google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

कोविड काल में भी माइक्रो फाइनेंस उद्योग में 18 फीसदी की वृद्धि



कोविड की चुनौतियों के बीच भी देश में माइक्रोफाइनेंस उद्योग की विकास दर ने बढ़त दर्ज की है। भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (सिडबी) और इक्विफैक्स के तिमाही प्रकाशन "माइक्रोफाइनेंस पल्स" ने सालाना दर के हिसाब से माइक्रोफाइनेंस उद्योग के कारोबार में 18 फीसदी वृद्धि का खुलासा किया है।


रिपोर्ट के मुताबिक माइक्रोफाइनेंस का कर्ज पोर्टफोलियो बीते साल के मुकाबले 18 फीसदी बढ़कर इस साल 31 मार्च को 249277 करोड़ रुपये हो गया है। इस उद्योग ने अकेले इस साल के पहले तीन महीनों जनवरी, फरवरी व मार्च में ही 93100 करोड़ रुपये के कर्ज बांटे हैं।


रिपोर्ट पेश होने के मौके पर सिडबी के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक, श्री सिवसुब्रमणियन रमण ने कहा कि कोविड -19 संकट के बावजूद, माइक्रोफाइनेंस उद्योग ने 18 फीसदी की वृद्धि हासिल की है और इस साल के पहले तीन महीनों में कर्ज का वितरण बीते साल के मुकाबले 26 फीसदी ज्यादा रहा है।


प्रबंध निदेशक, इक्विफैक्स क्रेडिट इंफॉर्मेशन सर्विसेज लिमिटेड और कंट्री लीडर, इक्विफैक्स इंडिया और एमईए श्री के.एम. नानैया ने कहा, कि इस रिपोर्ट के संबंध में सिडबी के साथ साझेदारी करके खुशी हो रही है। कोविड -19 और तालाबंदी की चुनौतियों के मद्देनजर माइक्रोफाइनेंस क्षेत्र का विकास बेहतर रहा है।


टीम स्टेट टुडे


विज्ञापन


14 views0 comments

Comments


bottom of page