google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

ठग संजय शेरपुरिया की कंपनियों का इतिहास खंगाल रही एसटीएफ


लखनऊ, 16 मई 2023 : ठग संजय राय शेरपुरिया के एनजीओ व उसकी कंपनियों का इतिहास भी खंगाला जा रहा है। एसटीएफ पता लगाने का प्रयास कर रही है कि शेरपुरिया की एनजीओ व कंपनियों से पूर्व में कौन-कौन अधिकारी जुड़े रहे हैं। एसटीएफ ने इसके लिए रजिस्ट्रार आफ कंपनीज से ब्योरा मांगा है।

शेरपुरिया के विरुद्ध लखनऊ के विभूतिखंड थाने में दर्ज मुकदमे की विवेचना अब एसटीएफ ने आरंभ की है। शेरपुरिया के एनजीओ यूथ रूरल एंटरप्रेन्योर फाउंडेशन से कई पूर्व आइएएस व आइपीएस समेत अन्य संवर्ग के अधिकारी जुड़े रहे हैं।

यूपी से लेकर गुजरात तक फैला नेटवर्क

शेरपुरिया की कंपनियां कांडला एनर्जी एंड केमिकल लिमिटेड कंपनी, कच्छ इंटरप्राइजेज प्राइवेट लिमिटेड, काशी फर्म फ्रेश प्राइवेट लिमिटेड, कांडला इंटरप्राइज प्राइवेट लिमिटेड व राय कारपोरेशन प्राइवेट लिमिटेड भी सामने आ चुकी हैं, जिनके जरिए उसने उत्तर प्रदेश व गुजरात से लेकर विदेश तक अपना नेटवर्क फैला रखा था।

यह पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है कि पूर्व में जुड़े रहे अफसरों ने किन कारणों से शेरपुरिया से किनारा किया था और उनके जुड़े रहने के दौरान कंपनियों के जरिए निवेश व लेनदेन किन प्रोजेक्ट में हुआ था। शेरपुरिया की एनजीओ व कंपनियों से वर्तमान में जुड़े रहे विभिन्न संवर्ग के अधिकारियों व अन्य लोगों की भूमिका भी जांच के घेरे में है।

ईडी कर रही जांच

गुजरात के एक वरिष्ठ आइपीएस अधिकारी (अब सेवानिवृत्त) का भी शेरपुरिया से जुड़ाव रहा है, उनके बेटे के शेरपुरिया की एक कंपनी में शामिल होने की बात भी सामने आई है। दूसरी ओर दिल्ली ईडी भी शेरपुरिया व उसके करीबी एजेंट काशिफ के विरुद्ध जांच कर रही है। ईडी ने यूपी पुलिस व एसटीएफ से कई सूचनाएं मांगी हैं।

दिल्ली के कारोबारी गौरव डालमिया व शेरपुरिया के बीच हुई डील को लेकर भी छानबीन की जा रही है। शेरपुरिया ने गौरव डालमिया के विरुद्ध चल रही ईडी की जांच को खत्म कराने का दावा कर उससे डील की थी। ईडी की जांच में कारोबारी द्वारा शेरपुरिया के एनजीओ के खाते में छह करोड़ रुपये जमा कराने का तथ्य सामने आया था।

1 view0 comments

Comments


bottom of page