया कराएगा। ये क्रूज यात्रा एक साथ अनेक नए अनुभव लेकर आने वाली है।

ये गंगा विलास क्रूज 25 अलग-अलग नदियों से होकर गुजरेगा और जो लोग भारत के समृद्ध खान-पान का अनुभव लेना चाहते हैं, उनके लिए भी ये बेहतरीन अवसर है। यानी भारत की विरासत और आधुनिकता का अद्भुत संगम हमें इस यात्रा में देखने को मिलेगा।

2014 में सिर्फ 5 राष्ट्रीय जलमार्ग भारत में थे, आज 24 राज्यों में 111 राष्ट्रीय जलमार्गों को विकसित करने का काम हो रहा है। इनमें से लगभग दो दर्जन जलमार्गों पर सेवाएं चल रही हैं।

क्रूज़ टूरिज्म का ये नया दौर इस क्षेत्र में हमारे युवा साथियों को रोजगार-स्वरोजगार के नए अवसर देगा। विदेशी पर्यटकों के लिए तो ये आकर्षण होगा ही, देश के भी जो पर्यटक पहले ऐसे अनुभवों के लिए विदेश जाते थे… वो भी अब पूर्वी-उत्तर पूर्वी भारत का रुख कर पाएंगे। काशी में गंगा पार बनी अद्भुत टेंट सिटी से वहां आने वाले और रहने का एक और बड़ा कारण देश-दुनिया के पर्यटकों-श्रद्धालुओं को मिला है।

दो राज्यों के सीएम कार्यक्रम में हुए शामिल

उद्घाटन कार्यक्रम में बंदरगाह, नौवहन और जलमार्ग मंत्री सर्बानंद सोनोवाल, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव और असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा मौजूद हैं। प्रधानमंत्री इस कार्यक्रम में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए जुड़े हुए हैं।

व्यापार का खुलेगा रास्ता

इस मौके पर केंद्रीय मंत्री स्रर्वानंद सोनोवाल ने कहा कि आज का दिन दुनिया की रिवर क्रूज के इतिहास में लिखा जाएगा, क्योंकि ये दुनिया का सबसे लंबा सफर होगा। यह उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल, बांग्लादेश से होकर डिब्रूगढ़ तक जाएगा। उन्होंने कहा कि इस सफर के जरिए सिर्फ पर्यटन का ही रास्ता नहीं, बल्कि व्यापार का भी रास्ता खुलेगा।

बिहार में पर्यटकों का किया जाएगा पारंपरिक स्वागत- तेजस्वी यादव

बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने कहा कि रिवर क्रूज एमवी गंगा विलास राज्य के बक्सर, छपरा, पटना, मुंगेर, सुल्तानगंज और कहलगांव का दौरा करेगा। प्रत्येक बंदरगाह पर पर्यटकों का पारंपरिक स्वागत किया जाएगा और ऐतिहासिक स्थलों की सैर कराई जाएगी।

काशी एक नई पहचान के साथ आगे बढ़ रही है- योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पिछले तीन दिनों में एमवी गंगा विलास क्रूज के पर्यटकों ने वाराणसी और आसपास के स्थानों का दौरा किया और संस्कृति का अनुभव किया। पीएम आज राज्य में 5 नए घाटों का उद्घाटन करेंगे। काशी आज एक नई पहचान के साथ आगे बढ़ रही है।

असम के मुख्यमंत्री ने पीएम मोदी को दिया धन्यवाद

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा, ''मैं पीएम नरेंद्र मोदी को धन्यवाद देना चाहता हूं, क्योंकि आज से जो रिवर क्रूज शुरू हो रहा है, वह काशी को असम से भी जोड़ रहा है। इस क्रूज पर आने वाले यात्रियों को मां कामाख्या मंदिर, काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान और अन्य स्थानों पर जाने का अवसर मिलेगा।''

एमवी गंगा विलास क्रूज से जुड़ी 10 बड़ी बातें

एमवी गंगा विलास 51 दिनों में भारत के पांच राज्यों और बांग्लादेश के कुछ हिस्सों से होकर 3,200 किलोमीटर की यात्रा करेगा। यह उत्तर प्रदेश के वाराणसी से अपनी यात्रा शुरू करेगी और बांग्लादेश होते हुए असम के डिब्रूगढ़ पहुंचेगी।

  1. तीन डेक वाला यह जहाज 62 मीटर चौड़ा और 12 मीटर चौड़ा है।

  2. राष्ट्रीय जलमार्ग 1 (NW1) को जोड़ने के अलावा, जिसमें ब्रह्मपुत्र पर गंगा और राष्ट्रीय जलमार्ग 2 (NW2) शामिल हैं, क्रूज 27 नदी प्रणालियों को पार करेगा।

  3. इसमें सभी लक्जरी सुविधाओं के साथ 36 पर्यटकों की क्षमता वाले 18 सुइट हैं। यूपी पर्यटन विभाग के एक अधिकारी के अनुसार, सुइट्स में सुखदायक अंदरूनी भाग हैं, जो फ्रेंच बालकनी, एलईडी टीवी, तिजोरियां, स्मोक डिटेक्टर और कन्वर्टिबल बेड जैसी कई सुविधाओं से सुसज्जित हैं।

  4. क्रूज शिप में मुख्य डेक पर एक 40-सीटर रेस्तरां, एक स्पा और एक सन डेक भी है। ऊपरी डेक में एक बार है।

  5. विश्व धरोहर स्थलों, राष्ट्रीय उद्यानों, नदी घाटों, और बिहार में पटना, झारखंड में साहिबगंज, पश्चिम बंगाल में कोलकाता, बांग्लादेश में ढाका और असम में गुवाहाटी जैसे प्रमुख शहरों सहित 50 पर्यटन स्थलों की यात्रा के साथ 51 दिनों की क्रूज की योजना बनाई गई है।

  6. सोनोवाल ने कहा कि यह यात्रा विदेशी पर्यटकों को भारत और बांग्लादेश की कला, संस्कृति, इतिहास और आध्यात्मिकता की अनुभवात्मक यात्रा शुरू करने का अवसर देगी।

  7. पहली यात्रा में स्विट्ज़रलैंड के 32 पर्यटक यात्रा कर रहे हैं।

  8. क्रूज को 6 जनवरी को वाराणसी पहुंचना था, लेकिन मौसम की स्थिति और खराब दृश्यता के कारण यह 8 जनवरी को वाराणसी से 65 किमी दूर गाजीपुर पहुंच गया।

  9. पर्यटकों को गाजीपुर में लॉर्ड कार्नवालिस की समाधि, दशाश्वमेध घाट पर गंगा आरती, और नव पुनर्निर्मित काशी विश्वनाथ गलियारे में ले जाया गया।

3 views0 comments

Bình luận


bottom of page