google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

जिस शहर को लक्ष्मण ने बसाया, वहां लगता है रावण दरबार


लखनऊ, 24 अक्टूबर 2023 : गंगा जमुनी तहजीब को अपने आंचल में छिपाए इस शहर में पहले आप की सदियों पुरानी तहजीब वर्तमान में भी मुस्कुराती नजर आती है। मंगलवार को दशहरे के दिन घमंड और अन्याय के प्रतीक दशानन रावण का अंत होता है। श्रीराम के छोटे भ्राता लक्ष्मण द्वारा बसाए इस शहर में रावण का दरबार भी है।

चौक के रानी कटरा स्थित चारोधाम मंदिर परिसर में स्थापित रावण दरबार में दशहरे के दिन विष्णु त्रिपाठी ‘लंकेश’ मंदिर को सजाकर पूजन करते थे। पिछले साल उनके निधन के बाद इस बार उनकी याद में मंदिर परिसर में आयोजन किया गया।

चारोधाम मंदिर में मौजूद है दरबार

रानी कटरा मोहल्ले स्थापित चारों धाम मंदिर में रावण का दरबार मौजूद है। चारों धाम मंदिर का निर्माण कुंदन लाल कुंज बिहारी लाल ठेकेदार ने कराया था। उनका यह मानना था कि शहर के गरीब लोग चाहते हुए भी चारों धाम की यात्रा धन के अभाव में नहीं कर पाते हैं। इसी कारण उन्होंने इस मंदिर का निर्माण कराया।

पुराने लखनऊ में यह चारों धाम मंदिर छोटी काशी के नाम से प्रसिद्ध है। दरबार में दोनों तरफ जहां रावण के मंत्री बैठे दिखाई देते हैं, वहीं रावण दरबार में ऊपर की ओर विराजमान है।

1978 से कर रहे थे रावण का रोल

विष्णु त्रिपाठी ‘लंकेश’ को श्रद्धांजलि के साथ ही चौक के श्री पब्लिक बाल रामलीला समिति द्वारा चौक के लोहिया पार्क में मंचन शुरू हुआ। वह 1978 से 2021 तक लगातार वह रावण का किरदार निभाते रहे हैं। पिछली बार स्वास्थ्य कारणों से किरदार नहीं निभाया और उनका निधन भी हो गया। पत्नी रेनू त्रिपाठी ने बताया कि 2009 से मैं उनके साथ मंदोदरी का किरदार निभा रही थी।

रावण दरबार में किया गया पूजन

श्री पब्लिक बाल रामलीला समिति द्वारा पार्षद अनुराग मिश्रा के संयोजन में रावण दरबार में पूजन किया गया। पूजन के दौरान लंकेश को श्रद्धांजलि दी गई। श्री पब्लिक बाल रामलीला समिति के महामंत्री डॉ. राजकुमार वर्मा ने श्लोक पढ़े और पूजन कराया।

वरिष्ठ लेखक व निर्देशक अमित दीक्षित ‘राम जी’ के संचालन में संगीतमय नाट्य प्रस्तुति में प्रभु श्री राम के आदर्श व चरित्र का वर्णन किया गया। आयोजन में ऐशबाग रामलीला समिति के महामंत्री आदित्य द्विवेदी मुख्य अतिथि थे।

यह भी रहे मौजूद

इस अवसर पर शुभ संस्कार समिति के अध्यक्ष लक्ष्मीकांत पांडेय, होलीकोत्सव समिति के अध्यक्ष गोविंद शर्मा, सुरेंद्र मोहन शुक्ला, मंदिर प्रबंधक आशीष अग्रवाल, ऋद्धि किशोर गौड़, श्याम नारायण, दिलीप मिश्र, सुनील मिश्रा, मनीष रस्तोगी, रेनू त्रिपाठी, आशीष मिश्रा, सुनील शुक्ला, अवनीश दीक्षित समेत कई लोग मौजूद रहे।

1 view0 comments

Comments


bottom of page