google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

मंदिर में विस्फोीट के मामले में पुजारी हिरासत में, भड़के संतों ने अयोध्या कोतवाली घेरी


अयोध्या, 18 अगस्त 2022 : कब्जेदारी के विवाद को लेकर मंदिर में हुए विस्फोट का मामला गंभीर हो गया है। मंदिर के महंत की शिकायत पर पुजारी रामशंकर दास को हिरासत में लिए जाने से अयोध्या के संत भड़क गए। बड़ी संख्या में विभिन्न मंदिरों के संतों ने अयोध्या कोतवाली का घेराव शुरू कर दिया।

संतों का कहना है कि मंदिर पर भू माफिया की है नजर। कूटरचित घटना के अंतर्गत पुजारी को फंसाने का प्रयास किया जा रहा है। रामवल्लभा कुंज के अधिकारी राजकुमार दास ने कहा कि करीब 20 दिन पहले पुजारी ने पुलिस को इस बारे में सूचना दी थी, लेकिन कार्रवाई नहीं हुई।

मणिरामदास की छावनी के महंत व श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास के उत्तराधिकारी महंत कमल नयन दास भी कोतवाली पहुंचे। लक्ष्मण किलाधीश मैथिली रमण शरण, मंगल भवन पीठाधीश्वर रामभूषण कृपालु ,जानकी घाट मंदिर के महंत जनमेजय शरण, महंत शशिकांत दास, महंत मिथिलेश नंदिनी शरण समेत बड़ी संख्या में महंत कोतवाली में उपस्थित हैं।

विधायक वेदप्रकाश गुप्त भी सूचना पाकर कोतवाली पहुंचे। कोतवाल अश्विनी पांडेय ने बताया कि इस मामले में पुजारी रामशंकर दास की तहरीर पर भी देवरामदास वेदांती सहित सात लोगों पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। प्राथमिकी दर्ज होने के बाद संत कोतवाली से वापस लौटे। संतों ने नरसिंह मंदिर के महंत से भी भेंट की।

गुरुवार की भोर में रामनगरी के नरसिंह मंदिर की छत पर दो बार हुए तेज धमाके ने पुलिस की नींद उड़ा दी। धमाके की आवाज काफी दूर तक सुनाई पड़ी, जिससे लोग भयभीत हो उठे। पुलिस के उच्चाधिकारियों ने घटनास्थल पर पहुंच जांच पड़ताल की। पुलिस का कहना है कि घटनास्थल पर हुआ धमाका किसी गंभीर विस्फोटक का नहीं था। यह पटाखे जैसी किसी चीज का धमाका रहा होगा।

मौके से कागज के कुछ जले हुए टुकड़े पुलिस को मिले हैं जिन्हें जांच के लिए सुरक्षित कर लिया गया है। रायगंज स्थित नरसिंह मंदिर में धमाका हुआ उसका कब्जेदारी को लेकर पुराना विवाद भी चल रहा है। यह मंदिर रामनगरी के यलो जोन में स्थित है। इस घटना के बाद से संतों में भी भय बढ़ गया है।

क्षेत्राधिकारी अयोध्या राजेश तिवारी ने बताया कि महंत रामशरण दास ने बताया कि उनका शिष्य रामशंकर दास मंदिर पर कब्जा करना चाहता है। मंदिर परिसर में रह रहे कुछ लोगों को निकाल के षडयंत्र के क्रम में उसी ने यह कृत्य किया है। रामशंकर को हिरासत में ले लिया गया है। कोतवाल अयोध्या अश्विनी पांडेय ने बताया कि धमाका बम का होने की बात जांच में निराधार मिली है। मंदिर का कुछ विवाद पूर्व से चल रहा है। प्रकरण की जांच अभी जारी है।

5 views0 comments

Comentarios


bottom of page