google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खोला सरकार के सफलता के चार साल का राज़, नाम सुनकर हर चेहरा मुस्कुराया



उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की पूर्ण बहुमत की सरकार 2017 में किसी करिश्मे से कम नहीं था बावजूद इसके कि 2014 के आम चुनाव में बीजेपी और उसके सहयोगी दलों ने यूपी की 80 में से 73 लोकसभा सीटें जीतीं थी। 2017 विधानसभा चुनाव में बीजेपी के लिए माहौल होना और चुनाव जीत कर पूर्ण बहुमत की सरकार बनाना दो अलग अलग बाते हैं। ऐसा इसलिए भी क्योंकि समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने जिस तरह व्यक्तिपरक सियासत को 2002 के यूपी विधानसभा चुनाव के बाद चरम पर ले जाना शुरु किया उसका परिणाम 2007 में पूर्ण बहुमत के साथ मायावती और 2012 में पूर्ण बहुमत के साथ अखिलेश का मुख्यमंत्री के रुप में सामने आया। बीजेपी का आश्चर्य इसलिए भी क्योंकि कैडर बेस पार्टी के इतने नेता थे कि पार्टी अपने ही वजन से रसातल में थी। सिर्फ इतना भर नहीं तत्कालीन बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य की संगठनात्मक क्षमता हो या डॉ. दिनेश शर्मा जैसे सर्वसुलभ व्यक्तित्व का आभामंडल, राजनाथ सिंह के दांव हों, मनोज सिन्हा की पकड़ हो या कलराज मिश्र की गुगली। पूर्ण बहुमत मिलने के बाद भी इन सबके पार एक चेहरे की तलाश बची हुई थी जिसे यूपी की कमान सौंपी जा सके।


महंत योगी आदित्यनाथ। ये नाम उस समय तक चर्चा से बाहर ही था जब तक कमान सौंप नहीं दी गई। 19 मार्च 2017 को जब महंत योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री की कमान संभाली तो फिर जैसे बीजेपी का माहौल और सरकार के मायने दोनों ही बदल गए।



उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के चार साल पूरे हो गए। सरकार की उपलब्धियां भारतीय जनता पार्टी के लिए उत्सव का मौका हैं और बीजेपी समारोह के रूप में मना भी रही है।


सीएम योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में अवध शिल्प ग्राम, शहीद पथ पर सरकार के चार वर्ष पूरा होने को लेकर लगाई गई प्रदर्शनी का शुभारंभ किया। उनके साथ डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा व संसदीय कार्य मंत्री सुरेश कुमार खन्ना के साथ मोहनलालगंज से सांसद कौशल किशोर और भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह भी मौजूद थे।


इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी ने निराश्रित महिलाओं को पेंशन योजना का प्रमाण पत्र दिया। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार का चार वर्ष का कार्यकाल रिफॉर्म का, परफॉर्म का और ट्रांसफॉर्म का रहा है। इन चार वर्ष में हमने इसे बीमारू प्रदेश से समर्थ प्रदेश की ओर अग्रसर किया है। उन्होंने कहा कि आज से चार वर्ष पहले हमने प्रदेश की सत्ता संभाली थी। उस समय हमने भाजपा के लोक कल्याण पत्र को पवित्र गीता मानकर अपना काम प्रारंभ किया।


मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार के भाजपा के लोक कल्याण पत्र के आधार पर काम करने का परिणाम सभी के सामने है। प्रदेश ने हर क्षेत्र में बड़ी तरक्की की है। प्रदेश में बड़ा निवेश आ रहा है और यह रोजगार के बड़े केंद्र के रूप में स्थापित हो गया है। सरकार ने लोक कल्याण संकल्प पत्र को गीता मानकर उस पर अमल किया और उसे हकीकत में बदला गया। लोगों के मन में अब एक नई धारणा बनी है कि प्रदेश अब पहले वाला उत्तर प्रदेश नहीं रहा है। उन्होंने कहा कि 2017 से पहले तो यह तय कर पाना मुश्किल था कि यह सड़क है या खेत खलिहान है। चार वर्ष का प्रदेश सरकार का कार्यकाल रिफार्म, परफार्म और ट्रांसफार्म का रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में अपराध पर प्रभावी नियंत्रण के लिए 17 रेंजों में जल्द ही विधि विज्ञान प्रयोगशालाएं स्थापित हो रही हैं।



प्रदेश सरकार आज उड़ान योजना के तहत एयर कनेक्टविटी को बढ़ाने का काम कर रही है। प्रदेश में तीन अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट हैं जबकि एशिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट ग्रेटर नोएडा के जेवर में बन रहा है। उत्तर प्रदेश में आप कहीं से भी घुसेंगे रात में उत्तर प्रदेश का हर गांव जगमगाता हुआ दिखाई देता है। यह नए उत्तर प्रदेश की नई तस्वीर है। यह बदलता हुआ उत्तर प्रदेश है। आज राज्य में 17 नए एयरपोर्ट का निर्माण हो रहा है।

अंधेरे को उजाले में बदल दिया


डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने इस मौके पर कहा कि पिछली सरकार हमें गड्ढा देकर गई तो हमने चमचमाती सड़क बनाई। आप हमें अंधेरा देकर गए थे हमने उजाला दिया है। उन्होंने कहा कि हिन्दुस्तान को जिस प्रकार के प्रधानमंत्री की जरूरत थी वैसे नरेंद्र मोदी मिले। उसी तरह उत्तर प्रदेश को जैसे मुख्यमंत्री की आवश्यकता थी वैसे ही हमें योगी आदित्यनाथ जी मिले। इनकी बड़ी सोच से प्रदेश लगातार विकास की राह पर है।


छात्र हो या सरकार नकल नहीं मारी


प्रदेश के डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि इन चार वर्षों में उत्तर प्रदेश सरकार बिना किसी आरोप के टीम भावना के साथ एक ऐतिहासिक काम करने में सफल रही। पिछले 15 वर्ष में 48 माध्यमिक विद्यालय बने थे लेकिन योगी सरकार में 251 माध्यमिक विद्यालय बनाए गए।


प्रदेश में अब नकल विहीन परीक्षा कराई जा रही है। सीसीटीवी से परीक्षाओं की मॉनिटरिंग की जा रही है। कानून-व्यवस्था के साथ ही सड़क तथा कनेक्टिविटी बेहतर होने से बाहर की कंपनियां यहां निवेश कर रहीं। इतना ही नहीं चीन चीन से निकलकर कंपनियां उत्तर प्रदेश यूपी आ रहीं हैं।



प्रदेश के हर सवाल का उत्तर हैं योगी


भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि प्रदेशवासियों मोदी जी तथा योगी जी पर विश्वास करना। ऐसे लोग धरती पर कम ही पैदा होते हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने अयोध्या में भव्य श्री राम मंदिर निर्माण का भूमि पूजन किया। इस बड़े काम का बीड़ा अगर हमारी सरकार ने न उठाया होता तो ऐसा संभव न होता। उन्होंने कहा कि प्रदेश को दूसरा ऐसा मुख्यमंत्री नहीं मिलेगा जिन्होंने अपनी ईमानदारी और निष्ठा से प्रदेश को नई ऊंचाइयों पर पहुंचा दिया। महाभारत में कौरव और पांडव के बीच युद्ध के बाद जब कन्हैया से पूछा गया कि आप किसके साथ खड़े हैं तो वह बोले सत्य के साथ, वैसे ही प्रदेशवासियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ का साथ दिया।


माफिया दुखी किसान सुखी


संसदीय कार्य एवं वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने इस मौके पर कहा कि प्रदेश में पिछली सरकार में माफिया से केस वापस लिया गया, जबकि हमारी सरकार ने उनको जेल भेजा। इस सरकार का संकल्प किसान का कर्ज माफ करना था, हमने इसको पूरा किया है।



पीएम मोदी के निर्देश पर चले सीएम योगी


सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी के मार्ग निर्देशन में उत्तर प्रदेश की सरकार ने आज चार वर्ष का कार्यकाल पूरा कर लिया है। प्रदेश की 24 करोड़ जनता का अभिनंदन। आज के ही दिन उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार बनी थी। उस दिन के बाद से हमने पीछे मुड़कर नहीं देखा। पिछले चार वर्षों में उत्तर प्रदेश देश के विकास इंजन के रूप में उभरा है। हमारा लक्ष्य राज्य की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था को सकल राज्य घरेलू उत्पाद (जीएसडीपी) के संदर्भ में बनाना है।


केंद्र सरकार की सभी योजनाओं में जहां पहले उत्तर प्रदेश 23वें नंबर पर रहता था लेकिन आज अपनी कार्यनीति की वजह से पहले नंबर पर है। प्रदेश में जब अर्थव्यवस्था, निवेश अनुकूल वातावरण, प्रति व्यक्ति आय की बात आती थी तो हम प्रथम तीन स्थानों में भी नहीं टिकते थे। प्रदेश में बेरोजगारी भी ज्यादा थी। आज प्रदेश निवेश अनुकूल वातावरण बनाने में सफल रहा है। पहले की सरकारों में सोच की कमी थी जिसकी वजह से प्रदेश बीमारू हुआ था।


सीएम योगी ने कहा

  • बुंदेलखंड जहां पेयजल का संकट रहता था वहां आज प्रधानमंत्री के जल जीवन मिशन के अंतर्गत हमने हर घर जल की योजना के माध्यम से पानी की कमी को पूरा किया।

  • हर गांव को बिजली, स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करायी हैं।

  • प्रदेश सरकार ने हर गांव में बेहतर सड़कों का निर्माण कराया है।

  • प्रदेश में सिंचाई की जो 11 परियोजनाएं लागू नहीं हो सकी थीं उन्हें लागू किया गया।

  • प्रदेश के किसानों को आधुनिक नीति से जोडऩे के लिए कृषि विज्ञान केंद्र खोले हैं।

  • सरकार ने गन्ना उत्पादन को फिर से एक नए मुकाम पर पहुंचाया है। गन्ना किसानों को रिकॉर्ड भुगतान हुआ है।

  • प्रदेश में जो जीरो टॉलरेंस की नीति रही है। नतीजा डकैती, दुष्कर्म तथा भ्रष्टाचार में भारी कमी के रुप में सामने है।

  • पुलिस रिफॉर्म को लेकर काफी समय से मांग चल रही थी, जिसे सरकार ने कमिश्नरेट सिस्टम लागू कर उसे अमल में लाया।

  • पुलिस कॢमयों को मूलभूत सुविधाओं सहित अन्य कमी को पूरा किया गया।

  • प्रदेश में निवेश के लिए कोई आना नहीं चाहता था, यहां डर का माहौल था लेकिन आज प्रदेश निवेशकों की पहली पसंद बना है।

  • चार वर्षों में सभी पर्व पूरी शांति के साथ सम्पन्न हुए, चार वर्ष में कोई दंगा नहीं हुआ।

  • पहले यूपी में बेरोजगारी दर अधिक थी, लेकिन उत्तर प्रदेश अब बीमारू राज्य नहीं रहा।

  • कार्य के परिवर्तन के बाद से उत्तर प्रदेश को एक नई पहचान मिली है।

  • आत्मनिर्भरता के पथ पर तेजी से बढ़ता हुए उत्तर प्रदेश में चार वर्ष में 40 लाख परिवारों को आवास मिले हैं।

  • प्रदेश सरकार ने पूंजी निवेश की राह में आने वाली बाधाओं को चिह्नति कर सिंगल विंडो प्रणाली के माध्यम से निवेश प्रक्रियाओं को सुगम बनाया है।

  • वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण काल में विश्व स्वास्थ्य संगठन से लेकर वैश्विक मीडिया जगत तक में उत्तर प्रदेश की कोरोना संघर्ष रणनीति की सराहना की गई।

  • खाद्यान्न उत्पादन में भी प्रदेश ने बेहतर प्रदर्शन किया।

  • सॉयल हेल्थ कार्ड, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई जैसी योजनाएं प्रदेश में लागू हुई हैं।

  • प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी एवं ग्रामीण) में उत्तर प्रदेश देश में पहले स्थान पर है।

  • विश्व के सबसे बड़े अभियान स्वस्थ भारत मिशन के अंतर्गत उत्तर प्रदेश में 2.61 करोड़ से अधिक शौचालयों का निर्माण किया गया है।

  • खाद्यान्न उत्पादन में भी प्रदेश ने बेहतर प्रदर्शन किया।

  • 2017 तक कई दर्जन गांव सरकारी सुविधाओं से दूर थे। उन्हें वोटिंग का दर्जा तक नहीं था। हमने वन्य गांव को राजस्व गांवों में बदला।

  • 2017 के पहले जहां अंधेरा शुरू होता था लोग मानते थे यूपी शुरू हो गया। आज पूरे प्रदेश को बिना भेदभाव बिजली मिल रही है।

  • विंध्य के 30 हजार गांव में शुद्ध पेयजल की सुविधा। कार्यदायी संस्था दस वर्ष तक योजना के संचालन की जिम्मेदारी भी लेगी।


चार वर्ष पूर्ण होने पर बीजेपी का समारोह कार्यक्रम


भारतीय जनता पार्टी प्रदेश भर में 20 मार्च को विधानसभा क्षेत्रों में विधायक स्थानीय स्तर पर कराए विकास कार्यो का दस्तावेज प्रस्तुत करेगी।

21 मार्च को 826 ब्लाकों पर किसान मेला तथा नगर निकायों में आत्मनिर्भर संकल्प के साथ विभिन्न कार्यक्रम होंगे। 
22 को महिला सशक्तिकरण कार्यक्रम और 23 मार्च को 3051 जिला पंचायत वार्डों में युवा सम्मेलन होंगे। 
24 मार्च को प्रवासी श्रमिक, रेहड़ी, खोमचा, पटरी दुकानदारों के ब्लाक स्तर पर कार्यक्रम होगें
25-26 मार्च को प्रत्येक बूथ पर प्रत्येक घर तक संपर्क किया जाएगा।

टीम स्टेट टुडे


विज्ञापन
विज्ञापन

Comments


bottom of page