सरदार पटेल की भूमि पर केंद्रीय मंत्री प्रहलाद ने चखा आजादी का अमृत



केंद्रीय संस्कृति एवं पर्यटन राज्यमंत्री (स्वतन्त्र प्रभार) प्रहलाद सिंह पटेल जी ने सोमवार को 75 किलोमीटर की दांडी यात्रा नाडियाद में पूरी की। सुबह साढ़े सात बजे केंद्रीय मंत्री ने मातर के सर्किट हाउस में गांधी जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया और सांसद देवू सिंह चौहान व 17 राज्यों से आये पदयात्रियों के साथ पदयात्रा शुरू की।


बता दें कि , 12 मार्च को माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने आजादी की 75वीं वर्षगांठ को समर्पित ‘‘आजादी का अमृत महोत्सव’’ का शुभारंभ किया था। इस मौके पर महात्मा गांधी जी की दांडी यात्रा की तर्ज पर साबरमती आश्रम से दांडी तक पदयात्रा को हरी झंडी दिखाई थी और केंद्रीय मंत्री श्री प्रहलाद सिंह पटेल के नेतृत्व में 81 लोगों को रवाना किया था। तय कार्यक्रम के अनुसार केंद्रीय मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने 75 किलोमीटर नाडियाद तक पदयात्रा पूरी की।



पिछले चार दिनों में दांडी यात्रा से हज़ारों लोग जुड़े और पदयात्रा में शामिल हुए। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह, गगुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी , सांसद देवू सिंह चौहान, विधायक अर्जुन सिंह चौहान के अलावा कई गणमान्य यात्रा में शामिल हुए।


चौथे दिन 24 किलोमीटर की पदयात्रा के दौरान सोखड़ा, संधाना, पलाना , दावड़ा, दभन में स्थानीय लोगों ने जगह-जगह पदयात्रियों का स्वागत किया, और कड़ी धूप में पदयात्रियों को राहत देने के लिए पानी, जूस, कोल्ड ड्रिंक्स, छाज आदि वितरीत किए। दूर तक पदयात्रियों के हुज़ूम को देखकर ऐसा लग रहा था जैसे सड़क पर लोगों का सैलाब उमड़ आया हो। लोग हज़ारों की संख्या में इकठ्ठे होकर पदयात्रियों का स्वागत कर रहे थे और भरी दोपहर में उनके लगातार चलते रहने के जज़्बे को सलाम कर रहे थे।


केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल पदयात्रियों के साथ भोजन के लिए दभन में रुके और कुछ देर विश्राम करने के बाद फिर पदयात्रा शुरू की, यात्रा के दौरान बीजेपी जिला कार्यलय में श्री पटेल का फूलों से स्वागत किया गया, वहां से आगे बढ़ने के बाद मेथोडिस्ट चर्च में श्री पटेल का भव्य स्वागत सत्कार किया गया। उसके बाद मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने सरदार पटेल भवन पर केंद्रीय मंत्री श्री पटेल का स्वागत किया और पदयात्रा में शामिल हुए और नाडियाद के संतराम मंदिर पहुंचे और दर्शन किये और इंडिया2@75 प्रदर्शनी का अवलोकन किया।


संतराम मंदिर के प्रांगण में भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें खूबसूरत कार्यक्रमों की प्रस्तुतियां पेश की गईं। मंच पर केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल और मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने गांधी जी को सूत की माला पहनाई और पुष्पांजलि दी।



पटेल ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि मैं बहुत भाग्यशाली हूं कि दांडी मार्ग पर चला और सरदार पटेल की जन्मभूमि पर 75 किलोमीटर पूरे किए। उन्होंने कहा कि मैं गुजरात सरकार यहाँ के लोगों का धन्यवाद देता हूँ जिन्होंने मुझे और सभी पदयात्रियों को इतना प्यार और सम्मान दिया। हमने 75 वर्षों में बहुत तरक्की की है लेकिन जो लोग छूट गए हैं उन्हें साथ लेने की जिम्मेदारी अब वर्त्तमान पीढ़ी की है जिसे आजादी की शताब्दी को स्वर्णिम बनाना है। हमें संकल्प के साथ आगे बढ़ना होगा, और संकल्प में विकल्प नहीं होता, अगर संकल्प में विकल्प सोचा गया तो महान कार्य रुक जाएंगे। उन्होंने दांडी तक जाने वाले पदयात्रियों को शुभकामनाएं दीं।



मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने केंद्रीय मंत्री को बधाई दी कि उन्होंने पवित्र दांडी यात्रा के 75 किलोमीटर पवित्र धरती पर पूरे किए। उन्होंने कहा कि गुजरात की धरती बहुत भाग्यशाली है जो यहां से एक बार फिर इतिहास बनने जा रहा है जो यहीं से आजादी के 75 वर्ष का महोत्सव का शुभारंभ हुआ है।



इस पवित्र पदयात्रा में देशभर के 17 राज्यों से आकर लोगों ने भागीदारी दी, इनमें मध्यप्रदेश से 44, महाराष्ट्र से 4, केरल से 1, तमिलनाडु से 1, मणिपुर से 2, राजस्थान से 7, दिल्ली से 5, उत्तरप्रदेश से 4, झारखंड से 1 उत्तराखंड से 1, बिहार से 6, पंजाब से 1, पश्चिम बंगाल से 1, ओडिशा से 1, हिमाचल प्रदेश से 1, हरियाणा से 1, गुजरात से 81 लोगों का ग्रुप, और नेपाल से भी 2 पदयात्री शामिल हुए।


टीम स्टेट टुडे


विज्ञापन
विज्ञापन