google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

बरसात के आगे नहीं टिक सका बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे, उद्घाटन के पांचवें दिन ही धंसा


लखनऊ, 21 जुलाई 2022 : बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के निर्माण की हकीकत लोकार्पण के पांच दिन बाद ही सामने आ गई। बुधवार को तेज बारिश के बाद जालौन-छिरिया सलेमपुर के पास मिट्टी कटान से एक्सप्रेसवे की एक लेन का एक हिस्सा धंस गया। इसके साथ ही कई जगह कट प्वाइंट पर पानी के तेज बहाव में एक्सप्रेसवे धंसा हुआ पाया गया। हालांकि निर्माणी संस्था यूपीडा ने जानकारी होते ही एक्सप्रेसवे के सुधार का काम शुरू करा दिया है।

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ड्रीम प्रोजेक्ट बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का निर्माण सबसे तेज गति से कराया गया है। बीती 16 जुलाई को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जालौन कैथरी टोल प्लाजा के पास आयोजित कार्यक्रम में बटन दबाकर बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का लोकार्पण किया था। यह एक्सप्रेस वे चित्रकूट से शुरू होकर इटावा में दिल्ली हाईवे से जोड़ा गया है। 296 किलोमीटर के लंबे इस एक्सप्रेस वे को महज 28 माह में बनाने का दावा किया है।


एक्सप्रेस वे का शुभारंभ होने के बाद वाहनों की आवाजाही भी तेज हो गई है। हालांकि अभी एक्सप्रेसवे निर्माण में काफी काम बाकी हैं। बीते दिवस 20 जुलाई को हुई तेज बारिश में लोकार्पण के पांचवें दिन ही एक्सप्रेसवे जगह जगह धंस गया।

देर रात तेज बारिश होने के बाद जालौन- छिरिया के समीप 11 किलो मीटर एक्सप्रेसवे का काफी हिस्सा धंसा पाया गया। चित्रकूट की ओर खनुआ गांव के कई स्थानों पर बारिश के कारण मिट्टी की कटान होने से एक्सप्रेसवे धंस गया है। यूपीडा के अधिशाषी अभियंता चंद्र भूषण ने बताया कि बारिश में पानी के तेज बहाव के कारण मिट्टी कटान की समस्या आई है। टीम को भेजकर एक्सप्रेसवे के धंसे हिस्से को दुरुस्त कराया जा रहा है।


0 views0 comments

Kommentare


bottom of page